Crime NewsGiridihJharkhand

गिरिडीह में बनी नकली शराब जंगल के रास्ते पहुंचायी जाती थी बिहार, दो गिरफ्तार, कई फरार

  • नकली शराब की बड़ी खेप सहित ब्रांडेड कंपनियों की बोतलें और रैपर जब्त

Giridih : जिले के तीन गांवों में नकली शराब बनाकर उसे जंगल के रास्ते बिहार में सप्लाई किया जा रहा था. इस गोरखधंधे पर से पर्दा उस वक्त उठा, जब गिरिडीह पुलिस ने बुधवार को इन तीन गांवों में छापामारी कर नकली शराब बनानेवाली फैक्ट्री का उद्भेदन किया. डीएसपी संतोष मिश्रा के नेतृत्व में पुलिस ने डुमरी के राजाभिट्ठा, भेलवाडीह और जिलिमटांड़ गांव में छापामारी की. इस दौरान दो आरोपियों राजेश बास्की और छोटन हांसदा को गिरफ्तार किया गया. इसकी जानकारी एसपी अमित रेणु और डीएसपी संतोष मिश्रा ने गुरुवार को प्रेसवार्ता में दी.

इसे भी पढ़ें: चतरा : श्रम सुधार विधेयक 2020 के विरोध में भारतीय मजदूर संघ ने किया प्रदर्शन

ब्रांडेड कंपनियों के नाम से बेची जा रही थी नकली शराब

इस सिडिकेंट के मुख्य धंधेबाज अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं. पुलिस के हत्थे चढ़े दोनों आरोपियों ने सिंडिकेट से जुड़े मुख्य नाम पुलिस को बता दिये हैं. उनके मुताबिक, इन्हीं मुख्य धंधेबाजों के नेतृत्वव में ही राजाभिट्ठा, भेलवाडीह और जिलिमटांड़ गांव में नकली शराब की फैक्ट्री चलाकर कई ब्रांडेड कंपनियों के नाम पर शराब की सप्लाई की जाती थी.

इसे भी पढ़ें: डीजीपी के आदेश के बाद शराब के अवैध कोरोबार पर कसी जा रही नकेल

बिरनी और गांवा के जंगलों के रास्ते बिहार में होती थी सप्लाई

पुलिस सूत्रों की मानें, तो बगोदर के अटका निवासी त्रिलोकी मंडल, डुमरी के तेलियाबहियार निवासी अरविंद मंडल और जिलिमटांड़ गांव निवासी सुंदर मांझी नकली शराब के धंधेबाजों के सिंडिकेट के सदस्य हैं. पुलिस इन आरोपियों तक पहुंचने के प्रयास में जुट गयी है. पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार आरोपी छोटन हांसदा और राजेश बास्की ने यह भी कबूला है कि सिंडिकेट के इन सदस्यों के इशारे पर डुमरी के इन तीन गांवों में नकली शराब बनाकर उसे बिरनी और गांवा के जंगलों के रास्ते बिहार भेजा जाता था.

इसे भी पढ़ें: CM ने कहा- केंद्र की तरह हम भी ताकत लगा दें तो मचेगा हाहाकार, रघुवर बोले- जिम्मेदारी से भाग रहे हेमंत

नकली शराब की बड़ी खेप और ब्रांडेड कंपनियों के रैपर जब्त

प्रेसवार्ता में एसपी अमित रेणु ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी राजेश बास्की पचंबा थाना क्षेत्र के कोरबाटांड़ गांव का रहनेवाला है. वहीं, दूसरा आरोपी छोटन हांसदा डुमरी के कारीबाद गांव का रहनेवाला है. डुमरी के जिन तीन गांवों में छापामारी की गयी, वह पूरी तरह से नक्सल प्रभावित है. इस कारण उत्पाद विभाग इन इलाकों में कार्रवाई नहीं कर पा रहा था. बुधवार को मिली गुप्त सूचना के आधार पर डीएसपी समेत डुमरी और पीरटांड़ थाना प्रभारी ने ज्वॉइंट ऑपरेशन चलाकर यहां छापामारी कर नकली अंग्रेजी शराब की बड़ी खेप जब्त की. पुलिस ने वहां से शराब बनानेवाले सामानों के साथ भारी मात्रा में रॉयल स्टैग, इंपीरियल ब्लू के रैपर भी जब्त किये हैं.

छापामारी में मैकडोवेल की शराब की बोतलों से भरी 40 पेटी के अलावा इंपीरियल ब्लू की बोतलों से भरी पांच पेटियां और रॉयल स्टैग की बोतलों से भरी पांच पेटियां जब्त की गयीं. छापामारी के क्रम में पुलिस ने कई बड़े ड्रम भी जब्त किये हैं.

इसे भी पढ़ें: Palamu : पीएम आवास योजना में अवैध वसूली, प्रभारी पंचायत सचिव सहित पर दो पर एफआइआर

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: