Main SliderRanchi

DSPMU ने माफ की 3000 स्टूडेंट्स की फीस, लेकिन निजी संस्थानों को नहीं है आदेश की परवाह

Ranchi : शिक्षा विभाग की ओर से फीस नहीं लेने को लेकर आदेश निकाले 10 से अधिक हो गया है. लेकिन आदेश की अवहेलना बदस्तुर जारी है. निजी संस्थानों की मनमानी से अभिभावक परेशान हैं. अब तो निजी स्कूलों से लेकर तकनीकी संस्थान तक बजाप्ता आदेश जारी कर फीस जमा करने को कह रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – Jharkhand Board 10th result 2020: बुधवार को जारी होगा झारखंड बोर्ड 10वीं के रिजल्ट

डीएसपीएमयू ने तीन हजार स्टूडेंट्स की फीस माफ की

जबकि निजी संस्थानों की मनमानी के बीच राज्य के स्टेट यूनिवर्सिटी में से एक डॉ श्यामा प्रसाद यूनिवर्सिटी ने उदाहरण पेश किया है. मंगलवार को विवि ने 3000 स्टूडेंट्स को राहत देते हुए सभी तरह की फीस माफ कर दी है. डॉ श्यामा प्रसाद यूनिवर्सिटी के वीसी एसएन मुंडा ने बताया कि ग्रेजुएशन सेमेस्टर टू, सेमेस्टर फोर, पीजी सेमेस्टर टू के स्टूडेंट्स की फीस माफ कर दी गयी है.

advt

उन्होंने बताया कि वैसे सभी सेमेस्टर के स्टूडेंट्स जिनकी फाइनल परीक्षाएं नहीं हुई हैं, उनकी फीस माफ की गयी है. ऐसे सभी स्टूडेंट्स को पूर्व में ली गयी परीक्षा के अंक के आधार पर अगले सेमेस्टर में प्रमोट भी किया जायेगा.

आरटीसी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मांग रहा फीस

आरटीसी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ने भी आदेश जारी कर सभी फाइनल सेमेस्टर के बीटेक और डिप्लोमा के स्टूडेंट्स को फीस जमा करने को कहा है. जबकि तकनीकी संस्थानों को लेकर एआइसीटीइ (ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ टेक्नीकल एजुकेशन) ने पहले ही स्पष्ट आदेश दिया है कि तकनीकी संस्थान स्टूडेंट्स और उनके अभिभावकों को फीस जमा करने के लिए बाध्य नहीं करेंगे.

इसके बाद भी संस्थान ने अपने स्पष्ट नोटिस में कहा है कि स्टूडेंट्स 20 जुलाई तक अपने सभी तरह के बकाये फीस को क्लीयर कर दें. इंस्टीट्यूट ने ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही तरह से फीस जमा करने को कहा है.

निजी स्कूल अब भी ले रहे मनमानी फीस

शिक्षा विभाग की ओर से स्पष्ट आदेश जारी होने के बाद भी कई स्कूलों ने यह जानकारी अपने वेबसाइट पर साझा नहीं की है कि वे केवल ट्यूशन फीस ले रहे हैं. जबकि कई स्कूल लगभग हर तरह की फीस ले चुके हैं.

adv

जेवीएम श्यामली ने अप्रैल माह में ट्यूशन फीस के साथ डेवलपमेंट फीस और एनुअल फीस अभिभावकों से ले लिया. इसी तरह जुलाई की फीस के साथ बस चार्ज भी जोड़ रखा है. इसी तरह कार्मेल स्कूल हजारीबाग ने अप्रैल 2020 से जून 2020 तक की ट्यूशन के साथ सत्र 2020-21 का एनुअल फीस भी ले लिया है.

बिशप वेस्टकॉर्ट डोरंडा, संत थॉमस, डीएवी ग्रुप्स के सभी स्कूल के अलावा लोयला कॉन्वेंट बूटी मोड़ के साथ ही रांची कई स्कूलों ने ट्यूशन फीस के साथ अन्य फीस भी वसूल ली है.

इसे भी पढ़ें –रिम्स के मेडिकल यूनिवर्सिटी बनने पर जल्द ही लगेगी कैबिनेट की मुहर

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button