न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जुर्माना लगने पर भी नहीं सुधर रहे चालक, बिना परमिट के एमजी रोड में दौड़ा रहे हैं 250 ई-रिक्शा

अल्बर्ट एक्का चौक से राजेंद्र चौक तक के रूट पर 60 ई-रिक्शा को ही निगम ने दिया है रूट पास, चल रहे हैं 300 से ज्यादा, सितंबर तक 18 लाख रुपये बतौर जुर्माना वसूल चुका है निगम, फिर भी रुक नहीं रहा नियम का उल्लंघन

57

Ranchi : रांची नगर निगम की तरफ से महात्मा गांधी रोड (मेन रोड) में लोगों की सहूलियत के लिए जो ई- रिक्शा सर्विस शुरू की गयी थी, वही अब शहर की परिवहन व्यवस्था के लिए परेशानी बनती जा रही है. दरअसल, अल्बर्ट एक्का चौक से राजेंद्र चौक तक निगम की तरफ से केवल 60 ई-रिक्शा चालने का रूट पास जारी किया गया था. लेकिन, इसके उलट इसी रूट पर 300 से अधिक ई-रिक्शा चल रहे हैं. दरअसल, इन ई-रिक्शा चालकों के अंदर अब कानून का डर नहीं रह गया है. हालांकि, ऐसा नहीं है कि निगम की एन्फोर्समेंट टीम ने इस ओर कोई पहल नहीं की हो. शहर के इस मेन रोड पर सितंबर तक निगम की एन्फोर्समेंट टीम ने बिना रूट पास वाले ई-रिक्शा चालकों से करीब 18 लाख रुपये जुर्माना भी वसूला है. इसके बावजूद निगम इस समस्या से निपटाने में पूरी तरह बेबस नजर आ रहा है. स्थिति यह है कि इनके बढ़ते दबदबे के कारण आज अल्बर्ट एक्का चौक से डोरंडा ओवरब्रिज तक रोड के दोनों तरफ ही इन ई-रिक्शा वालों का कब्जा हो गया है. वे बेखौफ होकर बीच सड़क पर ही ई-रिक्शा खड़ा करके सवारी उतारते और चढ़ाते हैं. इसका असर ट्रैफिक पर पड़ रहा है. दूसरी ओर इससे आम लोगों को रोड पर जाम की वजह से पैदल चलना भी दूभर हो गया है.

mi banner add

इसे भी पढ़ें- पांचवीं अनुसूची पर सुलगते सवालों का जवाब नहीं सूझा एक्सपर्ट सुभाष कश्यप को, सचिव ने किया प्रोग्राम…

रूट पास दिखाने की बात पर ई-रिक्शा चालक ने कहा- ट्रैफिक पुलिस से बात हो चुकी है

मेन रोड में चलने वाले ई-रिक्शा चालकों की संख्या की जानकारी न्यूज विंग संवाददाता ने एन्फोर्समेंट टीम के सिटी मैनेजर सौरभ कुमार से ली. उन्होंने बताया कि मेन रोड में जो ई-रिक्शा चल रहे हैं, उनमें से ज्यादातर को परमिट नहीं मिली है. उन्होंने बताया कि निगम ने अल्बर्ट एक्का चौक से राजेंद्र चौक तक कुल 60 ई-रिक्शा चालकों को रूट पास जारी किया हुआ है. इसके बावजूद इस रूट पर 300 से अधिक ई-रिक्शा प्रतिदिन चल रहे हैं. वहीं, जब अल्बर्ट एक्का चौक पर खड़े ई-रिक्शा चालकों से न्यूज विंग संवाददाता ने रूट पास दिखाने का आग्रह किया, तो कई चालकों ने इसका जवाब देना उचित नहीं समझा. कुछ ने तो यह तक कह दिया कि ट्रैफिक पुलिस से बात हो चुकी है.

इसे भी पढ़ें- पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी की सुरक्षा से खिलवाड़ कर रही राज्य सरकार : झाविमो

वसूलते हैं मनमाना किराया

ई-रिक्शा संचालकों के लिए अब तक किसी तरह की गाइडलाइन नहीं बनी है. इस वजह से शहर में मनमर्जी से ई-रिक्शा चल रहे हैं. इनमें से ज्यादातर के पास न तो वैलिड लाइसेंस है और न ही परमिट, फिर भी वे पैसेंजर्स से मनमाना किराया भी वसूलते हैं. जिस रूट का किराया पांच रुपये है, वहां के लिए वे 10 से 20 रुपये तक वसूल रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- देखें वीडियो : कैसे मामा ने भरी गोली और भांजे ने किया फायर, धनबाद एसएसपी ने कहा होगी कार्रवाई

जुर्माने का भी कोई असर नहीं

निगम के सिटी मैनेजर ने इन ई-रिक्शा चालकों पर की गयी कार्रवाई के सवाल पर कहा कि ऐसा नहीं है कि निगम की एन्फोर्समेंट टीम इन रूट पर चल रहे बिना रूट पास वाले ई-रिक्शा पर कोई कार्रवाई नहीं की है. समय-समय पर टीम अभियान चलाकर ऐसे चालकों पर कार्रवाई भी करती रही है. सितंबर तक इन ई-रिक्शा चालकों से करीब 18 लाख रुपये से अधिक की राशि वसूली जा चुकी है. इस जुर्माने का भी ऐसे ई-रिक्शा चालकों पर कोई असर नहीं हो रहा है. जुर्माने के बावजूद ये नहीं सुधर रहे हैं. अभी भी इस रूट पर बिना परमिट के कई ई-रिक्शा चल रहे हैं, जो चिंता का विषय है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: