Lead NewsSports

जमीन के फेर में पंचायतों में खेल के मैदान तैयार करने के प्रयासों पर फिर रहा पानी

विज्ञापन

Ranchi : राज्य सरकार ने राज्य की सभी पंचायतों में एक प्ले ग्राउंड तैयार करने की योजना बनायी है. इसके लिए पिछले साल मनरेगा के तहत वीर शहीद पोटो हो खेल विकास योजना को शामिल किया गया. इसका मुख्य रूप से दो मकसद था. पहला- पंचायतों में कम से कम एक खेल का मैदान तैयार करना. दूसरा कि इसके जरिये स्थानीय श्रमिकों को मनरेगा प्रोग्राम से जोड़ कर आर्थिक मदद की जाये. पर कई पंचायतों में जमीन की उपलब्धता एक बड़ा सवाल बन कर सामने आ रही है. जमीन के फेर में पोटो हो खेल विकास योजना का असल मकसद पूरा करने में चैलेंज सामने की आशंका है.

ग्राउंड के साथ-साथ क्या-क्या मिलनी है सुविधा

पोटो हो खेल योजना के तहत चयनित जमीन को समतल करना है. मैदान का निर्माण औऱ विकास करने के अलावे इसमें शौचालय की भी व्यवस्था की जानी है. लड़के और लड़कियों के लिए अलग-अलग चेंजिंग रूम भी तैयार किये जाने हैं. इसके लिए राज्य सरकार की अन्य स्कीमों का कंवर्जेंस (अभिसरण) करते हुए इसे तैयार किया जायेगा. अमूमन तीन लाख रुपये एक प्ले ग्राउंड को तैयार करने में व्यय होने का टारगेट रखा गया है.

फॉरेस्ट एरिया औऱ जमीन की उपलब्धता है बाधा

चतरा के मुखिया अमित चौबे के मुताबिक उनकी पंचायत का बड़ा हिस्सा वन क्षेत्र में आता है. ऐसे में प्ले ग्राउंड तैयार करने की योजना ले पाना मुश्किल है. ग्राम सभा से अगर योजना ले भी ली जाये तो फॉरेस्ट विभाग से क्लियरेंस मिलेगा नहीं. प्ले ग्राउंड के लिए जितनी जगह की जरूरत है, वह पंचायत के बीच में तो उपलब्ध नहीं. वन विभाग से लेना आसान नहीं. अमनारी, हजारीबाग के मुखिया अनुप

कुमार के अनुसार कमोबेश सभी पंचायतों में जमीन की उपलब्धता को लेकर सवाल हैं. पंचायतों में गैर मजरुआ जमीन (जीएम) लैंड पर जायज-नाजायज तरीके या दबंगई के साथ लोगों का कब्जा दिखता है. ऐसे में पंचायतों के स्तर से जमीन का चयन कर पाना टेढ़ी खीर है. स्थानीय प्रशासन को पंचायतें अगर जमीन के लिए मदद मांगती हैं तो वह भी आनाकानी दिखाता है. ऐसे में पोटो हो खेल योजना को सफल बनाना बेहद मुश्किल है. अपवाद स्वरूप ही कहीं पंचायतों में प्रावधानों के अनुसार खेल मैदान बन रहा. सामुदायिक शौचालय निर्माण की योजना सरकार की थी. पर वह भी जमीन के फेर में फंस चुकी है.

4398 पंचायतों में बनना है प्ले ग्राउंड

ग्रामीण विकास विभाग (मनरेगा) की ओर से पोटो हो खेल विकास योजना के तहत प्ले ग्राउंड तैयार करने पर काम जारी है. 4398 पंचायतों में कम से कम एक मैदान बनाने का लक्ष्य है. वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिये 1100 पंचायतों में एक खेल मैदान तैयार करने पर काम चल रहा है. अभी तक 1750 से अधिक स्कीम ग्राउंड बनाने की ली जा चुकी है. फिलहाल 31 से अधिक ग्राउंड अलग अलग पंचायतों में तैयार किये जा चुके हैं.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: