न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आसनसोलः कोयला कर्मियों को दुर्गा पूजा के अवसर पर मिलने वाले बोनस को लेकर संशय की स्थिति

1,688

ASANSOL: कोयला उद्योग में कार्यरत करीब 2.85 लाख मजदूरों को दुर्गा पूजा के अवसर पर मिलने वाला बोनस को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है. 14 सितंबर को ही बोनस पर निर्णय होना था. परंतु निर्णय नहीं हो सका. इधर एफडीआई को लेकर भारतीय मजदूर संघ ने 23 से लेकर 27 सितंबर तक पांच दिवसीय हड़ताल और संयुक्त मोर्चा एटक, इंटक, एचएमएस, सीटू ने 24 सितंबर को एक दिवसीय हड़ताल की घोषणा की है.

इस हड़ताल में कोयला मजदूरों के बोनस का मामला फंस गया है. मजदूर संगठनों की ओर से इस बार एक्स्ग्रेसीया के रूप में 70 हजार रुपये की मांग की जाएगी. यूनियन नेताओं का कहना है की पिछले वर्ष कोल इंडिया को 17462 करोड़ रुपया का मुनाफा हुआ था. जिसमें कोयला कर्मियों को बोनस के रूप में 60, 500 रुपये दिये गये थे. लेकिन इस बार बोनस को लेकर कोई सुगबुगाहट अभी तक नहीं है.

Mayfair 2-1-2020

इसे भी पढ़ेंः आसनसोलः #FDI श्रमिक संगठनों की हड़ताल को विफल करने में जुटा प्रबंधन

हड़ताल से अटका है बोनस का मामला

कोयला कर्मियों का कहना है कि हड़ताल के चक्कर में मजदूरों का बोनस ठंडे बस्ते में पड़ गया है. उनका कहना है की सरकार हड़ताल को लेकर कोयला कर्मियों का बोनस ना लटका दे. रेलवे कर्मियों का बोनस सोमवार से उनके खाते में आना शुरू हो जायेगा. बोनस का इंतजार सिर्फ कोल कर्मी ही नहीं बल्कि बाजार के  लोग भी कर रहे हैं.

एचएमएस नेता शिवकांत पांडेय ने कहा की बोनस को लेकर फिलहाल कोई बैठक होने की संभावना नहीं है. 24 को होनेवाली हड़ताल के बाद ही कुछ कहा जा सकता है. कहा की कोल इंडिया प्रबंधन की ओर से भी कोई पहल अभी तक नहीं की गयी है. बोनस को लेकर वर्ष 2011 में 10 अक्टूबर को ऐतिहासिक हड़ताल की गई थी तब जाकर बोनस मिला था.

Vision House 17/01/2020

इसे भी पढ़ेंः 70-80 रुपये किलो पहुंचा प्याज, स्टॉक की सीमा तय करने पर विचार कर रही है सरकार

Ranchi Police 11/1/2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like