न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पश्चिम बंगाल में हिंसा को लेकर चुनाव आयोग का निर्णय, अब 16 तक ही प्रचार, एक दिन घटी समय सीमा

अब 16 मई की रात 10 बजे तक पार्टियां और उनके प्रत्याशी चुनाव प्रचार कर पायेंगे, जबकि पहले उन्हें कैंपेन करने के लिए 17 मई तक की अनुमति थी.

128

Kolkata : चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल के नौ संसदीय क्षेत्रों में सभी राजनीतिक दलों के चुनाव प्रचार की समय सीमा में एक दिन की कटौती कर दी है.  अब 16 मई की रात 10 बजे तक पार्टियां और उनके प्रत्याशी चुनाव प्रचार कर पायेंगे, जबकि पहले उन्हें कैंपेन करने के लिए 17 मई तक की अनुमति थी.

बता दें कि आम चुनाव के तहत सातवें और आखिरी चरण का मतदान 19 मई को है. बता दें कि पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में मंगलवार को हुई हिंसक झड़पों के मद्देनजर चुनाव आयोग (ईसी) ने यह निर्णय लि‍या है.

सूत्रों के अनुसार चुनाव आयोग कोलकाता में समाज सुधारक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़े जाने की घटना से खासा नाराज है.  कहा जा रहा है कि ऐसा पहली बार हुआ है, जब चुनाव आयोग ने इस संबंध में संविधान का अनुच्छेद 324 लागू किया है.

एएनआई के अनुसार आयेाग द्वारा लगाई गयी रोक प बंगाल के नौ संसदीय क्षेत्रों में प्रभावी रहेगी.  इनमें दमदम, बारासात, बसीरहाट, जयनगर, माथुरापुर, जाधवपुर, डायमंड हार्बर, दश्रिणी और उत्तरी कोलकाता शामिल हैं, जहां कल रात 10 बजे से 19 मई तक कोई चुनाव प्रचार नहीं किया जा सकेगा.

इसे भी पढ़ें – मोदी को रोकने की कवायद, सोनिया ने विपक्षी दलों के नेताओं को फोन किया, 22-24 मई को दिल्ली बुलाया 

राजीव कुमार को गृह मंत्रालय से अटैच कर दिया गया

Related Posts

चार जजों की नियुक्ति के साथ 11 साल में पहली बार SC के जजों की संख्या 31 हुई

राष्ट्रपति द्वारा चार जजों को शपथ दिलाने के बाद 2009 के बाद पहला मौका है जब  SC  के जजों की कुल संख्या 31 हो गयी है.

आयोग के हवाले से कहा गया कि एडीजी सीआईडी, राजीव कुमार को गृह मंत्रालय से अटैच कर दिया गया है.  वह गुरुवार सुबह 10 बजे से मंत्रालय में रिपोर्ट करेंगे.  प्रिंसिपल सेक्रेट्री, गृह और स्वास्थ्य मामले (प.बंगाल सरकार) को भी चुनावी प्रक्रिया के दौरान हस्तक्षेप करने को लेकर उनके मौजूदा प्रभार से कार्यमुक्त कर दिया गया है.

इनके अलावा आयोग ने चीफ सेक्रेट्री को गृह विभाग देखने के लिए कहा है. चुनाव आयेाग ने इसी के साथ मतदान वाले क्षेत्रों में शराब व अन्य मादक पदार्थों की बिक्री पर चुनाव निपटने तक अस्थाई रोक लगा दी है.

बता दें कि कोलकाता में मंगवार शाम भाजपा चीफ अमित शाह के रोडशो के दौरान उनकी पार्टी और सीएम ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली टीएमसी के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़पें हो गयी थीं.

घटना के दौरान न केवल पत्थरबाजी और आगजनी हुई बल्कि, समाज सुधारक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा भी तोड़ दी गयी. शाह ने इस हिंसा के पीछे टीएमसी को जिम्मेदार बताया, जबकि टीएमसी का कहना है कि हमला भाजपा के गुंडों ने किया.

इसे भी पढ़ें – मोदी को रोकने की कवायद, सोनिया ने विपक्षी दलों के नेताओं को फोन किया, 22-24 मई को दिल्ली बुलाया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: