न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मूर्ति विसर्जन को लेकर शहर के 10 तालाबों और डैम के पास की गयी है NDRF की तैनाती

सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखने के लिए की गयी है पुलिस की तैनाती

155

Ranchi : रांची पुलिस ने दुर्गा पूजा के दौरान सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुख्ता इंतजाम किये थे और इसका असर भी देखा गया. इसके अलावा रांची पुलिस ने पूजा के बाद मूर्ति विसर्जन को लेकर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किये हैं. विसर्जन के दौरान आपात स्थिति से निपटने के लिए जहां बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गाय है, वहीं 10 तालाबों को चिह्नित कर वहां गोताखोर पुलिस की तैनाती की गयी है. बड़ा तालाब के पास तैनात एनडीआरएफ की टीम ने एक मॉक ड्रिल भी की. सभी पूजा समितियों को निर्देश दिया गया है कि निर्धारित समय पर और लाइन लगाकर प्रतिमा का विसर्जन करें, ताकि परेशानी न हो. विसर्जन को लेकर राजधानी की पुलिस अलर्ट है.

इसे भी पढ़ें- मंत्री जी के कॉलेज में फेल हो रहे हैं छात्र, आरोप है कि पैसे की वसूली के लिए छात्रों को किया जाता है…

सभी तालाब घाटों पर दंडाधिकारियों को किया गया है तैनात

मूर्ति विसर्जन को लेकर शहर के सभी तालाब घाटों पर दंडाधिकारियों को तैनात किया गया है. सभी विसर्जन स्थलों पर नाव, नाविक और गोताखोरों की व्यवस्था की गयी है. पुलिस बल के अलावा एनडीआरएफ की टीम भी सभी जगह तैनात की गयी है.

मूर्ति विसर्जन को लेकर शहर के 10 तालाबों और डैम के पास की गयी है NDRF की तैनाती

शांतिपूर्ण होगा विसर्जन, भड़काऊ गाने नहीं बजेंगे, जुलूस का मार्ग निर्धारित

मूर्ति विसर्जन जुलूस के लिए पहले से ही मार्ग निर्धारित कर दिये गये हैं. शनिवार को मुख्य जुलूस बिहार क्लब से निकलेगा. पंडरा और हेसल की ओर से आनेवाली शोभायात्रा न्यू मार्केट चौक पहुंचेगी. यहां पर कचहरी और कांके रोड, बरियातू रोड से निकली प्रतिमाओं के साथ सभी शहीद चौक पहुंचेंगे. यहां हरमू रोड की ओर से निकली शोभायात्रा का मिलन होगा. इसके बाद समिति द्वारा संयुक्त विसर्जन शोभायात्रा शुरू होगी. मेन रोड, काली स्थान चौक से होकर विसर्जन शोभायात्रा अल्बर्ट एक्का चौक पहुंचेगी. यहां से आयोजन समितियां प्रतिमाओं को लेकर लाइन टैंक तालाब और बड़ा तालाब पहुंचेंगी, जहां पर प्रतिमाओं का विसर्जन होगा. प्रशासन की ओर से निर्देश दिया गया है कि विसर्जन या जुलूस के दौरान कोई भी भड़काऊ गाना नहीं बजाया जायेगा. विसर्जन शांतिपूर्ण ढंग से होगा.

इसे भी पढ़ें- सिंदूर खेला : मां दुर्गा को दी गई विदाई, अगले बरस फिर से आने का दिया आमंत्रण

चिह्नित किये गये तालाबों में ही होगा मूर्ति का विसर्जन

मूर्ति का विसर्जन नगर निगम द्वारा चिह्नित किये गये तालाबों में ही किया जायेगा. पूजा समितियां अपने मनमुताबिक किसी भी तालाब में मूर्ति का विसर्जन नहीं कर पायेंगी. चिह्नित किये गये तालाबों की घेराबंदी कर मूर्ति विसर्जन प्वॉइंट बनाया गया है. मूर्तियों में इस्तेमाल किये गये केमिकल व अन्य सामग्री से तालाबों को प्रदूषित होने से बचाने के लिए नगर निगम द्वारा यह कदम उठाया गया है.

मूर्ति विसर्जन को लेकर शहर के 10 तालाबों और डैम के पास की गयी है NDRF की तैनाती

इसे भी पढ़ें- एक लड़की के प्‍यार में दो दोस्‍त आपस में भिड़े, एक ने दूसरे पर चला दी गोली

48 घंटे में हटेंगे अवशेष

रांची नगर निगम की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि पूजा समितियां मूर्ति में इस्तेमाल किये गये कृत्रिम आभूषण, वस्त्र, फूल-माला समेत अन्य सामग्री का विसर्जन तालाबों में नहीं करेंगे. ऐसे में समितियों को ये सामग्री तालाब के पास ड्यूटी पर तैनात सुपरवाइजर को देनी होगी. वहीं, नगर निगम के मल्टीपर्पस सुपरवाइजर जरूरी संसाधनों के साथ तालाब के पास मौजूद रहेंगे. प्रतिमा विसर्जन के 48 घंटे के अंदर मूर्तियों के अवशेष को वहां से हटा लिया जायेगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.


हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: