न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

डॉ अजय ने कहा- आजसू व जेएमएम की तर्ज पर कांग्रेस करेगी ‘सरकार फेंको यात्रा’

174

Nitesh ojha

Ranchi: लोकसभा और विधानसभा चुनाव होने को ज्यादा समय नहीं बचा है. ऐसे में राज्य के कई पार्टियों ने जनता को अपनी तरफ खींचने के लिए अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं. इस कड़ी में विपक्षी महागठबंधन की सबसे बड़ी पार्टी जेएमएम ने “झारखंड संघर्ष यात्रा” और सत्ता दल के सहयोगी आजसू पार्टी ने “स्वराज स्वाभिमान यात्रा” का दूसरा चरण शुरू किया है. वहीं अगर कांग्रेस पार्टी की स्थिति देखी जाये, तो यह कहा जा सकता है कि पार्टी भी हाल के दिनों में लगातार कई प्रेसवार्ता कर भाजपा सरकार पर हमला बोल रही है. ऐसे में एक सवाल जरूर खड़ा होता है कि क्या कांग्रेस भी जनता के बीच जाने का कोई कार्यक्रम तय करेगी या प्रेस वार्ता के जरिये ही पार्टी राज्य की जनता से संपर्क बनाना चाहती है. जेएमएम और आजसू के राज्यव्यापी यात्रा की तरह कांग्रेस की भी किसी रणनीति के सवाल जब ‘न्यूज विंग’ रिपोर्टर ने डॉ अजय कुमार से बातचीत की. उनका साफ कहना था कि कांग्रेस पार्टी किसी एक नेता पर नहीं चलती है. अपने आगामी गुमला यात्रा का जिक्र करते हुए कहा कि आप चाहे तो इसे “सरकार फेंको यात्रा” कह सकते है. वहीं पार्टी के नीति पर प्रकाश डालते हुए कहा कि संगठन की मजबूती के लिए कांग्रेस ने शुरू से ही इस विश्वास पर काम किया है कि स्थानीय नेताओं को आगे बढ़ाने के साथ विकेंद्रीकरण की नीति पर काम किया जाये. इसी नीति पर पार्टी जनता से संपर्क बनाने को लगातार प्रयासरत है. जहां तक चुनावी माहौल की बात है, तो छठ पर्व के बाद अपने क्षेत्र के सभी सीनियर लीडरों को एक विशेष दायित्व देने की तैयारी है. इसके लिए पार्टी प्रभारी आरपीएन सिंह राज्य दौरे पर आने वाले हैं.

इसे भी पढ़ें : नाबालिग दे रहे हैं लूट, हत्या, दुष्कर्म जैसी घटनाओं को अंजाम, तीन सालों में बढ़े बाल कैदी

स्थानीय नेताओं को बढ़ा जनता से संपर्क की नीति पर काम करती है कांग्रेस

प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार ने कहा कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष होने के नाते हाल के दिनों में उन्होंने कई जिलों का दौरा किया है. इसी कड़ी में उनकी कई प्रस्तावित यात्रा भी शुरू होने वाली है. आगामी 3 नवंबर को वे गुमला जाने वाले हैं. अगर आप चाहे तो इस यात्रा को ‘सरकार फेंको यात्रा’ नाम दे सकते हैं. इसी तरह 4 नवंबर को प्रस्तावित धनबाद यात्रा को भी ‘संघर्ष यात्रा’ का नाम दिया जा सकता है. उन्होंने कहा कि इस विश्वास पर कांग्रेस काम करती है कि क्षेत्र के स्थानीय नेताओं को आगे बढ़ा कर जनता के साथ संपर्क किया जाये. इससे उस क्षेत्र के ज्यादा से ज्यादा जनता पर कांग्रेस का प्रभाव पड़ेगा. पार्टी के कई सीनियर लीडर (सुबोधकांत सहाय, फुरकान अंसारी, सुखदेव भगत, रामेश्वर उरांव) लगातार अपने क्षेत्र में यात्रा कर जनता के संपर्क में है.

इसे भी पढ़ें : ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट को लेकर कोलकाता में रोड शो

विक्रेंदीकरण की नीति पर पार्टी करती है काम

झामुमो और आजसू की यात्रा पर किसी तरह की कोई टिप्पणी न करते हुए भी उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी किसी एक नेता के नेतृत्व में नहीं चलती है. संगठन के मजबूती के लिए वे और पार्टी नेता हमेशा ही क्षेत्र में घुमते रहते हैं. पार्टी के पास राज्य स्तर पर कई बड़े-बड़े प्रभावशाली नेता हैं. ऐसे कद्दावर नेता को अपने क्षेत्र में बड़ी जिम्मेवारी देने के लिए छठ के बाद पार्टी प्रभारी आरपीएन सिंह राज्य दौरे पर आने वाले हैं. उनके दिये निर्देश के बाद पार्टी ऐसे नेताओं का इस्तेमाल जनता से संपर्क करने के लिए करेगी. दरअसल ऐसा करने के पीछे का मुख्य उद्देश्य कार्यों का विकेंद्रीकरण है, ताकि संगठन मजबूत हो सके.

इसे भी पढ़ें : चाईबासा अब विकास की राह पर : रघुवर दास

चुनावी माहौल को देख पार्टी नहीं करती काम: राजेश ठाकुर

जेएमएम और आजसू की यात्रा के सवाल पर पार्टी के मीडिया प्रभारी राजेश ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस केवल चुनावी माहौल को देखते हुए कोई काम नहीं करती है. हाल के दिनों में भी पार्टी ने पेट्रोल की मूल्य वृद्धि, बढ़ती आपराधिक घटनाओं, मंहगाई तो लेकर राज्यव्यापी धरना प्रदर्शन किया है, ताकि सरकार की नीतियों को जनता के समक्ष लाया जाये. उन्होंने कहा कि इसी तरह आगामी नवंबर माह से भी राज्य के सभी पांचों प्रमंडल में रैली और जनसंवाद के माध्यम से कांग्रेस पार्टी सरकार विरोधी नीतियों के खिलाफ अभियान चलायेगी. इसकी तिथि जल्द ही बता दी जायेगी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: