न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भारत दौरे के दौरान PM मोदी से धार्मिक स्वतंत्रता पर बात करेंगे डोनाल्ड ट्रंप, #CAA_NRC पर US चिंतित

901

Washington: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 24 फरवरी को भारत आने वाले हैं. अपनी भारत यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष राष्ट्रपति ट्रंप धार्मिक स्वतंत्रता का मुद्दा उठाएंगे.

व्हाइट हाउस ने शुक्रवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि अमेरिका, भारत की लोकतांत्रिक परम्पराओं और संस्थानों का बहुत सम्मान करता है.

इसे भी पढ़ेंःजम्मू-कश्मीर: लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी मारे गये, हथियार, गोला-बारूद बरामद

धार्मिक आजादी पर होगी बात-व्हाइट हाउस

व्हाइट हाउस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कॉन्फ्रेंस कॉल में पत्रकारों को बताया कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और प्रधानमंत्री मोदी के बीच हमारी साझा लोकतांत्रिक परम्परा और धार्मिक आजादी के बारे में बात होगी. डोनाल्ड ट्रंप इन मुद्दों को उठाएंगे खासतौर से धार्मिक आजादी का मुद्दा, जो अमेरिका के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है.

व्हाइट हाउस के अधिकारी से संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) या राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) पर ट्रंप की प्रधानमंत्री से बात करने की योजना है या नहीं, इन सवालों के जवाब दे रहे थे.

अधिकारी ने बताया,‘हमारी सार्वभौमिक मूल्यों,कानून व्यवस्था को बरकरार रखने की साझा प्रतिबद्धता है. हम भारत की लोकतांत्रिक परम्पराओं और संस्थानों का बड़ा सम्मान करते हैं और हम भारत को उन परम्पराओं को बरकरार रखने के लिए प्रेरित करते रहेंगे.’

सीएए और एनआरसी पर चिंतित अमेरिका

अधिकारी ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) पर अमेरिका चिंतित है. ट्रंप अपनी यात्रा के दौरान धार्मिक स्वतंत्रता के साथ ही सीएए और एनआरसी का मुद्दा भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगे उठाएंगे. अधिकारी ने कहा कि दुनिया अपनी लोकतांत्रिक परम्पराओं, धार्मिक अल्पसंख्यकों का सम्मान बनाए रखने के लिए भारत की ओर देख रही है.

इसे भी पढ़ेंःबिहार: कुख्यात नक्सली नेता की 1.15 करोड़ की संपत्ति ED ने की कुर्क

अधिकारी ने कहा,‘जाहिर तौर पर भारतीय संविधान में धार्मिक स्वतंत्रता,धार्मिक अल्पसंख्यकों का सम्मान और सभी धर्मों से समान व्यवहार की बात है. यह राष्ट्रपति के लिए महत्वपूर्ण है और मुझे भरोसा है कि इस पर बात होगी.’

उन्होंने कहा कि भारत धार्मिक और भाषायी रूप से समृद्ध तथा सांस्कृतिक विविधता वाला देश है. यहां तक कि भारत दुनिया के चार बड़े धर्मों का उद्गमस्थल है.

वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने कहा,‘प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले साल चुनाव जीतने के बाद अपने पहले भाषण में इस बारे में बात की थी कि वह भारत के धार्मिक अल्पसंख्यकों को साथ लेकर चलने को प्राथमिकता देंगे. और निश्चित तौर पर दुनिया की निगाहें कानून व्यवस्था के तहत धार्मिक स्वतंत्रता बनाए रखने और सभी के साथ समान व्यवहार करने के लिए भारत पर टिकी है.’

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति ट्रंप और अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप का 24 और 25 फरवरी को अहमदाबाद, आगरा और नयी दिल्ली जाने का कार्यक्रम है. उनके स्वागत की जोरदार तैयारियां की गयी है.

इसे भी पढ़ेंः दिल्ली में #PM मोदी से मिले महाराष्ट्र के CM उद्धव ठाकरे, कहा, अच्छी मुलाकात रही, CAA से डरने की जरूरत नहीं   

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like