न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अर्थशास्त्री ज्यां द्रेज को पुलिस ने लिया हिरासत में, तीन घंटे बाद रिहा

बिना अनुमति गढ़वा में कार्यक्रम करने का आरोप

3,706

Ranchi: गढ़वा के बिशुनपुर थाना की पुलिस ने प्रसिद्ध अर्थशास्त्री ज्यां द्रेज को हिरासत में ले लिया.  उनके साथ पुलिस ने विवेक गुप्ता समेत अन्य एक व्यक्ति को भी हिरासत में लिया गया. सभी को बिशुनपुर थाना में रखा गया है. बिशुनपुर थाना की पुलिस ने न्यूज विंग को इस खबर की पुष्टि की है. ज्यां द्रेज ने न्यूज विंग को बताया है कि वह अपने साथियों के साथ बिशुनपुर बाजार में कार्यक्रम कर रहे थे. हालांकि तीन घंटे के बाद उनको और बाकी दो लोगों को भी छोड़ दिया गया.

mi banner add

गढ़वा के डीसी हर्ष मंगला ने न्यूज विंग को बताया कि ज्यां द्रेज और उनके साथियों को किसी तरह की सभा करने की अनुमति प्रशासन की तरफ से नहीं दी गयी थी. बावजूद इसके वे लोग सभा कर रहे थे. इसलिए उन्हें हिरासत में लिया गया.

इधर, पुलिस का कहना है कि आचार संहिता लागू है और बिना प्रशासनिक अनुमति के कार्यक्रम किया जा रहा था. मामले की जानकारी एसडीओ और दंडाधिकारी को दे दी गयी है. उनके आने पर सभी को मुक्त करने पर फैसला लिया जायेगा.

इधर, अर्थशास्त्री ज्यां द्रेज ने न्यूज विंग को फोन पर बताया कि बिशुनपुर बाजार में राईट टू फुड (भोजन के अधिकार) को लेकर कार्यक्रम का आयोजन था. इसकी जानकारी प्रशासन को दी गयी थी. तय समय पर कार्यक्रम शुरू हुआ. जिसके कुछ देर बाद पुलिस पहुंची और उन्हें थाना ले आयी.

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि यह हो सकता है कि ज्यां द्रेज की टीम ने कार्यक्रम की जानकारी प्रशासन को दी हो. लेकिन उन्हें कार्यक्रम की अनुमति नहीं मिली है. यही कारण है कि उन्हें हिरासत में लिया गया है. अभी उन्हें थाना में ही रखा गया है.

Related Posts

पलामू : डायरिया से बच्चे की मौत, माता-पिता व भाई गंभीर, गांव में दर्जन भर लोग पीड़ित

स्वास्थ्य विभाग के डायरिया नियंत्रण की खुली पोल, आनन-फानन में कुछ लोगों को एंबुलेंस से भेजा अस्पताल

क्या कहा ज्यां द्रेज ने

थाने से छूटने के बाद ज्यां द्रेज ने न्यूज विंग से बातचीत में कहा कि जन सवालों पर शांतिपूर्ण गैर राजनीतिक सभा करने का अधिकार नहीं रहे, तो लोकतंत्र का कोई अर्थ नहीं रह जाता है. उन्होंने कहा कि उन पर पुलिस बांड भरने का दबाव दे रही थी. साथ ही किसी से फ़ोन पर भी बात करने की अनुमति नहीं थी. लोकतांत्रिक व्यवस्था के तहत ही जनता के सवालों को उठाते रहे हैं. नरेगा, भोजन के अधिकार, शिक्षा, रोजगार के सवाल पर चर्चा करना क्यों गलत ठहराया जा सकता है.

जिस कार्यक्रम में ज्यां गये थे उसके अयोजक विवेक कुमार गुप्ता ने कहा कि प्रशासन और पुलिस को एक लिखित आवेदन देकर पूर्व में ही बताया था कि 28 मार्च को पोखरा चौक बिशुनपुरा में दस से दो बजे तक राशन, पेंशन, शिक्षा और रोजगार के मुद्दे पर जन सभा की जाएगी. इसमें जनता की समस्या और जरूरत पर चर्चा की जाएगी.

इसे भी पढ़ें – पिठौरिया में वाहन चेकिंग के दौरान,फॉर्च्यूनर कार से 30 लाख रुपये बरामद

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: