Crime NewsJharkhandRanchi

ED ने डीजेएन ज्वेलर्स प्राइवेट लिमिटेड की एक करोड़ से ज्यादा की अचल संपत्ति जब्त की

रांची, लातेहार एवं गढ़वा में फ्लैट, दुकान व प्लॉट के रूप में कुल 11 संपत्तियों को किया जब्त

Ranchi: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने निवेशकों से करोड़ों रुपये की जालसाजी कर फरार होने वाले डीजेएन ग्रुप की संपत्ति को अटैच किया है. ED ने रांची, लातेहार एवं गढ़वा में फ्लैट दुकान व प्लॉट के रूप में कुल 11 संपत्तियों को जब्त किया गया है. जब्त संपत्ति चिटफंड कंपनी डीजेएन के प्रबंध निदेशक जितेंद्र मोहन सिन्हा व विपिन कुमार के अलावा, राम किशुन ठाकुर और विशाल कुमार सिन्हा के नाम पर हैं.

इसे भी पढ़ें: जयपाल सिंह मुंडा ओवरसीज स्कॉलरशिप के लिए ब्रिटेन ने झारखंड सरकार को दी बधाई

ईडी ने पूर्व में भी कार्रवाई करते हुए रांची के कोतवाली थाना क्षेत्र के लालजी हीरजी रोड स्थित सत्य गंगा आर्केड के ग्राउंड फ्लोर पर स्थित डीजेएन ज्वैलर्स को अटैच किया था.

उल्लेखनीय है कि ईडी की टीम ने बीते 31 अगस्त को डीजेएन ग्रुप का 33.74 लाख रुपये की चल और अचल संपत्ति अटैच किया था.

इसे भी पढ़ें:रांची : हटिया डैम से पानी ओवरफ्लो होने के बाद भी फाटक खोलने के मूड में नहीं है पेयजल विभाग, गेट के ऊपर से पानी का रिसाव शुरू

ईडी ने 31 दिसंबर 2019 को ईडी की एजुकेटिंग अथॉरिटी ने स्वीकृति दे दी थी. प्रवर्तन निदेशालय ने रांची के लालपुर थाने में चिटफंड कंपनी डीजेएन ग्रुप के खिलाफ वर्ष 2016 में प्राथमिकी व चार्जशीट के आधार पर कंपनी के मुख्य प्रबंध निदेशक जितेंद्र मोहन सिन्हा,सहित कई लोगो के खिलाफ विरुद्ध मनी लौंड्रिंग एक्ट में केस दर्ज किया था.

ईडी को अनुसंधान के दौरान यह जानकारी मिली थी कि डीजेएन कमोडिटिज मुंबई की एमसीएक्स कंपनी से पंजीकृत थी. इसके प्रोपराइटर विशाल कुमार सिन्हा थे.

इसे भी पढ़ें: कोविड-19 के कारण रिम्स में घट गयी मरीजों की संख्या

Advt

Related Articles

Back to top button