BokaroJharkhand

हटाये गये मजदूरों को काम पर रखे डीवीसी प्रबंधन : राजू खान

Bermo(Bokaro) :  विस्‍थापित और स्‍थानीय मजदूरों को रोजगार देने की मांग पर टाइगर फोर्स के बैनर तले दो दिवसीय भूख हड़ताल शुरू किया गया. डीवीसी पावर प्‍लांट का निर्माण करने वाली कंपनी पावर मेक ने 125 विस्‍थापित और मजदूरों को हटा दिया है. भूख हड़ताल का नेतृत्‍व टाइगर फोर्स के जिला अध्‍यक्ष राजू खान एवं ताजुद्दीन अंसारी के द्वारा किया जा रहा है.

मजदूरों को काम से हटाकर उन्हें बेरोजगार कर दिया

नुक्कड़ सभा को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष व ताजुद्दीन अंसारी ने कहा कि पावर मेक में वर्ष 2009 से 2018 तक स्थानीय एवं विस्थापित बेरोजगारों ने काम करके अपने जीवन का बहूमूल्य समय दिया है. अब वर्तमान में कंपनी प्रबंधन ने 125 वैसे मजदूरों को काम से हटाकर उन्हें बेरोजगार कर दिया है. उन्होंने कहा कि सभी हटाये गये मजदूरों को काम पर रखने को लेकर डीवीसी प्रबंधन से कई दफा वार्ता भी हुई थी. परंतु प्रबंधन की ओर से महज आश्वासन ही मिलता रहा.

ram janam hospital
Catalyst IAS

पूर्व में हुआ था एक दिवसीय धरना

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

मांगों को लेकर 27 दिसंबर को एक दिवसीय धरना भी पावर प्लांट गेट के समक्ष दिया गया था. आंदोलन के बाद डीवीसी के डीजीएम पीके सिंह के साथ आयोजित वार्ता भी बेनतीजा रही थी. वार्ता विफल होने के बाद 2 जनवरी से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल किया जाना था, जो कि किसी कारणवश स्थगित कर दिया गया था. जिसकी तिथि बढ़कर 7 जनवरी कर दी गयी थी. आंदोलन को सफल बनाने में रंजीत पांडेय, बीरेंद्र सिंह, तारसेम सिंह, अमित सिंह, नवीन निषाद, विद्यासागर महतो, रघुनाथ मुर्मू, महताब आलम, उमेश उपाध्याय, अख्तर अली, तनवीर, शमीम अख्तर आदि की महत्वपूर्ण भूमिका रही.

इसे भी पढ़ें : कार्यक्रम में नहीं बुलाये जाने पर भड़के पार्षद, कहा- राजनीति कर रहे मेयर, डिप्टी मेयर

Related Articles

Back to top button