JamshedpurJharkhand

वार्षिक योजना को लेकर शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास की वर्चुअल विचारगोष्ठी आयोजित

Jamshedpur : शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास, जमशेदपुर विभाग द्वारा बुधवार को वर्चुअल मोड पर वार्षिक योजना से संबंधित विचारगोष्ठी आयोजित की गयी.  कार्यक्रम की शुरुआत तीन बार ओंकार ध्वनि के साथ की गयी. इसके बाद पालक अधिकारी डॉ रंजीत प्रसाद ने इंदौर में हुई राष्ट्रीय बैठक के निर्णयों की विस्तृत जानकारी दी. उन्होंने राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लागू कराने में न्यास की भूमिका को रेखांकित करते हुए स्कूल, महाविद्यालय और विश्वविद्यालय स्तरीय योजना बनाने पर जोर दिया. विभाग संयोजक डॉ कविता परमार ने पिछले दिनों आयोजित प्रांतीय गोष्ठी के निर्णयों की जानकारी देते हुए हुए सभी विषय प्रमुखों को उनकी छोटी-छोटी टोलियां बनाते हुए कार्य को आगे बढ़ाने का अनुरोध किया. सभी विषय प्रमुखों ने पिछले साल का वृत्त देते हुए आगामी कार्य योजना पर अपने विचार रखे. शिक्षा में स्वायतता प्रमुख डॉ रागिनी भूषण, चरित्र निर्माण एवं व्यक्तित्व विकास प्रमुख डॉ त्रिपुरा झा, इतिहास प्रमुख डॉ केके कमलेंदु, भारतीय भाषा प्रमुख डॉ कल्याणी कबीर, शिक्षक शिक्षा प्रमुख डॉ अनीता शर्मा, पर्यावरण शिक्षा प्रमुख डॉ श्वेता शर्मा, प्रतियोगिता परीक्षा प्रमुख श्रीमन त्रिगुण, वैदिक गणित प्रमुख डॉ राजन शर्मा, युवती टोली प्रमुख श्रीमती अनिता प्रसाद ने भी गोष्ठी में अपने-अपने विचार रखे.
महानगर संयोजक शिव प्रकाश शर्मा ने धन्यवाद ज्ञापन दिया. गोष्ठी में सह संयोजक मंजू सिंह, मिथिलेश श्रीवास्तव, उमाशंकर पाठक उपस्थित थे. कल्याण मंत्र के साथ गोष्ठी का समापन हुआ. यह जानकारी न्यास की विभाग संयोजक डॉ कविता परमार ने दी.

इसे भी पढ़ें – दारोगा लालजी यादव की संदेहास्पद मौत की उच्चस्तरीय जांच हो, प्रताड़ित करनेवाले अधिकारियों को कड़ी सजा मिले : अन्नपूर्णा देवी

Advt

Related Articles

Back to top button