JharkhandRanchi

पहाड़ पर भी घर हो तो 2022 तक पहुंचा देंगे पीने का पानी, अब तक दिये साढ़े 10 लाख घर : रघुवर दास

विज्ञापन

Ranchi : मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मंगलवार को जुडको द्वारा सौंदर्यीकृत करमटोली तालाब और प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत बने जी प्लस थ्री बिल्डिंग का उद्घाटन किया. साथ ही रांची शहरी जलापूर्ति योजना का शिलान्यास भी किया.

इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि 2022 तक देश के सभी लोगों को आवास मुहैया हो पाये, इस दिशा में डबल इंजन की सरकार काम कर रही है.

सीएम ने कहा- झारखंड में हमारी सरकार ने साढ़े चार सालों में 10 लाख 44 हजार 721 लोगों को विभिन्न योजनाओं के तहत  आवास मुहैया करा दिया है. 2022 तक हम सभी घरों में पीने का पानी पहुंचा देंगे. घर अगर पहाड़ पर भी होगा तो हम पीने का पानी वहां पहुंचा देंगे.

2014 में जब एक गरीब आदमी प्रधानमंत्री बना तो उसके बाद की सभी योजनाओं के केंद्र में गरीब ही रहे. उससे पहले जिस गरीब के नाम पर वर्षों राजनीति हुई उनकी बुनियादी सुविधाओं को गंभीरता से नहीं लिया गया.

बता दें कि रांची शहरी जलापूर्ति योजना का कुल बजट 266.13 करोड़ है जिसे 24 महीने में पूरा कर लिया जाना है. इसके तहत 55 हजार 310 घरों में जलापूर्ति करायी जायेगी.

कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के लाभुकों को सांकेतिक रूप से आवांटन पत्र भी सौंपा गया.

इसे भी पढ़ें : #JSCA की घर वापसी, 14 साल के बाद जमशेदपुर में AGM, कीनन स्टेडियम के लौट सकते हैं पुराने दिन

इन योजनाओं के तहत दिये गये हैं आवास

पहाड़ पर भी घर हो तो 2022 तक पहुंचा देंगे पीने का पानी, अब तक दिये साढ़े 10 लाख घर : रघुवर दासमुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार 2024 तक सभी को पक्का मकान उपलब्ध कराने की दिशा में कार्य कर रही है, वहीं राज्य सरकार 2022 तक सभी गरीबों को आवास उपलब्ध कराने का लक्ष्य लेकर चल रही है.

2014 के बाद से अब तक शहरी क्षेत्र में निवास करने वाले एक लाख 88 हजार 758 घर का निर्माण हो चुका है.

आदिम जनजातियों को बिरसा मुंडा आवास योजना के तहत अब तक 11 हजार पक्का मकान, मछुआरा भाइयों को उनके कच्चे घर की जगह 9, 680 आवास, विधवा व बेसहारा बहनों को भीमराव अंबेडकर आवास योजना के तहत 23,850 आवास दिये गये.

ग्रामीण क्षेत्र के गरीबों को 8 लाख 11 हजार 427 आवास का निर्माण कर उन्हें बसाया गया. इस तरह विगत साढ़े 4 साल में वर्तमान सरकार ने 10 लाख 44 हजार 721 लोगों को आवास उपलब्ध कराया है.

इसे भी पढ़ें : #JPSC ने ले ली छठी सीमित सिविल सेवा परीक्षा, लेकिन 18 साल में नहीं ले पायी पहली परीक्षा

धुमकड़िया भवन का होगा निर्माण

मुख्यमंत्री ने कहा कि करम टोली क्षेत्र में जल्द 1.5 करोड़ की लागत से धुमकड़िया भवन निर्माण हेतु शिलान्यास किया जायेगा ताकि बाहर से आने वाले हमारे आदिवासी इस भवन में रह सकें.

हर गांव में मांझी स्थान निर्माण की योजना पर सरकार काम कर रही है. आदिवासियों की धरोहर सुरक्षित रहे. यह हमारा प्रयास है. सरना मसना स्थल को विकसित करने का काम हो रहा है.

हम उजाड़ते नहीं पुनर्वास करते हैं

नगर विकास मंत्री  सीपी सिंह ने कहा कि लोगों को आवास चाहिए, पानी चाहिए, पार्क चाहिए उस निमित्त काम हो रहा है. वर्तमान सरकार के पास विजन है, इच्छा शक्ति है, निर्णय लेने की क्षमता है, जिसका प्रतिफल है प्रेमनगर, चडरी और जेल तालाब के पास निवास करने वालों के लिए 180 फ्लैट का उद्घाटन.

वर्तमान सरकार किसी को उजाड़ती नहीं बल्कि पुनर्वास करती है. एचईसी क्षेत्र में झुग्गी झोपड़ी में रहनेवाले 8 हजार परिवार के लिए एचईसी से समझौता कर 8 हजार फ्लैट निर्माण की प्रक्रिया आरम्भ हो चुकी है.

इन्हें सांकेतिक रूप से दिया गया मकान

मुख्यमंत्री ने मौके पर रांची नगर निगम क्षेत्र में निवास करने वाले कौशिला देवी, फूलमनी लोहराइन, एतवा उरांव, शुकरा महली, महावीर उरांव. आदित्यपुर नगर निगम क्षेत्र की कामना कुमारी, मंजू देवी, सुनीता देवी, सुनीता देवी-2 और लोकेश बेहरा एवं जमशेदपुर नगर निगम क्षेत्र में निवास करने वाले रामलाल सोनकर, दिवाकर मिश्रा, सत्यनारायण सिंह, धीरेन साहू व अन्य को सांकेतिक तौर पर आवास आवंटन का प्रमाणपत्र सौंपा.

इसे भी पढ़ें : जमशेदपुर: सब्सिडियरी कंपनी स्टील स्ट्रिप्स पर टाटा मोटर्स के ब्लॉक क्लोजर का असर, 55 जूनियर ऑफिसर को इस्तीफा देने का आदेश

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close