Education & CareerRanchi

आठवीं पास विद्यार्थियों को मिलेगा इसरो में दो सप्ताह प्रशिक्षण पाने का मौका, तीन विद्यार्थी होंगे सेलेक्ट

  • इसरो के युवा विज्ञानी कार्यक्रम ‘युविका’ के तहत मिलेगा विद्यार्थियों को अवसर

Ranchi : अप्रैल-मई में राज्य के तीन विद्यार्थियों को इसरो भ्रमण का अवसर मिलेगा. यह अवसर उन विद्यार्थियों के लिए है, जो आठवीं पास हैं. इस संबध में शनिवार को झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद् की ओर से पत्र निर्गत किया गया है. इसमें सभी जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारियों को यह बताया गया है कि राज्य के आठवीं पास तीन विद्यार्थियों को इसरो में दो सप्ताह का प्रशिक्षण सह एक्सपोजर दिया जायेगा, ताकि विद्यार्थियों का ज्ञानवर्धन हो सके. साथ ही, विज्ञान के प्रति विद्यार्थियों की रुचि बढ़े. परिषद् की ओर से बताया गया है कि विद्यार्थियों की यात्रा, उनके रहने से लेकर खान-पान की व्यवस्था इसरो की ओर से की जायेगी. यह प्रशिक्षण इसरो के युवा विज्ञानी कार्यक्रम ‘युविका’ के तहत दिया जायेगा. इसमें देश के प्रत्येक राज्य से तीन-तीन आठवीं पास विद्यार्थियों को शामिल होने का अवसर मिलेगा. इसरो की ओर से भ्रमण की तिथि तय नहीं की गयी है.

आठवीं पास विद्यार्थियों को मिलेगा इसरो में दो सप्ताह प्रशिक्षण पाने का मौका, तीन विद्यार्थी होंगे सेलेक्ट

छह सूचकांकों पर चयनित होंगे विद्यार्थी

इसरो की ओर से विद्यार्थियों के चयन के लिए मापदंड तय किये गये हैं. इसमें छह सूचकांक हैं, जिसमें आठवीं परीक्षा के परिणाम 50 प्रतिशत तक, स्कूली स्तर पर आयोजित किसी भी प्रतियोगिता में विजयी रहना, साइंस क्लब या स्पेस क्लब की सदस्यता, जिला, राज्य, राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजित किसी प्रतियोगिता में विजयी होना, स्काउट एंड गाइड, एनसीसी, एनएसएस मेंबरशिप, ग्रामीण क्षेत्रों में अध्ययनरत विद्यार्थियों को पंचायत से निर्गत प्रमाणपत्र शामिल हैं. यह अवसर स्टेट बोर्ड, सीबीएसई और आइसीएसई विद्यार्थियों के लिए है.

72 विद्यार्थियों में से तीन का होगा चयन

प्रत्येक जिला स्तर पर तीन-तीन विद्यार्थियों का चयन किया जायेगा. राज्य के 24 जिलों में से 72 विद्यार्थियों का चयन जिला स्तर पर किया जायेगा. इसकी सूची राज्य परियोजना परिषद् को जिला की ओर से 20 मार्च तक सौंप दी जानी है. परिषद् की ओर से इन 72 विद्यार्थियों में से तीन विद्यार्थियों का चयन किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें- मुआवजे के नाम पर फिर छले गये प्रदेश के किसान: केंद्र से मांगे थे 1505 करोड़, मिले 272 करोड़

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close