JharkhandRanchi

गर्मी की दस्तक के साथ ही राजधानी में पेयजल संकट

Ranchi: राजधानी में गर्मी की दस्तक के साथ ही रांची नगर निगम क्षेत्र के कई वार्डों में पानी की किल्लत से लोग जूझने लगे हैं. इसे देखते हुए अब निगम के अधिकारी भी तैयारी में लग गये हैं. शनिवार को नगर आयुक्त निगम के आला अधिकारियों के साथ बैठक कर टैंकर से सभी वार्डों में पानी सप्लाई की जानकारी लेंगे. इस दौरान निगम के हाइट्रेंड डीप बोरिंग की जानकारी ली जाएगी. उसके बाद पानी की किल्लत वाले वार्डों के लिए एक चार्ट बनाया जाएगा, ताकि ड्राई जोन इलाकों में टैंकर से पानी पहुंचाने का काम किया जाए. वर्तमान में निगम के पास कुल 63 टैंकर हैं. इसके अतिरिक्त राज्य सभा सांसद महेश पोद्दार ने पहले ही निगम को कुल 13 टैंकर देने की बात कही है. इस तरह से सभी 53 वार्डों में 76 टैंकर से पानी की सप्लाई होगी.

इसे भी पढ़ें – बिजली कंपनी के अफसरों का वाहन प्रेम, चार से छह महीने में कर ली 36.45 लाख की सवारी

राजधानी के कई जोन हो जाते हैं ड्राई जोन घोषित

गर्मी आते ही राजधानी रांची का आधे से ज्यादा हिस्सा ड्राई जोन में कन्वर्ट हो जाता है. इसमें कांके रोड, मोरहाबादी, लालपुर, बरियातू, रातू रोड समेत कई घनी आबादी वाले इलाके शामिल हैं. ऐसे में इन इलाकों में पानी की समस्या अति विकराल रूप ले लेती है. इन इलाकों में ग्राउंड वाटर लेवल काफी नीचे चला जाता है. वहीं इस बार की गर्मी के पहले के संकेत को देखें, तो अभी से 53 वार्डों में कई इलाके ड्राई जोन घोषित हो चुके हैं. इनमें तुपुदाना, विद्यानगर, मधुकम, वार्ड 31, वार्ड 3 का एदलहातू, वार्ड 1 का कांके रोड प्रमुखता से शामिल हैं. वार्ड 34 में कई इलाकों में भी लोग अभी से ही पानी की किल्लत झेलने लगे हैं. पार्षद की मानें तो विद्यानगर, न्यूविद्या नगर, यमुना नगर, कृष्णानगर कॉलोनी में पानी की कमी दिखने लगी है. इन इलाकों में लगभग 200 घरों में पानी न के बराबर है.

इसे भी पढ़ें – पलामू: हत्या के आरोपी पिता-पुत्र की जमकर पिटायी, पुलिस ने बचायी जान

स्वास्थ्य नहीं जलापूर्ति शाखा को मिला जिम्मा

दूसरी तरफ इस बार गर्मी में विभिन्न वार्डों में टैंकर से पानी भेजने काम निगम की स्वास्थ्य शाखा नहीं बल्कि जलापूर्ति शाखा करेगी. इसके लिए जलापूर्ति शाखा के सिटी मैनेजर मृत्युजंय पांडेय को जिम्मा दिया गया है. मालूम हो कि पहले यह स्वास्थ्य शाखा के जिम्मे था. सूत्रों की मानें, तो हाल के दिनों में सफाई कार्यों में हुए कई विवादों को देखते हुए ही यह निर्णय लिया गया है.

इसे भी पढ़ें – पति ने थाने में की थी आत्महत्याः डर से नहीं किया केस, एक साल बाद शुरू हुआ विधवा पेंशन, आवास देने का वादा भी नहीं हुआ पूरा

7 जगहों पर है डीप बोरिंग हाईड्रेंट, भरा जाता है टैंकर

निगम के टैंकरों में पानी भरने के लिए राजधानी के 7 जगहों पर डीप बोरिंग कर हाइड्रेंट की व्यवस्था की गयी है. यह प्वाइंट बकरी बाजार स्टोर रूम, हरमू एमटीएस, संत जोन्स स्कूल, डोरंडा स्टोर, वेंडर मार्केट के पास, लटमा (सिंह मोड़ के पास), जयपाल सिंह स्टेडियम में बना हुआ है. शनिवार की बैठक में इस बात की जानकारी ली जाएगी कि इन हाइड्रेंट में कौन-कौन से खराब हैं. ताकि गर्मी के पहले ही इसे पूरी तरह से ठीक कर लिया जाए. मालूम हो कि गत वर्ष भी गर्मी शुरू होने के पहले ही निगम के बकरी बाजार स्टोर कार्यालय में हाइड्रेंट (डीप बोरिंग) ड्राई होने के बाद नया बोरिंग किया गया था. वहीं हरमू एमटीएस में बने डीप बोरिंग का डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय और स्वास्थ्य पदाधिकारी किरण कुमारी ने पहले ही निरीक्षण किया था. इसी तरह का निरीक्षण करने के बाद इसबार विभिन्न वार्डों के लिए एक चार्ट बनाया जाएगा. ताकि किल्लत वाले वार्डों को प्रमुखता दी जा सके.

इसे भी पढ़ें – पित्रोदा के बयान से कांग्रेस का किनारा, बीजेपी-कांग्रेस में जुबानी जंग तेज

Related Articles

Back to top button