न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्य की शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गयी है : गुंजन सिंह

58

Ranchi : झारखंड प्रदेश महिला कांग्रेस कमिटी की अध्यक्ष गुंजन सिंह ने कहा कि झारखंड प्रदेश विद्यालय रसोइया, संयोजिका, अध्यक्ष संघ द्वारा 25 सितंबर से लगातार 15 सूत्री मांगों को लेकर राजभवन के समक्ष घेरा डालो-डेरा डालो कार्यक्रम जारी है. दूसरी ओर राज्य के पारा शिक्षक संघ द्वारा अपनी मांगों के समर्थन में दिये जा रहे धरना से राज्य की शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गयी है. इसके बाबजूद सरकार अपने निर्णय पर अडि़ग है और मौन धारण की हुई है. इससे बच्चों की शिक्षा पर कुप्रभाव पड़ रहा है.

इसे भी पढ़ें- दाखिले में आधार कार्ड को अनिवार्य कर निजी स्कूल और रघुवर सरकार ने किया सुप्रीम कोर्ट के आदेश को…

प्राथमिकी दर्ज करना कहीं से भी तर्कसंगत नहीं

hosp3

गुंजन सिंह ने कहा कि रघुवर सरकार रसोइया संघ की मांगों पर ध्यान देने की बजाय उनपर प्रशासनिक हथकंडा अपनाकर परेशान करने की कोशिश कर रही है. रघुवर सरकार ने रसोइया संघ के अध्यक्ष अजीत प्रजापति, कोषाध्यक्ष अनिता देवी एवं महासचिव प्रेमनाथ विश्वकर्मा के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की है, जो कहीं से भी तर्कसंगत नहीं है.

इसे भी पढ़ें- झारखंड के 110 निजी ITI में चले VTP कार्यक्रम की जांच शुरू

ओछी राजनीति का परिचायक है रघुवर सरकार की नीति

गुंजन सिंह ने कहा कि सरकार का इस तरह का उदासीन रवैया समझ से परे है. जो महिलाएं अपना घर-द्वार छोड़कर अपने बच्चों के साथ दुर्गा पूजा, दीपावली, छठ जैसे महापर्व में सड़क पर बैठी हैं, उनके साथ रघुवर सरकार का इस तरह का व्यवहार काफी निंदनीय है. इसकी जितनी भी भर्त्सना की जाये, कम होगी. यह रघुवर सरकार की ओछी राजनीति का परिचायक है.

इसे भी पढ़ें- एजी कार्यालय के ऑडिटर पर नाबालिग से छेड़छाड़ करने और दुष्कर्म की धमकी देने का मामला दर्ज

राज्यपाल करें हस्तक्षेप, नहीं तो कांग्रेस करेगी आंदोलन

प्रदेश महिला कांग्रेस ने राज्यपाल से इस पर हस्तक्षेप करते हुए त्वरित कार्रवाई कर प्रदेश विद्यालय रसोइया, संयोजिका, अध्यक्ष संघ एवं पारा शिक्षक संघ की मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करने की मांग की है. यदि रसोइया संघ की मांगों को यथाशीघ्र पूरा नहीं किया गया, तो प्रदेश महिला कांग्रेस रसोइया संघ की मांगों के समर्थन में आंदोलनात्मक कार्रवाई करेगी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: