न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दुमकाः चापाकांदर गांव में पीने के पानी की किल्लत, महीनों से खराब हैं चापानल

‘पानी नहीं तो वोट नहीं’ की बात कर रहें ग्रामीण

18

Dumka: दुमका के भुरकुंडा पंचायत में लोगों को पीने के पानी की किल्लत हो रही है. पंचायत के चापाकांदर गांव में कई महीनों से पांच चापानल ख़राब है, जिससे गांव में पीने का पानी का संकट हो गया है. इसकी सुध लेने वाला कोई नहीं है. ना विभाग और ना ही जन प्रतिनिधि, चापानल मरम्मत करवाने के लिये ग्रामीण हर जगह दस्तक दे चुके हैं, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं.

इसे भी पढ़ेंःदेश के लिए ऐतिहासिक दिन,  लौह पुरुष हुए सम्मानित, पीएम मोदी ने स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का अनावरण किया 

ग्रामीण PHD विभाग जाते हैं, तो उन्हें कहा जाता है कि मुखिया से बनवाइये,उनको सारा पैसा दे दिया गया है. और मुखिया सुशान्ति हांसदा से शिकायत की जाती है तो वह कोई रूचि ही नहीं लेती है. ग्रामीणों ने थक-हार कर अंतिम में मुख्यमंत्री जनसंवाद केंद्र 181 में फोन किया गया. लेकिन वहां भी शिकायत दर्ज नहीं की गयी. और कहा गया कि PHD विभाग में आवेदन दिजीये.

इसे भी पढ़ेंःपीएम मोदी का लेखः ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ भारतवासियों के दिलों…

palamu_12

ग्रामीणों का कहना है कि मुख्यमंत्री जनसंवाद केंद्र 181 से क्या फायदा, जब ग्रामीणों की शिकायत ही दर्ज नहीं की जाती है. गांव में जल समस्या का समाधान नहीं होने पर ग्रामीणों में काफी नाराजगी है. ग्रामीणों का कहना है कि ‘पानी नहीं तो वोट नहीं’. इस मौके में मुकेश मोदी,कुशल सेन,मंगला मोदी,गोर दत्त,निताय दत्त,कृष्ण चन्द्र दत्त,मानिक देय,गोरंगो सेन,शम्भू सेन,राम सेन,लेबाराम दत्त,झरना दत्त,राजकुमार दत्त,हीरा देय,सरोती मंडल,रिंकू मंडल,झुमा दत्त के साथ काफी संख्या में महिला-पुरुष और बच्चे उपस्थित थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: