JharkhandLead NewsRanchi

लाइब्रेरी बनाने के लिए केंद्र से शिक्षा विभाग को मिले 25.35 करोड़ लेकिन अब तक किताबों की नहीं हुई खरीदारी

Ranchi : राज्य के प्राथमिक, माध्यमिक और प्लस टू उच्च विद्यालयों में लाइब्रेरी बनाने के लिए केंद्र सरकार की ओर से शिक्षा विभाग को 25.35 करोड़ रुपये दिए गये हैं. इसमें प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों में लाइब्रेरी डेवेलपमेंट के लिए 21.39 करोड़ और प्लस टू उच्च विद्यालय के लिए 3.96 करोड़ रुपये मिले. यह राशि वित्तीय वर्ष 2020-21 में ही मिली है लेकिन अब तक किताबें नहीं खरीदी जा सकी हैं.

इसे भी पढ़ें :  शीतकालीन सत्र : जेपीएससी में दलाली नहीं चलेगी, हेमंत सोरेन हाय-हाय और दूसरे दिन किन नारों से गूंज रहा है सदन?

शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने दिया जवाब

विधायक मनीष जायसवाल के सवाल का जवाब देते हुए शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने बताया कि किताबों की खरीदी के लिए राज्य स्तर पर एक चयन समिति बनायी गयी थी. जिसके अनुमोदन पर एनसीइआरटी, नेशनल बुक ट्रस्ट, केंद्रीय भारतीय भाषा संस्थान और ट्राइबल शोध संस्थान रांची से किताबें खरीदी गयी है.

इसमें नेशनल बुक ट्रस्ट, केंद्रीय भारतीय भाषा संस्थान ने स्कूलों को किताबें उपलब्ध करा दी हैं. एनसीइआरटी और ट्राइबल शोध संस्थान रांची ने किताबें उपलब्ध नहीं करायी हैं. इन दो संस्थानों ने इस साल के अंत तक किताबें उपलब्ध कराने की बात कही है.

इसे भी पढ़ें :  शीतकालीन सत्र : मनीष जयसवाल ने फाड़ा प्रोसिडिंग का पेपर, स्पीकर ने कहा यह क्षम्य नहीं, होगी कार्रवाई

स्कूलों में लाइब्रेरियन का पद है ही नहीं

एक अन्य सवाल का जवाब देते हुए कहा कि राज्य के स्कूलों में लाइब्रेरियन का पद है ही नहीं. स्कूलों में लाइब्रेरी संचालन शिक्षक के भरोसे होता है. हर स्कूल में एक शिक्षक है जो नोडल अधिकारी होते हैं. वहीं लाइब्रेरी संचालन के लिए गाइडलाइन बनाया गया है. इसके मुताबिक लाइब्रेरी चलायी जाती हैं. स्कूलों में लाइब्रेरी संचालन के लिए लाइब्रेरी मैनेजमेंट सिस्टम डेवलप किये जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :  शीतकालीन सत्र : हेमंत बोले- मैं पाकिस्तान और बांग्लादेश के लिए मुख्यमंत्री नहीं बना हूँ, सवा तीन करोड़ झारखंडियों के लिए हूँ….

Related Articles

Back to top button