न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चुनाव आयोग की अनदेखीः छह साल से जमे हैं जिले में योजना पदाधिकारी, चुनाव कार्य में होते हैं शामिल

1,139

Akshay Kumar Jha

Ranchi: चुनाव आयोग की तरफ से ऐसे हर अधिकारियों का तबादला करने का निर्देश दिया गया है, जो पिछले तीन साल से एक ही जगह जमे हैं. शर्त यह है कि वो चुनाव कार्य में शामिल होने चाहिए. लिहाजा बड़े पैमाने पर राज्य भर में तबदाले का दौर शुरू है. लेकिन योजना विभाग के अधिकारियों की मौज है. पिछले करीब छह सालों से वो एक ही जिले में जमे हैं, उन्हें हिलाने वाला कोई नहीं. उनका तबादला ना करने के पीछे दलील यह दी जाती है कि वो योजना संबंधी काम में अपनी भूमिका निभाते हैं. चुनाव से उनका कोई संबंध नहीं है.

लेकिन सच यह है कि जिले में छह साल से जमे अधिकारियों के पास किसी ना किसी कोषांग का प्रभार होता है. वो सीधे तौर पर चुनाव के कार्यों से जुड़ते हैं. क्योंकि जिले में अधिकारियों का टोटा है और इस कमी को दूर करने के लिए योजना विभाग के अधिकारियों को चुनाव कार्य में शामिल किया जाता है. ऐसा एक भी योजना पदाधिकारी नहीं है, जिसने पिछले लोकसभा या विधानसभा चुनाव में अपनी भूमिका ना निभायी हो. उदाहरण के तौर पर बोकारो जिला योजना पदाधिकारी प्रियव्रत नारायण सिंह को लिया जाए तो उनके पास योजना विभाग के अलावा सामग्री कोषांग का प्रभार है. जो सीधा चुनाव कार्यों से जुड़ा है.

19 योजना पदाधिकारी छह साल से एक ही जिला में जमे

झारखंड के 24 जिलों के लिए राज्य भर में 14 ही योजना पदाधिकारी हैं. बाकी 10 जिलों में झारखंड प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को जिला योजना पदाधिकारी का प्रभार देकर काम चलाया जा रहा है. इन 24 में चार को छोड़ दें तो बाकी सभी 20 जिला योजना अधिकारी करीब छह साल से एक ही जिले में जमे हैं.

जानिए कौन-किस जिले में कितने सालों से जमे हैं-

लातेहारनिर्मल कुमार झापांच साल आठ महीने से
सिमडेगागनौरी मोचीपांच साल छह महीना
धनबादचंद्र भूषण तिवारीपांच साल नौ महीना
साहेबगंजरामनिवास प्रसाद सिंहपांच साल नौ महीना
पाकुड़रामानुज कुमार सिंहपांच साल सात महीना
देवघरराजीव रंजन सिन्हापांच साल
कोडरमाशाहिद अहमदपांच साल नौ महीना
हजारीबागशाहिद अहमदएक साल (कोडरमा के भी जिला योजना पदाधिकारी हैं)
लोहरदगामहेश भगतपांच साल 10 महीना

 

खूंटीविनय कुमारपांच साल नौ महीना

 

पूर्वी सिंहभूमअजस कुमारएक साल सात महीना
बोकारोप्रियव्रत नारायण सिंहपांच साल नौ महीना
गिरिडीहदेवेश कुमार गौतमपांच साल सात महीना
दुमकाअरुण कुमार द्विवेदीएक साल तीन महीना

 

झारखंड प्रशासनिक सेवा के पदाधिकारी जो योजना पदाधिकारी के प्रभार में हैं

सरायकेला-खरसांवासुरेश राय2013 से
जामताड़ाकृष्णनंदन मिश्र2013 से
   पलामूअरविंद कुमार2013 से
   चतरासोहेल आलम2014 से
   देवघरपरमेश्वर मरांडी2018 से
    रांचीमाधव शरण सिंह2014 से
    गुमलाअरुण कुमार सिंह2013 से

कई जिलों से जानकारी आयी है, चर्चा हो रही हैः मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी

न्यूज विंग से बात करते हुए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एल ख्यांग्ते ने कहा कि हर विभाग की समीक्षा हो रही है. कई जिलों से जिला योजना पदाधिकारी की भी लिस्ट आयी गयी है. आपके पासे इस संबंध में जो जानकारी है, वो मुझे दें. चुनाव आयोग की तरफ से होने वाले प्रेस वार्ता में चर्चा के बाद आगे की जानकारी दी जाएगी.

इसे भी पढ़ेंः आपदा प्रबंधन विभाग से 3897 ट्यूबवेल के लिए मिले 24.06 करोड़

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: