JharkhandLead NewsRanchi

कोरोना काल में सरकार ने बांटा केवल कफन, कुप्रबंधन के कारण हुई सबसे अधिक मौत : भाजपा

Ranchi : भाजपा प्रदेश कार्यालय में गुरुवार को प्रदेश अध्यक्ष की अध्यक्षता में पार्टी के प्रदेश पदाधिकारियों, विधायकों, जिलाध्यक्षों, नगर निकाय के अध्यक्षों की बैठक सम्पन्न हुई. इसमें पार्टी द्वारा सम्पन्न संगठनात्मक कार्यक्रमों की समीक्षा की गयी. आगामी कार्यक्रमों की तैयारी पर विस्तार से चर्चा भी हुई. बैठक में प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी की पहल पर पूरे देश में मुफ्त कोविड टीकाकरण अभियान शुरू किया गया.

उनके नेतृत्व में कोविड से निबटने के लिए किये गये प्रयासों को दुनिया में सराहा जा रहा. पर इसके विपरीत हेमंत सोरेन सरकार केवल कफन बांटने तक सीमित रही.

इसे भी पढ़ें :टोल प्लाजा के लिए सड़कों का चयन इस तरह किया जाये कि उसका आम जनता पर बोझ नहीं पड़े : CM

advt

केंद्र ने दिखाया करिश्माई नेतृत्व

दीपक प्रकाश के मुताबिक पीएम ने पहले चरण से ही कम संसाधनों में भी देश को महामारी से बचाया. देश में आवश्यक मेडिकल सुविधा को बढ़ाना, दवाइयां, रेमडेसिविर, ऑक्सीजन सिलिंडर, वेंटीलेटर की आपूर्ति, कोरोना बेड को बढ़ाना जैसे कार्य को तेजी से धरातल पर उतारा. वैक्सीन अभियान को भी तेजी से आगे बढ़ाया.

पीएम केयर फंड से देश में एक लाख से अधिक ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर खरीदे गये. डेढ़ लाख ऑक्सीजन सिलिंडर की खरीद हुई, देश भर के अस्पताल में 50 हजार वेंटिलेटर दिये गये.

adv

ऑक्सीजन की आपूर्ति में जल, थल एवं आकाश तीनों मार्ग से आपूर्ति की गयी. लिक्विड ऑक्सीजन का उत्पादन 10 गुना बढ़ाया गया.

इसे भी पढ़ें :साधु-संतों, कैदियों और भिखारियों को भी लगेगा कोविड का टीका

रेलवे ने 443 ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलायी. वहीं वायुसेना ने 1800 उड़ानें भरीं. आवश्यक दवाओं के उत्पादन में 10 से 20 गुना तक की वृद्धि की गयी. 9 महीने में भारत ने स्वदेशी टीका का निर्माण कर दुनिया को अचंभित कर दिया.

दीपक प्रकाश ने पार्टी कार्यकर्ताओं की सराहना करते हुए कहा कि झारखंड सरकार जब कफन बांटने की तैयारी कर रही थी तो ऐसे में भाजपा के कार्यकर्ता गरीबों, जरूरतमंदों की सेवा में जुट कर भोजन, मास्क, राशन, सैनिटाइजर, दवाइयां बांट रहे थे. कोरोना संकट के बीच तीन हजार यूनिट से ज्यादा रक्तदान का रिकॉर्ड बनाया.

कांग्रेस पार्टी पर कमेंट करते हुए कहा कि कांग्रेस ने केवल जनता को दिग्भ्रमित किया है. टीका के संबंध में कांग्रेस नेताओं के बयान को कभी माफ नहीं किया जा सकता. इस पार्टी ने कार्यक्रमों को भटकाने और लटकाने का काम किया है. कांग्रेस और उनके समर्थन से चल रही सरकारों में वैक्सीन की सर्वाधिक बर्बादी हुई है.

इसे भी पढ़ें :ग्राम प्रधान, पड़हा राजा, मानकी मुंडा, डाकुआ, पैनभरा, कोटवार का हो ग्रुप बीमा, मिले पीएफ

कुप्रबंधन से नुकसान ज्यादा

बैठक में बाबूलाल मरांडी ने कहा कि कोरोना संक्रमण जब सर्वोच्च स्तर पर था, उस वक्त सर्वाधिक मौतें झारखंड में हुई. यह सब राज्य सरकार के कुप्रबंधन के कारण हुआ. केंद्र सरकार द्वारा दी गई सुविधा का भी सदुपयोग नहीं हुआ. एक साल तक वेंटीलेटर को कूड़ेदान में रख दिया. जरूरत पर केंद्र को दोष मढ़ने लगे.

मुख्यमंत्री अपने प्रदेश में ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं कर रहे थे बल्कि केंद्र सरकार की पहल पर दूसरे राज्यों को भेजी जा रही ऑक्सीजन ट्रेन को झंडी दिखा कर फ़ोटो खिंचवा रहे थे. मुफ्त वैक्सीन की घोषणा कर सरकार मुकर गयी.

किसानों, युवाओं, बेरोजगारों से किये गये वादे भूल गयी. राज्य सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि जब इस सरकार की जन विरोधी नीतियों का विरोध किया जाता है तो उसे मुकदमा दर्ज कर दबाने की कोशिश की जा रही. पुलिस से दबाव बनाया जा रही. पार्टी के कार्यकर्ताओं को बड़ी भूमिका निभानी है.

प्रदेश संगठन महामंत्री धर्मपाल सिंह ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं ने सेवा ही संगठन के माध्यम से गरीबों की सेवा की है. रक्तदान किया. वहीं किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए हजारों की संख्या में खेतों में उतरकर सरकार को झुकने को मजबूर कर दिया.

इसे भी पढ़ें :बहुफसलीय खेती की ओर अग्रसर किसान, 50 हजार से अधिक परिवारों को लाभ

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: