ELECTION SPECIALJharkhandJharkhand PoliticsJharkhand StoryKhas-KhabarLead NewsMain SliderNEWSRanchiTOP SLIDERTop Story

नगर निकाय चुनाव को अंतिम रूप देने में लगा निर्वाचन आयोग, Arrow Cross Mark Rubber Stamp की होगी खरीद

Ranchi: राज्य में नगर निकाय चुनावों को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग, झारखंड की तैयारियां जारी हैं. इस संबंध में जिलों के निर्वाचन अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और अन्य माध्यमों से सूचनाएं ली जा रही हैं. तैयारियों को फाइनल टच दिया जाने लगा है. इसी क्रम में आयोग ने चुनाव के लिए Arrow Cross Mark Rubber Stamp की खरीद करने की भी तैयारी की है. नगरपालिका आम निर्वाचन 2022-23 के निमित्त इसकी जरूरत उसे है. इसके लिए उसकी ओर से टेंडर भी जारी किया गया है. आयोग को करीब 3000 Arrow Cross Mark Rubber Stamp (प्लास्टिक, Polymer Arrow Cross Mark (at both ends) & Cross Section of 1.2 cm×1.2 cm and Length of bar 10CM) की जरूरत है. इसके लिए वैध GSTIN नंबर निविदा दाता के पास होना चाहिये. 4 नवंबर, 2022 तक इसके लिए आवेदन किया जा सकता है.
इसे भी पढ़ें: धनबाद के चार भूमिगत खदानों की रिपोर्ट भेजी जायेगी कोल इंडिया, फिर से खोलने की है योजना

2023 में बिना ओबीसी आरक्षण के होंगे चुनाव

राज्य में 48 नगर निकायों के चुनाव होने हैं. राज्य सरकार ने निर्णय लिया है कि वह बगैर ओबीसी को आरक्षण दिए बगैर चुनाव कराएगी. हालांकि इसे लेकर भाजपा, आजसू पार्टी सहित ओबीसी वर्ग से जुड़े संगठन विरोध में हैं. आजसू पार्टी के सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में फरियाद लेकर पहुंच चुके हैं. इन सब बातों से अलग राज्य निर्वाचन आयोग सभी चौबीस जिलों में मतदाता सूची को अंतिम रूप देने में लगा है. 9 नवंबर तक मतदाता सूची के प्रकाशन की उम्मीद है. संभावना जतायी जा रही है कि 15 नवंबर को राज्य स्थापना दिवस समारोह के बाद कभी भी निकाय चुनाव की तिथियों का एलान हो सकता है. अगले वर्ष की शुरूआत में राज्य में चुनाव संपन्न करा लिए जायेंगे.

13 निकायों का कार्यकाल हो चुका है समाप्त

गौरतलब है कि राज्य में 13 नगर निकायों का कार्यकाल समाप्त हो चुका है. नियमानुसार इसी साल उनके लिए चुनाव हो जाने चाहिये थे, पर ऐसा नहीं हो पाया है. अब शेष 35 नगर निकायों का कार्यकाल भी जनवरी-फरवरी तक पूरा होने को है. ऐसे में संभावना जतायी जा रही है कि सभी नगर निकायों के चुनाव एक साथ ही अगले वर्ष करा लिए जाएं.

यह भी जानें

गौरतलब है कि राज्य में 9 फरवरी 2012 को नगरपालिका अधिनियम 2011 प्रवृत हुआ. राज्य में सर्वप्रथम वर्ष 2008 में नगरपालिका (आम) निर्वाचन संपन्न कराया गया. इसके बाद 2010, 2013, 2015 एवं 2018 में नगरपालिका निर्वाचन संपन्न कराया गया था. इसके अलावा वर्ष 2012, 2015 एवं 2018 में उप निर्वाचन संपन्न कराया गया था. वर्तमान में कुल 9 नगर निगम, 20 नगर परिषद, 20 नगर पंचायत (31 मार्च 2022 तक) घोषित हैं. नगर पंचायत की जनसंख्या 12000 या इससे अधिक तथा 40000 से कम होती है. इसे दो वर्ग में बांटा गया है. एक नगर परिषद वर्ग- ख- 40000 या इससे अधिक पर एक लाख से कम हो तथा नगर परिषद वर्ग-क- जनसंख्या 1 लाख एवं इससे अधिक पर डेढ़ लाख से कम हो. नगर निगम क्षेत्र में न्यूनतम आबादी डेढ़ लाख या इससे अधिक होती है.

राज्य में 9 नगर निगम हैं (मेदिनीनगर नगर निगम, हजारीबाग नगर निगम, गिरिडीह नगर निगम, देवघर नगर निगम, धनबाद नगर निगम, चास नगर निगम, रांची नगर निगम, आदित्यपुर नगर निगम और मानगो नगर निगम). 20 नगर परिषद हैं. इनमें गढ़वा (वर्ग-ख), विश्रामपुर (वर्ग-ख), चतरा (वर्ग-ख), झुमरी तिलैया (वर्ग-ख), मधुपुर (वर्ग-ख), गोड्डा (वर्ग-ख), साहेबगंज (वर्ग-ख), पाकुड़ (वर्ग-ख), दुमका (वर्ग-ख), मिहिजाम (वर्ग-ख), चिरकुण्डा (वर्ग-ख), फुसरो (वर्ग-ख), लोहरदगा (वर्ग-ख), गुमला (वर्ग-ख), सिमडेगा (वर्ग-ख), चक्रधरपु (वर्ग-ख), कपाली (वर्ग-ख), जुगसलाई (वर्ग-ख) और रामगढ़ (वर्ग-क) शामिल हैं. इसके अलावे 20 नगर परिषद हैं जिनमें वंशीधर नगर पंचायत, मझिआंव, हुसैनाबाद, हरिहरगंज, छतरपुर, लातेहार, बचरा, कोडरमा, डोमचांच, बड़की सरैया, धनवार, महागामा, राजमहल, बरहरवा, बासुकीनाथ, जामताड़ा, खूंटी, बुण्डू, सरायकेला और चाकुलिया नगर पंचायत है.

Related Articles

Back to top button