JharkhandRanchi

नयी एडवाइजरी की वजह से पता नहीं महाराष्ट्र के किस स्टेशन में फंसे हैं झारखंड के 1500 मजदूर :  हेमंत

विज्ञापन

Ranchi : मजदूरों की घऱ वापसी के लिए चल रही श्रमिक ट्रेनों के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने नयी एडवाइजरी जारी की है. इस एजवाइजरी से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन असहमत दिख रहे हैं.

उन्होंने कहा है कि इस नयी एडवाइजरी से राज्य के फंसे मजदूरों को घर वापसी कराने में परेशानी हो रही है. प्रोजेक्ट भवन में मीडिया से बातचीत में हेमंत ने महाराष्ट्र राज्य में फंसे उस ट्रेन की बात की है, जिसमें झारखंड के करीब 1500 मजदूर बैठे हैं.

advt

सीएम सोरेन ने कहा कि नयी एडवाइजरी के तहत झारखंड के लिए चली उक्त ट्रेन महाराष्ट्र के किसी स्टेशन में पिछले 8 से 10 घंटों से फंसी है. वहां पर मजदूरों को ना खाना मिल पा रहा है न ही पानी.

इसे भी पढ़ें – #Latehar: सुर्खियों में रही है डोंकी पंचायत, जहां से आया है कथित भूख से मौत का मामला

रेलवे तय करेगा श्रमिक ट्रेनों का संचालन, लेकिन गृह मंत्रालय से लेनी होगी अनुमति

सीएम ने कहा कि केंद्र ने राज्य सरकारों के लिए जो नयी एडवाइजरी जारी की है वह इस विकट परिस्थिति में सही नहीं है.

adv

बता दें कि इस एडवाइजरी के तहत चल रही सभी श्रमिक ट्रेनों का संचालन रेलवे मंत्रालय करेगा, लेकिन इसके लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय से चर्चा करनी होगी.

सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को नोडल अधिकारियों की नियुक्ति करनी होगी, जो मजदूरों के आने-जाने की व्यवस्था देखेंगे. ट्रेनों का समय, स्टॉपेज रेल मंत्रालय ही तय करेगा.

इसे भी पढ़ें –#Corona: 22 मई को हजारीबाग के 7 लोगों समेत कुल 15 नये कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले, झारखंड में संक्रमण के केस हुए 323

फंसे मजदूरों के लिए बेहतर रास्ता तलाशने पर होगी बात

सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य सरकार को इन फंसे मजदूरों की काफी चिंता है. राज्य के आला अधिकारी लगातार केंद्र सरकार के अधिकारियों के संपर्क में है.

सरकार की पूरी कोशिश है कि देश में कहीं भी फंसे झारखंडी प्रवासी मजदूरों को घऱ लाया जाये. लेकिन इस एडवाइजरी के कारण कुछ परेशानी भी है. एडवाइजरी का असर सही होता नहीं दिख रहा है.

सीएम ने कहा कि राज्य सरकार शनिवार को एक बार फिर केंद्र से बातचीत करेगी, ताकि फंसे मजदूरों के लिए कोई बेहतर रास्ता तलाश की जाये.

इसे भी पढ़ें – दिल्ली हाई कोर्ट से मधु कोड़ा को झटका, चुनाव लड़ने पर लगायी पाबंदी

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close