BusinessNational

#EconomySlowdown: ऑटो सेक्टर में मंदी का असर, महिंद्रा एंड महिंद्रा 17 दिनों तक ठप रखेगा उत्पादन

New Delhi: ऑटो सेक्टर में मंदी का दौरा जारी है. लगातार घटती मांग और सुस्त अर्थव्यवस्था के बीच ऑटो सेक्टर घाटे से जूझ रहा है.

इस बीच महिंद्रा एंड महिंद्रा ने मौजूदा तिमाही में अपने वाहन कारखानों में आठ से 17 दिन तक उत्पादन बंद रखने की घोषणा की है. कंपनी ने शुक्रवार को कहा कि बिक्री के उत्पादन के साथ समायोजन करने के लिए वह यह कदम उठा रही है.

इसे भी पढ़ेंः#Newtrafficrules : भारी-भरकम जुर्माने से मिली राहत, CM का आदेश-विभाग तीन महीने जागरुकता फैलाये

मांग में कमी के कारण उत्पादन ठप

इससे पहले कंपनी ने अगस्त में कहा था कि वह जुलाई-सितंबर तिमाही के दौरान अपने विभिन्न कारखानों में उत्पादन 8 से 14 दिन तक बंद करेगी.

शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि उसने तिमाही के दौरान तीन दिन अतिरिक्त उत्पादन स्थगित रखने का फैसला किया है. इससे पहले 9 अगस्त, 2019 को कंपनी ने विभिन्न कारखानों में उत्पादन 14 दिन तक बंद रखने की घोषणा की थी.

घरेलू वाहन कंपनी ने इसके साथ ही कहा कि वह इस महीने के अंत तक कृषि उपकरण क्षेत्र में एक से तीन दिन तक उत्पादन बंद रखेगी.

कंपनी ने कहा, ‘वाहनों का पर्याप्त भंडार होने की वजह से प्रबंधन को ऐसा नहीं लगता कि इससे बाजार में उसके वाहनों की उपलब्धता पर असर पड़ेगा.’

इसे भी पढ़ेंः#Dhullu तेरे कारण : SSP से मिले बियाडा के पूर्व अध्यक्ष, कहा- मेरे खिलाफ साजिश रच रहे हैं बाघमारा MLA

इससे पहले इसी सप्ताह हिंदुजा समूह की प्रमुख कंपनी अशोक लेलैंड ने कमजोर मांग की वजह से अपने विभिन्न विनिर्माण कारखानों में उत्पादन 16 दिन तक बंद रखने की घोषणा की थी.

टाटा मोटर्स, मारुति, होंडा समेत कई कंपनियों ने घटाया उत्पादन

उल्लेखनीय है कि महिंद्रा एंड महिंद्रा के एमडी पवन गोयनका ने कुछ दिन पहले ही कहा था कि अगर डिमांड में सुधार नहीं हुआ तो नौकरियां जा सकती हैं. गोयनका ने फेस्टिव सीजन शुरू होन से पहले जीएसटी में कटौती की भी मांग की थी, ताकि डिमांड में इजाफा हो सके.

आर्थिक मंदी का असर सिर्फ महिंद्रा एंड महिंद्रा पर ही नहीं, कई अन्य बड़ी कार निर्माता कंपनियों पर भी पड़ा इसका असर देखने को मिला है.

इससे पहले टाटा मोटर्स भी ऐलान कर चुकी है कि वह अपने पुणे स्थित प्लांट में सितंबर के पहले हफ्ते में कामकाज बंद रखेगी. जबकि, अप्रैल से जून की तिमाही में Maruti Suzuki, Toyota, Honda और Tata मोटर्स जैसी कंपनियों ने 7-18 प्रतिशत उत्पादन में कमी की थी.

इसे भी पढ़ेंःMobLynching : मुआवजे की मांग को लेकर हिंसक प्रदर्शन, युवक की पिटाई, पुलिस पर पत्थरबाजी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close