न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हेमंत मुख्‍यमंत्री बनें यह बाबूलाल कभी नहीं चाहेंगे : निशिकांत दुबे

331

Dumka : महागठबंधन के नाम पर सभी दल झामुमो को ठेंगा दिखाना चाहते हैं. विपक्ष महागठबंधन कर किसी मधुकोड़ा की तलाश कर रही है. दुमका परिसदन भवन में गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे पत्रकारों से बात कर रहे थें. उन्होंने कहा कि महागठबंधन पहले लोकसभा चुनाव को लेकर समझौता कर मलाई खाना चाहती है. विपक्ष विधानसभा में कोई चर्चा नहीं कर रही है. उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में हेमंत सोरेन को सभी दरकिनार करना चाहते हैं.

इसे भी पढ़ें-रांची में अवैध तत्काल टिकटिंग के खिलाफ आरपीएफ और सीआईबी की टीम ने की छापामारी

महागठबंधन झामुमो को कर रही है ठगने का काम

अचानक झामुमो के प्रति सांसद दुबे के प्यार उमड़ने के सवाल पर जबाब देते हुए कहा कि अलग झारखंड की लड़ाई स्थानीय पार्टी में झामुमो और राष्ट्रीय पार्टी में भाजपा लड़ रही थी. उन्होंने कहा कि यह अलग बात है कि भाजपा वनांचल एवं झामुमो झारखंड की लड़ाई लड़ रही थी. इसलिए झारखंड के मसले पर महागबंधन झामुमो को ठगने का काम रही है. उन्होंने कहा कि झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी को राज्य का मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को बनना कभी स्वीकार नहीं होगा.

इसे भी पढ़ें- मूर्ति विसर्जन के दौरान रांची नगर निगम के निर्देश का नहीं हुआ पालन

गोड्डा लोकसभा में सबसे ज्‍यादा हुए काम

महागठबंधन पर बोलते हुए कहा कि गोड्डा लोकसभा सीट पर विपक्ष का समझौता नहीं हो पा रहा है. महागठबंधन गोड्डा लोकसभा सीट पर कांग्रेस दावेदारी कर रही है. जो पिछले चुनाव में दूसरे स्थान पर होने का हवाला दे रही है. वहीं गोड्डा पर झाविमो भी अपनी दावेदारी पेश कर रही है. सांसद दुबे ने कहा कि इसमें चुनाव जितने से ज्यादा महत्वपूर्ण है भ्रष्टाचार कर विकास कार्य के राशि का बंदरबांट करना. उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि विपक्ष गोड्डा से राजनीति क्यों करना चाहती है. उन्होंने जबाब देते हुए कहा कि वर्तमान में गोड्डा लोकसभा सीट पर सबसे ज्यादा काम हो रही है.

इसे भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव में रिफ्रेशमेंट चाहती है भाजपा, 7 सीट पर नये चेहरे को मैदान में उतारने की कवायद

10 सालों में गोड्डा लोकसभा में भ्रष्‍टाचार बंद

लोकसभा सीट में 50 से 60 हजार करोड़ का विकास कार्य पाइप लाइन में है. करीब 40 हजार करोड़ का काम आने वाला है. करीब 100 लाख के विकास कार्यों में कमीशनखोरी और भ्रष्टाचार कर उगाही को लेकर सभी पार्टी दावेदारी कर रही है. उन्होंने कहा कि विपक्ष की लड़ाई विकास कार्य की राशि का बंदरबांट करने को लेकर है. इसलिए एक-दूसरे को चकमा रहे हैं. अगर सीट नहीं मिलेगी तो, चुनाव में निर्दलीय खड़ा होने की धमकी एक-दूसरे को दे रहे हैं. गोड्डा में पिछले 10 वर्षों से भ्रष्टाचार बंद होने की बात सांसद दुबे ने कही.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: