DumkaJharkhand

दुमका : बिजली विभाग का झूठ पकड़ाया, बिना कनेक्शन दिये जनसंवाद को लिखा- गांव में जल रही बिजली

Dumka : “राज्य में विकास बेलगाम हो गया है. सिर्फ घोषणा कर उसे पूरा माना लिया जाता है, जबकि हकीकत कुछ और ही होती है.” यह कहना है काठीकुंड प्रखंड स्थित बलिजोर गांव के पहाड़िया टोला के लुखिराम देहरी का.

वह बताते हैं कि सरकार ने सभी घरों में बिजली पहुंचाने का दवा किया था, लेकिन मुख्यमंत्री जन संवाद केंद्र में शिकायत के बाद भी पहाड़िया समुदाय के घरों में बल्ब नहीं जल सका है. सीएम जनसंवाद केंद्र में विद्युत विभाग ने गलत जानकारी दी है कि गांव में सभी उपभोक्ताओं को विद्युत कनेक्शन उपलब्ध करा दिया गया है और विद्युत आपूर्ति सामान्य रूप से की जा रही है.

इसे भी पढ़ें : धनबाद : कुएं में छह माह से फंसा था कोबरा, वन विभाग करता रहा नजरअंदाज, युवक ने किया रेस्क्यू

ram janam hospital
Catalyst IAS

मुख्यमंत्री का फोकस एरिया है दुमका जिला

The Royal’s
Sanjeevani

रघुवर सरकार के फोकस एरिया दुमका जिला के काठीकुंड प्रखंड स्थित बलिजोर गांव के पहाड़िया टोला में आजादी के बाद बिजली नही जली. पहाड़िया टोला पिपरा पंचायत में आता है. पहाड़ के नीचे बसा एक छोटा सा पहाड़िया जनजाति का गांव है. जहां करीब पंद्रह घर हैं.

बिजली के लिय 8 मई 2019 को मुख्यमंत्री जन संवाद केंद्र में शिकायत दर्ज करायी गयी थी जिसका Resistraion No. OL/DUM/19-316, Grievance No  2019-47985 है. इसके बाद गांव में ट्रांसफॉर्मर, बिजली पोल और तार लगे लेकिन बिजली चालू नही की गयी.

इसे भी पढ़ें : बेरमो : हॉस्पिटल के लिए बने भवन में अब कस्तूरबा विद्यालय को शिफ्ट करने की तैयारी

जनसंवाद केंद्र को दी झूठी जानकारी

विद्युत आपूर्ति प्रमंडल, दुमका ने कार्यवाही करते हुए जन संवाद केंद्र को जबाब दिया कि “उक्त गांव को दीनदयाल ग्रामीण ज्योति योजना के तहत मेसस NCC Ltd  द्वारा विद्युतीकृत कर सभी उपभोक्ताओं को विद्युत संबंध उपलब्ध करा दिया गया है एवं वर्तमान समय में विद्युत आपूर्ति सामान्य रूप से की जा रही है.”

लेकिन गांव में अब तक बिजली आपूर्ति शुरू ही नहीं हुई है. बिजली पोल के जंक्शन में तार भी एक-दूसरे से नही जोड़ा गया है. ग्रामीणों ने मिस्त्री से कई बार विनती भी की लेकिन मिस्त्री ने बिजली चालू ही नही की. ग्रामीणों का कहना है कि मिस्त्री बोल रहा है कि जब तक पैसा नही दोगे तब तक बिजली चालू नही किया जायेगी.

जहां एक ओर झारखंड सरकार गांव-गांव में विद्युत पहुंचाने के लिए गंभीर है वहीं दूसरी ओर विभाग गंभीर होता नहीं दिख रहा है. ग्रामीणों की मांग है कि गांव में बिजली जल्द से जल्द चालू की जाय.

इसे भी पढ़ें : गढ़वा: चोरी की पांच बाइक के साथ चार नाबालिग गिरफ्तार- चोरी कर नाव में लादकर बिहार ले जाते थे बाइक

Related Articles

Back to top button