न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दुर्गापुर : बंद पड़े कारखानों से लगातार हो रही कीमती सामानों की चोरी, पुलिस मौन, लोगों में रोष

प्रशासन पर लग रहा है निष्क्रियता का आरोप

621

Durgapur : दुर्गापुर-अंगदपुर इलाके में बंद पड़े कारखानो के अंदर से कीमती लोहा, पीतल औऱ तांबा निकाल कर अवैध लोहा कारबारियों द्वारा बेचा जा रहा है. वही प्रशासन इस मामले को लेकर निष्क्रिय बना हुआ है. इससे इलाके के लोगों मे रोष व्याप्त है.

प्रशासन की निष्क्रियता के कारण इलाके के लोग व श्रमिकों का गुस्सा अब फूटने लगा है. इसी कड़ी मे बीते दिनों इलाके के लोगों ने बंद पड़े एक कारख़ाना के कीमती सामानों की चोरी को लेकर प्रदर्शन किया था. उसके बावजूद इलाके मे बंद पड़े कारखानों से कीमती सामानों की चोरी रुकने का नाम नहीं ले रही है.

इसे भी पढ़ें : #JPSC की कार्यशैली पर लगातार प्रतिक्रिया दे रहे हैं छात्र, पढ़ें-क्या कहा छात्रों ने…. (छात्रों की प्रतिक्रिया का अपडेट हर घंटे)

तीन सालों में कई कारखाने बंद

बताया जाता है की पिछले तीन  सालों से दुर्गापुर-अंगदपुर शिल्पांचल में कई कारखाने बंद हो चुके हैं. ज्ञात हो कि इस तरह की फैक्टरी राज्य सरकार से सब्सिडी औऱ बैंक से काफी मात्रा में ऋण लेकर शुरू किया जाता है. राज्य सरकार औऱ बैंक इलाके के विकास और मजदूरों की रोजी को ध्यान में रखकर इन फैक्टरियों को इस तरह की सुविधा उपलब्ध कराती हैं.

परंतु जब फैक्टरी दिवालिया घोषित होती है तो उस कारखाने की चल-अचल सम्पत्ति बैंक के कब्जे में चली जाती है और उसकी देखरेख करना एवं किसी को बेचना या डिस्मेंटल कर बेचना सारे बैंक के इख्तियार में रहता है.

परंतु स्थानीय प्रशासन एवं स्थानीय नेताओ से सांठगांठ कर ये अवैध लोहा कारोबारी जिस तरह से ये कीमती लोहा, पीतल, तांबा चोरी कर अन्यत्र बेच रहे हैं इससे बैंकों का करोड़ों का नुकसान के साथ-साथ मजदूरों के बकाया राशि मिलने के आसार भी कम हो रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : धनबाद : PMCH में शव को पोस्टमॉर्टम हाउस ले जाने के लिए नहीं मिला वाहन, स्ट्रेचर पर ले गयीं बेटियां

मूल व्यक्ति को नहीं पकड़ रही पुलिस

हालाकि पिछले दो सितंबर को स्थानीय लोगों द्वारा डिटीपीएस थाने में शिकायत करने पर पुलिस हरकत में आती है एवं रंगे हाथ एक मारुति पिक-अप वैन को पकड़ती है जिसमें काफी मात्रा में लोहा, पीतल व तांबा पाया जाता है एवं पुलिस दो अपराधी की गिफ्तारी भी करती है.

लेकिन पुलिस अवैध लोहा के सिंडिकेट चलाने वाले मूल व्यक्ति को गिरफ्तार नहीं करती है जिससे इलाके के लोगों मे काफी रोष है.

आपको बताते चलें कि तीन व्यक्ति इलाके मे अवैध लोहा सिंडिकेट को चलाने का काम करते हैं. इन्होंने माया बाजार इलाके में अवैध लोहा, पीतल व तांबा रखने के लिये कई गोदाम घर बना रखा है. इनकी सह पर इलाके मे बंद पड़े कारखानों से कीमती सामानों को चुराने का कार्य किया जाता है.

स्थानीय नेताओं की सांठगांठ का आरोप

दिन में और रात में इस तरह बंद फैक्टरी से कीमती सामानों की चोरी करना इसमें प्रशासन के साथ-साथ स्थानीय नेताओं का सांठगांठ का आरोप लगा रहा है. डिप्टी कमिश्नर अभिषेक गुप्ता ने कहा की पुलिस की ओर से इलाके मे गस्त तेज कर दी गयी है. नतीजन पिछले कुछ दिनों में कीमती सामानो के साथ कई लोग गिरफ्तार किये गये है.

उन्होंने कहा कि बंद पड़े कारखानों से चोरी के मामले मे अभी तक किसी भी मालिक पक्ष की ओर से कोई शिकायत नही की गयी है. पुलिस खबर पाकर अपने स्तर पर इनके खिलाफ मुहिम छेड़ी हुई है. उन्होंने बताया कि इसमें लिप्त किसी की भी नहीं छोड़ा जायेगा.

इसे भी पढ़ें : #NewTrafficRule: झारखंड के डीजीपी का आदेश- कागजात की जांच करते समय पुलिस रहे सौम्य, खुद भी करे कानून का पालन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: