JharkhandRanchi

PR ऑफिसर्स को ‘लौंडा’ कहते हैं DREAMLINE के अधिकारी, वेतन मांगने पर टर्मिनेट करने की धमकी

Ranchi : सरकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार करने के लिए सूचना एवं जनसंपर्क विभाग (IPRD) द्वारा बहाल किये गये ऑफिसरों को आउटसोर्सिंग कंपनी के अधिकारी ‘लौंडा’ कहते हैं. इतना ही नहीं, कई महीनों से बिना वेतन काम कर रहे ये ऑफिसर्स जब पैसे की मांग करते हैं तो कंपनी के लोग उन्हें टर्मिनेट करने की धमकी तक देते हैं.

इस बात का खुलासा कंपनी के लोगों और ऑफिसरों की बातचीत की ऑडियो रिकॉर्डिंग से हुआ है. ऐसे दो ऑडियो वायरल हो रहे हैं जिन्होंने DREAMLINE TECHNOLOGIES PVT LTD के लोगों के अनप्रोफेशनल रवैये को उजागर कर दिया है. इससे यह भी पता चलता है कि विभाग के सीनियर अधिकारी झूठ, लालच और डर का सहारा लेकर अपना काम निकालने में लगे हुए हैं.

इसे भी पढ़ें : झारखंड में बच्चा चोरी की अफवाह पर हो रही है लोगों की पिटाई, पिछले पांच दिनों में हुई सात लोगों की पिटाई

‘साला’ और ‘लौंडा’ जैसे संबोधन आम बात

25 सेकंड के एक ऑडियो में कंपनी के आदमी और लातेहार में पदस्थ ऑफिसर की बातचीत है. इसमें ‘साला’ और ‘लौंडा’ जैसे शब्द इतने नॉर्मल तरीके से इस्तेमाल हो रहे हैं जैसे उनकी बातचीत की शैली ही यही है. पढ़िये पूरी बातचीत :

कंपनी के व्यक्ति : वो साला ……..(नाम स्पष्ट नहीं) फोन कर रहा है हमको… तुम्हारे लातेहार में बाकी दोनों लौंडों को मिल गया है सैलरी?

ऑफिसर : नहीं.

कंपनी के व्यक्ति : तुम दोनों को भी नहीं मिला है?

ऑफिसर : नहीं.

कंपनी के व्यक्ति : क्या बात कर रहे हो, क्या नाम है दोनों का?

ऑफिसर : एक का नाम है …… (नाम स्पष्ट नहीं) और एपीआरओ है नेहा.

कंपनी के व्यक्ति : अच्छा अच्छा अच्छा… समझ गये.

इसे भी पढ़ें : SBI में खाता है, तैयार रहिए, लाइन में लगने के लिए, फ्रीज होगा एकाउंट, फिर भरना पड़ेगा केवाइसी

अंशुल सिन्हा ने कहा, ‘तुम्हें टर्मिनेट कर दूं तो…?’

दूसरा वायरल ऑडियो 5 मिनट 38 सेकंड का है जिसमें कंपनी के व्यक्ति अंशुल सिन्हा हजारीबाग में पदस्थ सोशल मीडिया एंड पब्लिसिटी ऑफिसर मोनिका से बात कर रहे हैं. बातचीत के दौरान मोनिका पैसे न आने की शिकायत करती हैं तो अंशुल उन्हें टर्मिनेट करने की धमकी देते हैं.

इस बातचीत में आइपीआरडी के अधिकारी अजय नाथ झा जी के लिखित आश्वासन का हवाला देते हुए मोनिका कहती हैं कि शनिवार को ही उनकी सैलरी आ जानी चाहिए थी सोमवार बीतने के बाद भी नहीं आयी. बातचीत के दौरान अंशुल झल्लाते हुए कहते हैं, “तो अजय सर को कॉल करके पूछो न, सैटरडे को क्यों नहीं आया!”

इतना ही नहीं बातचीत के दौरान बेहद सख्त लहजे में अंशुल सिन्हा, मोनिका को टर्मिनेट करने की धमकी भी देते हैं.

इस बीच खबर है कि कंपनी ने मंगलवार को डेढ़ महीने का वेतन भुगतान कर दिया है. अब कुल तीन महीने का वेतन बाकी रह गया है.

इसे भी पढ़ें : 15 दिनों तक चला बीएड एडमिशन काउंसलिंग, एक अरब से अधिक कमाने के बाद भी मात्र 3291 सीटें भरी

Related Articles

Back to top button