JharkhandRanchi

गोड्डा एसपी के शोकॉज का डीएसपी ने नहीं दिया जवाब, एसपी ने भी नहीं की कोई कार्रवाई

विज्ञापन

Ranchi/Godda : गोड्डा एसपी राजीव रंजन सिंह ने 11 अगस्त को मुख्यमंत्री जनसंवाद केंद्र की समीक्षा बैठक बुलायी थी. बैठक में डीएसपी समेत जिले के दूसरे पुलिस अधिकारियों को भी एसपी ने बुलाया था. बैठक शुरू ही हुई थी कि अनुमंडल डीएसपी बबन सिंह ने एसपी राजीव रंजन सिंह से छुट्टी मांगी. एसपी साहब बोले कि अभी हाल में ही एक अगस्त को तो आपने छुट्टी ली थी. एक अगस्त की छुट्टी के लिए आप 31 जुलाई को ही निकल गये थे. फिर से छुट्टी क्यों? सावन का महिना चल रहा है. प्रशासन को चुस्त और दुरुस्त रहने की जरूरत है. ऐसे में बार-बार छुट्टी कैसे दी जा सकती है. एसपी के इतना बोलते ही डीएसपी बबन सिंह ने अपनी बीमार पत्नी की तस्वीर दिखायी. एसपी साहब तस्वीर देखने के बाद कुछ बोल पाते कि डीएसपी साहब गुस्सा गये. बैठक की परवाह न करते हुए वह वहां से उठे और कमरे से बाहर चले गये. करीब ढाई घंटे तक बैठक चली, लेकिन डीएसपी बबन सिंह लौटकर नहीं आये. ये बातें और कोई नहीं, बल्कि गोड्डा के एसपी राजीव रंजन सिंह ने ही डीएसपी बबन सिंह को दिये शो-कॉज में लिखी हैं.

इसे भी पढ़ें- दाऊद इब्राहिम का शूटर साबिर सहित चार गिरफ्तार

advt

दो दिनों की दी थी मोहलत, लेकिन डीएसपी ने नहीं दिया जवाब

एसपी राजीव रंजन सिंह ने 13 अगस्त को जारी अपने शो-कॉज में साफ तौर से डीएसपी बबन सिंह को लिखा, “आपके ऐसे अचानक बैठक को छोड़कर चले जाने से समीक्षा बैठक पूरी नहीं हो सकी. शो-कॉज में कहा कि अभी तक छुट्टी के लिए लिखित आवेदन भी आपकी तरफ से एसपी कार्यालय को नहीं मिला है. रिकॉर्ड है कि पिछले आठ महीने के मेरे कार्यकाल में जब भी आपने छुट्टी मांगी मैंने दी. आपका ऐसे बैठक छोड़कर चले जाना घोर अनुशासनहीनता को दर्शाता है. ऐसे आचरण के विरुद्ध क्यों नहीं पुलिस अनुशासन के तहत आपके खिलाफ कार्रवाई के लिए लिखा जाये. इसका जवाब दो दिनों के अंदर दें.” लेकिन, गौर करने की बात है कि 13 तारीख को करीब 17 दिन बीतने को हैं, डीएसपी बबन सिंह ने एसपी राजीव रंजन सिंह के शो-कॉज का किसी तरह का कोई जवाब नहीं दिया है.

इसे भी पढ़ें- धनबाद डीसी का काम नहीं, चीख रहा है हूटर

एसपी ने भी नहीं की कोई कार्रवाई

पुलिस सूत्रों का कहना है कि डीएसपी बबन सिंह की ऐसी हरकत से एसपी राजीव रंजन सिंह उस वक्त काफी नाराज हुए थे. नाराजगी और गुस्से में उन्होंने कड़ा शो-कॉज तो डीएसपी को जारी कर दिया, लेकिन दो दिनों के अंदर जवाब नहीं देने पर उन्होंने डीएसपी बबन सिंह के खिलाफ किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की. ऐसे में सवाल यह है कि जब एसपी साहब को डीएसपी साहब पर कार्रवाई नहीं करनी थी, तो शो-कॉज दिया ही क्यों. सवाल यह भी कि डीएसपी बबन सिंह के ऐसा करने से क्या दूसरे अधिकारी का अनुशासनहीनता के लिए मनोबल नहीं बढ़ेगा.

adv

इसे भी पढ़ें- धनबाद DC ने बताये अपने काम, आप भी पढ़ें, लेकिन हूटर बजाने पर साधी चुप्पी

यह पुलिस का अंदरूनी मामला है : एसपी

मामले पर न्यूज विंग से बात करते हुए एसपी राजीव रंजन सिंह ने कहा, “इस पर मैं कुछ नहीं बोल सकता. यह पुलिस का अंदरूनी मामला है. प्रेस तक बात तब पहुंचनी चाहिए, जब मैं किसी तरह की कोई कार्रवाई डीएसपी के खिलाफ करता. जो बात मीडिया तक पहुंचानी होती है, वह बात पुलिस मीडिया तक पहुंचा देती है. इस मामले में कोई न्यूज सेंस नहीं है.”

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close