Lead NewsNational

आज रात को मिस ना करें आसमान में प्रकृति की दिलकश आतिशबाजी का अद्भुत नजारा

यह इस वर्ष की सबसे बड़ी उल्का पिंड बौछार होगी

 

New delhi : प्रकृति भी कभी कभी खूबसूरत नजारे आसमान में दिखाती है आज रात को भी आप आसमान में मनमोहक नजारों का लुत्फ उठा सकते हैं. रविवार रात और सोमवार को आतिशबाजी से आकाश जगमगा (fireworks on the sky tonight) उठेगा. दरअसल 13 दिसंबर और 14 दिसंबर को आसमान पर उल्का पिंडों (Meteorite) की बौछार होगी. उल्का पिंडों (shooting star) की बौछार से ऐसा लगेगा जैसे आसमान में आतिशबाजी हो रही है.

इसे भी पढ़ें :रांची विवि: कैंपस सेलेक्शन से एक साल में 333 स्टूडेंट्स को मिली नौकरी

ram janam hospital
Catalyst IAS

देश हर कोने से ले सकेंगे आतिशबाजी का नजारा

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

एम पी बिड़ला तारामंडल के निदेशक देवीप्रसाद दुआरी ने बताया कि ‘जैमिनिड’ के नाम से जानी जाने वाली उल्का पिंडों की यह बौछार 13 दिसंबर की रात को चरम पर होगी. यह वर्ष की सबसे बड़ी उल्का पिंड बौछार होगी.यदि आज आसमान साफ रहेगा तो जेमिनिड उल्का पिंड बौछार को भारत के हर हिस्से से देखा जा सकेगा. उल्का पिंड चमकदार रोशनी की जगमगाती धारियां होती हैं, जिन्हें अक्सर रात में आसमान में देखा जा सकता है. इन्हें ‘शूटिंग स्टार’ भी कहा जाता है.

कैसे और क्यों होती है आसमान पर आतिशबाजी

एम पी बिड़ला तारामंडल के निदेशक देवीप्रसाद दुआरी ने बताया कि वास्तव में, जब धूल के कण जितनी छोटी एक चट्टानी वस्तु बेहद तेज गति से पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश करती है, तो घर्षण के कारण प्रकाश की खूबसूरत धारी बनती है. साल की एक निश्चित अवधि में आकाश की निश्चित दिशा से आते एक नहीं, बल्कि कई उल्का पिंड देखने को मिलते हैं, जिन्हें उल्का पिंड बौछार कहा जाता है.

इसे भी पढ़ें :‘टाइम स्क्वॉयर’ के नाम पर बर्बाद कर दिये जनता के 22 करोड़ रुपये

कब होती है उल्का पिंडों की बौछार

उल्का पिंडों की बौछार अकसर उस समय होती है, जब पृथ्वी विभिन्न उल्का तारों के सूरज के निकट जाने के बाद छोड़ी गई धूल के बचे मलबे से गुजरती है. इनमें से जेमिनिड उल्का पिंड बौछार सबसे शानदार उल्का पिंड बौछारों में से एक होती है. हर बौछार हर साल दिसंबर के दूसरे सप्ताह के आस-पास दिखाई देती है. दुआरी ने बताया कि इस साल पूर्वानुमान है कि आसमान साफ होने के कारण प्रति घंटे 150 उल्का पिंछों की बौछार दिख सकती है.

इसे भी पढ़ें :चतरा : पुलिस ने दो क्विंटल 25 किलो गांजा बरामद किया, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत 10 लाख के करीब

Related Articles

Back to top button