JamshedpurJharkhandNEWS

जमशेदपुर : लगातार बारिश से नदियां उफान पर, खरकई किनारे रहनेवालों को आगाह किया गया, पुल के ऊपर से बह रहा दुआरसिनी का पानी

Jamshedpur  :  बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव के कारण बंगाल, ओडिशा और झारखंड के सीमावर्ती क्षेत्रों में चार दिन से जारी बारिश के कारण स्थानीय तालाब और नदियां लबालब हैं. स्वर्णरेखा और खरकई, कोयल, संजय, कारो, रोरो समेत सभी नदियों का जलस्तर बढ़ गया है. ओडिशा के रायरंगपुर में खरकई नदी पर बने ब्यांगबिल डैम में जलस्तर खतरे के निशान से काफी ऊपर पहुंच गया है. इसे देखते हुए 12 अगस्त शुक्रवार को डैम का एक फाटक खोला गया है. इसकी सूचना सरायकेला और जमशेदपुर प्रशासन को पहले ही दे दी गयी थी. डैम से लगभग 49 क्यूसेक पानी छोड़े जाने की संभावना है. लेकिन गुरुवार रात से ही खरकई नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी देखी गयी.

माइक से लोगों को दी जा रही चेतावनी
शुक्रवार रात तक खरकई एवं स्वर्णरेखा नदी के जलस्तर में उल्लेखनीय वृद्धि होने की संभावना है. इसके मद्देनजर  जमशेदपुर जिला प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है. खरकई और स्वर्णरेखा  तटीय इलाकों में रहने वालों को माइक पर निर्देश दिया गया है कि वे परिवार सहित ऊंचे स्थानों पर चले जायें. इधर मौसम विभाग ने 14 अगस्त तक बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है. इससे नदियों का जलस्तर और भी बढ़ने की आशंका है.

घाटशिला में दुआरसिनी उफान पर, पुल के ऊपर पहुंचा पानी
लगातार बारिश के कारण घाटशिला प्रखंड से होकर बहनेवाली दुआरसिनी नदी भी उफान पर है. शुक्रवार दोपहर तक दुआरसिनी पुल पर दो फीट ऊपर तक बरसात का पानी बह रहा था. इस पुल के मुख्य मार्ग पर होने के चलते हर दिन इससे होकर हजारों की संख्या में लोग आनाजाना करते हैं. पुल के ऊपर से पानी बहने के कारण आवागमन बाधित है. बारिश के कारण कई गांवों संपर्क दूसरे गांवों से कट गया है. गुरुवार को दिनभर हुई बारिश के कारण खेतों में पानी लबालब भर गया है. धान की फसल डूब गयी है. कुछ गांवों में बारिश से कच्चे मकानों के ढह जाने की भी सूचना है.

इसे भी पढ़ें – JAMSHEDPUR : मदर टेलसा वेलफेयर ट्रस्ट में नाबालिग के साथ यौन शोषण के मामले में फरार टोनी गिरफ्तार

Related Articles

Back to top button