न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड में बढ़े आर्थिक अपराध, पिछले तीन महीने में हुई डेढ़ करोड़ की लूट

918

Saurav Singh

Ranchi: झारखंड में आर्थिक अपराध की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है. अपराधी बेलगाम हो गए हैं. अपराधी बेखौफ होकर घटनाओं को अंजाम देकर फरार हो जा रहे हैं और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लग रही.

पिछले तीन महीने में झारखंड में लूट कि घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है. इस दौरान अपराधियों ने लगभग डेढ़ करोड़ रुपए लूट लिये. अपराधियों के निशाने पर मुख्य रूप से बैंक और एटीएम हैं. हालांकि लूट की कुछ घटनाओं का पुलिस ने उद्भेदन भी किया, लेकिन लूटे गए रुपयों की बरामदगी नहीं हो पायी है.

बेखौफ हुए अपराधी

हाल के दिनों में देखा जाए तो पूरे झारखंड में अपराधियों ने बेखौफ होकर लूट की घटना को अंजाम दिया. जिस सरलता से लूट की घटना को अंजाम देकर अपराधी मौके से फरार हो गए, इससे साफ जाहिर होता है कि अपराधियों के मन में पुलिस प्रशासन का जरा भी खौफ नहीं है.

अपराधियों के निशाने पर बैंक और एटीएम

हाल के महीनों में अगर देखें तो झारखंड में अपराधियों के निशाने पर मुख्य रूप से बैंक और एटीएम रहे हैं. जहां अपराधी दिनदहाड़े बैंक लूट की घटना को अंजाम दे रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर एटीएम तोड़कर रुपयों की चोरी की जा रही है. लूट और चोरी के लिए अपराधियों के द्वारा रामगढ़, हजारीबाग, पलामू, चतरा और रांची स्थित बैंक और एटीएम को निशाना बनाया गया है.

अपराधियों की गिरफ्तारी के बावजूद भी बरामद नहीं हुए रुपए

Related Posts

धनबाद : हाजरा क्लिनिक में प्रसूता के ऑपरेशन के दौरान नवजात के हुए दो टुकड़े

परिजनों ने किया हंगामा, बैंक मोड़ थाने में शिकायत, छानबीन में जुटी पुलिस

SMILE

पलामू, हजारीबाग, रांची और चतरा में बैंक व एटीएम लूटे जाने के मामले में पुलिस ने कई अपराधियों को गिरफ्तार भी किया, लेकिन इसके बावजूद भी उनके पास से लूटे गये पूरे रुपयों की बरामदगी नहीं हो सकी. वहीं, अभी भी कई ऐसे लूट कांड के मामले हैं जिनमें झारखंड पुलिस के हाथ अबतक खाली हैं.

चुनाव खत्म होते ही बढ़ी लूट की घटनाएं

लोकसभा चुनाव खत्म होते ही लूट सहित कई आपराधिक घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है. लोकसभा चुनाव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखने के लिए राज्य में बड़े पैमाने पर पुलिस बल की तैनाती की गयी थी.

जगह-जगह चेक नाका लगाकर वाहनों की जांच भी की जाती थी. लेकिन चुनाव खत्म होते ही पुलिस बल की तैनाती को हटा लिया गया साथ ही वाहनों की जांच में भी कमी आयी. जिसका फायदा अपराधी उठा रहे हैं ओर घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं. वो बैंक या एटीएम ही  नहीं आम जनता को भी निशाना बना रहे हैं और उनसे मोटी रकम लूट रहे हैं.

3 महीने में डेढ़ करोड़ रुपये की हुई लूट

  • 5 मई: रामगढ़ मांडू थाना क्षेत्र एसबीआइ के एटीएम से कुल 42 लाख 78 हजार रुपये की लूट.
  • 22 मई: पलामू के छत्तरपुर थाना क्षेत्र में इलाहाबाद बैंक से ढाई लाख रुपये की लूट.
  • 25 मई: रांची के लालपुर चौक के समीप बाइक सवार दो अपराधियों ने मो यूनुस और मो. एनाउल से हथियार के बल पर 8 लाख रुपए की लूट.
  • 27 मई: धनबाद, कतरास बाजार के चायपत्ती व्यवसायी केतन कुमार से अपराधियों ने पिस्टल का डर दिखाकर उनसे दो मोबाइल फोन, सोने और चांदी की तीन अंगूठियां और 18 हजार रुपए नकद लूट लिये.
  • 27 मई:रांची खेलगांव थाना क्षेत्र में बाइक सवार अपराधियो ने व्यवसायी से 12.50 लाख लूट लिये.
  • 27 मई: धनबाद के गोविंदपुर थाना क्षेत्र स्थित नेशनल हाइवे-2 स्थित पेट्रोल पंप कर्मी से बाइक सवार अपराधियों ने 5.36 लाख रुपए की लूट लिये.
  • 18 जून :धनबाद हाउसिंग कॉलोनी स्थित हाउसिंग बोर्ड पानी टंकी के पास माइक्रो फाइनेंस कंपनी सेट इन क्रेडिट केयर लिमिटेड के कर्मचारी को अपराधियों ने गोली मार कर 74 हजार रुपये लूट लिये.
  • 29 जून: हजारीबाग टाटीझरिया स्थिति एसबीआइ एटीएम को अपराधियों ने गैस कटर से काटकर 37 लाख 9 हजार रुपये की लूट.
  • 15 जुलाई: कोतवाली थाना क्षेत्र गांगुली रोड स्थित केनरा बैंक के काउंटर से 3.50 लाख रुपये लूट लिये.
  • 29 जुलाई: चतरा हंटरगंज थाना क्षेत्र से स्थित गोसाईडीह के बैंक ऑफ इंडिया शाखा में दिनदहाड़े 23 लाख रुपए की लूट.
  • 5 अगस्त: धनबाद झरिया में बस्ताकोला पेट्रोल पंप के पास बकरा व्यापारी मोहम्मद शमीमुल्ला कुरैशी पर फायरिंग कर 10.25 लाख रुपए लूट लिये.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: