न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दुर्गा पूजा और दीवाली का अर्थशास्त्र, बूम पर रहेगा बाजार, बोनस से आयेंगे 2000 करोड़

मेडिकल ट्रीटमेंट, टूर एंड इंटरटेनमेंट में 20 फीसदी खर्च की संभावना, शेयर और सेविंग में 10 फीसदी जायेगी राशि

126

ravi aditya

Ranchi: दुर्गा पूजा और दीवाली के अर्थशास्त्र के अनुसार राज्य का बाजार बूम पर रहेगा.  निजी और सार्वजनिक क्षेत्र से बोनस के रूप में लगभग 2000 करोड़ रुपये दिये जायेंगे.  यह राशि खरीदारी सहित विभिन्न क्षेत्रों में खर्च की जायेगी.  इसमें से लोग 20 से 30 फीसदी बचत भी करेंगे.  रेलवे सहित अन्य सरकारी उपक्रमों से बोनस के रूप में लगभग 600 करोड़ रुपये दिये जायेंगे.

इसे भी पढ़ें – अडाणी समूह पर क्यों ‘मेहरबान’ झारखंड की भाजपा सरकार

दुर्गापूजा में 300 करोड़ के कारोबार की संभावना

दुर्गापूजा में लगभग 300 करोड़ रुपये के कारोबार की संभावना है.  राजधानी में भी लगभग 100 करोड़ रुपये के कारोबार की संभावना जताई जा रही है.  इसमें कपड़ा का कारोबार 15 से 20 करोड़ रुपये का होगा.  इसके अलावा टूर और इंटरटेनमेंट में भी खर्च किये जायेंगे.  वाहनों की बुकिंग और खरीदारी में 50 करोड़ रुपये खर्च की संभावना है.  धनतेरस में आभूषणों पर 50 से 55 करोड़ खर्च होने की संभावना है.  इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्टों में लगभग 15 करोड़ रुपये के कारोबार की संभावना है.  मेडिकल-ट्रीटमेंट व अन्य सुविधाओं में लगभग छह करोड़ रुपये खर्च होने की संभावना है.

इसे भी पढ़ें – 8 अरब की वन भूमि निजी और सार्वजनिक कंपनियों के हवाले, फिर भी प्रोजेक्ट पूरे नहीं 

धनतेरस में बरसेगा धन

धनतेरस में भी धन बरसेगा.  दुर्गा पूजा से ही सभी तरह के प्रोडक्टों की बुकिंग शुरू हो गयी है.  ज्वेलरी में लगभग 30 करोड़ के कारोबार की संभावना है.  ब्लश कलेक्शन में लाइटवेट में 18 कैरेट गोल्ड 1.88 ग्राम से 4.43 ग्राम के आभूषण और ग्लैम गोल्ड में 22 कैरेट के आभूषण  बाजार में उपलब्ध करा दिये गये हैं.  इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट की बिक्री में भी 50 फीसदी की वृद्धि हुई है.  दीपावली में लगभग 20 से 25 करोड़ रुपये के कारोबार की संभावना है.

इसे भी पढ़ें – CM का विभाग : 441.22 करोड़ का घोटाला, अफसरों ने गटका अचार और पत्तों का भी पैसा

200 करोड़़ की प्रोप्रर्टी डीलिंग भी

बाजार के जानकारों के अनुसार राज्य भर में लगभग 200 करोड़ रुपये के प्रोपर्टी डीलिंग की भी संभावना जताई जा रही है. क्रॉकरी और स्टील के बर्तन में भी लगभग आठ करोड़ के कारोबार की संभावना है.  मिक्सचर, बिस्किट और चॉकलेट में लगभग सात करोड़ का कारोबार होगा.  इन तीनों में लगभग 300 वेराइटियां उपलब्ध कराई गयी हैं.

इसे भी पढ़ें – सवालः आखिर पाकुड़ में डीसी के खिलाफ हो रहे हंगामे पर सरकार क्यों नहीं ले रही संज्ञान

किस क्षेत्र में बोनस का कितना खर्च होगा

ज्वेलरी- पांच फीसदी

शेयर एंड सेविंग- 10 फीसदी

फरर्नीचर- पांच फीसदी

कपड़ा- 40 फीसदी

टूर एंड इंटरटेनमेंट- पांच फीसदी

उधार चुकता- 10 फीसदी

मेडिकल एवं ट्रीटमेंट- 15 फीसदी

वाहन- 25 फीसदी

राज्य में किस चीज का कितना बढ़ा है कारोबार

इलेक्ट्रॉनिक प्रोड्क्ट- 50 फीसदी

एलपीजी- 67 फीसदी

मशीनरी उपकरण- 55 फीसदी

शराब- 100 फीसदी

होजियरी- 67 फीसदी

तकनीकी संयत्र- 110 फीसदी

हार्डवेयर- 182 फीसदी

फर्नीचक- 67 फीसदी

किराना गु़ड्स- 45 फीसदी

मशीनरी पार्ट्स- 55 फीसदी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: