DhanbadJharkhand

COVID-19 की वजह से पहली बार बिना संगीतमय सभा के शहीद रणधीर वर्मा को दी जायेगी श्रद्धांजलि

Dhanbad : अशोक चक्र से सम्मानित धनबाद के पुलिस अधीक्षक रहे शहीद रणधीर वर्मा को तीन जनवरी को स्थानीय रणधीर वर्मा चौक पर भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी जायेगी.

हालांकि, कोरोना महामारी के कारण तीन दशकों में पहली बार शहीद रणधीर वर्मा के शहादत दिवस पर संगीतमय श्रद्धांजलि सभा नहीं होगी. पर, अन्य कार्यक्रम यथावत होंगे. यह जानकारी रणधीर वर्मा मेमोरियल सोसायटी के अध्यक्ष किशोर कुमार ने दी.

किशोर कुमार ने बताया कि कोविड-19 के संक्रमण से पूरी दुनिया त्राहि-त्राहि कर रही है. अपना देश बुरी तरह प्रभावित है. ऐसे में छोटी भी असावधानी परेशानी का सबब बन जा सकती है. इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए अमर शहीद रणधीर वर्मा को श्रद्धांजलि देने के लिए कार्यक्रम आयोजित करने की तीन दशकों की परंपरा को टूटने देने की मजबूरी है.

इसे भी पढ़ें : News Wing Impact : सीएम के निर्देश पर मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा की प्रतिमा की हुई मरम्मत

उन्होंने बताया कि संगीतमय श्रद्धांजलि की शुरुआत प्रख्यात सांस्कृतिकर्मी दिवंगत केके श्रीवास्तव की पहल पर की गयी थी. रणधीर वर्मा की शहादत के बाद गांधी सेवा सदन में श्रद्धांजलि देने के लिए सभा आयोजित की गयी थी.

उस कार्यक्रम को गरिमामय और यादगार बनाने के लिए केके श्रीवास्तव ने कोयलांचल के कई कलाकारों का ऑडिशन लिया था. शालिनी श्रीवास्तव का चयन हुआ था. इसके साथ ही संगीतमय श्रद्धांजलि देने की परंपरा शुरू हो गयी थी.

बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने जब रणधीर वर्मा चौक पर शहीद की आदमकद प्रतिमा का अनावरण किया, तो उसके बाद से प्रतिमा स्थल पर ही संगीतमय श्रद्धांजलि देने की परंपरा शुरू हो गयी थी.

उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी का असर खत्म होने के बाद इस परंपरा को कायम रखा जायेगा. शहादत दिवस पर आयोजित बाकी कार्यक्रम को ध्यान में रखते हुए तैयारियां की जा रही हैं. रणधीर वर्मा चौक पर शहीद की आदमकद प्रतिमा को पूर्व की तरह ही सजाया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें : नेशनल एथलीट और कोच मारिया को नहीं मिली 1 लाख की सरकारी मदद, पेंशन की लगा रहीं गुहार

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: