National

भारत में घुसा ड्रैगन ! पेंटागन की रिपोर्ट पर चीन को लताड़, विदेश मंत्रालय ने कहा- अवैध कब्जा मंजूर नहीं

New Delhi : अमेरिकी रक्षा विभाग (पेंटागन) की उस रिपोर्ट पर भारत ने कड़ा रूख अख्तियार किया है, जिसमें कहा गया था कि अरुणाचल प्रदेश से सटे इलाकों में चीन ने सौ मकानों का एक गांव बसाया है. इस पर भारत सरकार ने एक बार फिर स्पष्ट किया है कि न तो उसकी जमीन पर चीन की तरफ से किए गए गैरकानूनी कब्जे और न ही उसके अनुचित दावे को कभी स्वीकार किया जाएगा. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने साफ कर दिया कि भारत अपनी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता को बनाए रखने के लिए हरसंभव कदम भी उठा रहा है. भारत को इस रिपोर्ट के बारे में मालूम है और सरकार पूरी स्थिति पर करीबी नजर रखे हुए है.

जब बागची से पूछा गया कि अमेरिकी कांग्रेस में उसके रक्षा विभाग की तरफ से पेश रिपोर्ट के बारे में भारत सरकार का क्या कहना है. इस पर उन्होंने कहा, इस तरह की एक रिपोर्ट कुछ महीने पहले भी मीडिया में प्रकाशित हुई थी. हमने पहले भी बताया है कि सीमावर्ती इलाकों पर चीन ने दशकों पहले जो गैरकानूनी तरीके से कब्जा किया था, वहां चीन पहले भी निर्माण कार्य करता रहा है. भारत ने न तो चीन के गैरकानूनी कब्जे को स्वीकार किया है और न ही चीन के दावे को स्वीकार किया है. हम कूटनीतिक तौर पर इसका बेहद कड़ाई से विरोध करते रहे हैं और आगे भी करेंगे. साथ ही सरकार ने सीमावर्ती इलाकों में बुनियादी ढांचे के विकास का काम भी तेज कर दिया है.

अरिंदम बागची ने आगे कहा कि इन इलाकों में सड़कों, पुलों आदि के निर्माण का काम तेजी से हो रहा है ताकि वहां रहने वाले स्थानीय नागरिकों के लिए कनेक्टिविटी की सुविधा बेहतर हो सके. सरकार अरुणाचल प्रदेश समेत पूरे सीमावर्ती इलाकों में अपने नागरिकों को बेहतर जीवनयापन देने के लिए प्रतिबद्ध है.

Related Articles

Back to top button