न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

डॉनल्ड ट्रंप की घोषणा, सीरिया में IS के खिलाफ अमेरिका की जीत, सैनिकों की  वापसी होगी   

कहा जा रहा है कि इस कदम से भू-राजनीतिक जटिलता पैदा होगी और अमेरिका समर्थित कुर्दिश लड़ाकों के भविष्य पर सवाल उठने लगेंगे जो कि इस्लामिक स्टेट के आतंकियों से वहां लड़ रहे हैं.  

1,143

Washington : अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने बुधवार को सीरिया में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट पर जीत की घोषणा की है.  इसके साथ ही अमेरिका ने सीरिया से अपने सैनिकों को वापस बुलाने की घोषणा कर दी है.  कहा जा रहा है कि इस कदम से भू-राजनीतिक जटिलता पैदा होगी और अमेरिका समर्थित कुर्दिश लड़ाकों के भविष्य पर सवाल उठने लगेंगे जो कि इस्लामिक स्टेट के आतंकियों से वहां लड़ रहे हैं.   ट्रंप ने ट्वीट किया, हमने सीरिया में इस्लामिक स्टेट को हरा दिया है, ट्रंप कैम्पेन के दौरान मेरे वहां जाने की एकमात्र वही वजह थी. अधिकारियों से जब पूछा गया कि क्या सीरिया से सैनिक बुला लिये जायेंगे तो उन्होंने कहा कि इस पर मंगलवार को फैसला लिया गया है;  लेकिन वे सैनिक कब आयेंगे इस बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गयी है. बता दें कि  मौजूदा समय में सीरिया में अमेरिका के 2,000 सैनिक मौजूद हैं, जिनमें से अधिकतर इस्लामिक स्टेट के खिलाफ लड़ाई में स्थानीय सैनिकों को प्रशिक्षण और सलाह देने के लिए मौजूद हैं.

हालांकि यह अभी साफ नहीं है कि अमेरिका अपने सभी 2,000 सैनिकों को वापस बुला रहा है या नहीं;  लेकिन अगर ऐसा हुआ तो इसका काफी दूरगामी असर होगा क्योंकि अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस और अन्य वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारी यह आशंका जताते रहे हैं कि अमेरिका के वहां से हटने के बाद आइएस फिर सिर उठा सकता है;

 सिक्योरिटी की वजह से हम ज्यादा जानकारी नहीं देंगे

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने इस संबंध में एक बयान जारी कर कहा, पांच साल पहले मध्यपूर्व में आइएस बहुत शक्तिशाली और खतरनाक ताकत था, लेकिन अब अमेरिका ने क्षेत्रीय खलीफा को हरा दिया है.  कहा कि आइएस पर यह जीत वैश्विक गठबंधन या उसके अभियान के खत्म होने का संकेत कतई नहीं है. कहा कि अमेरिका और हमारे सहयोगी जब भी जरूरी होगा अमेरिकी हितों की रक्षा के लिए सभी स्तरों पर फिर से उतरने के लिए तैयार हैं;  हम कट्टरपंथी इस्लामी आतंकियों को क्षेत्र, वित्त, समर्थन और हमारी सीमाओं में किसी भी तरह से घुसपैठ से रोकने के लिए मिलकर काम करते रहेंगे. रक्षा विभाग की मुख्य प्रवक्ता डाना डब्लू व्हाइट के अनुसार गठबंधन ने आइएस के कब्जे वाले क्षेत्र को मुक्त करा लिया है, लेकिन आइएस के खिलाफ अभियान खत्म नहीं हुआ है; सेना की सुरक्षा और ऑपरेशनल सिक्योरिटी की वजह से हम ज्यादा जानकारी नहीं देंगे.

 ट्रंप प्रशासन का अप्रत्याशित फैसला : वॉल स्ट्रीट जर्नल

अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल के अनुसार यह ट्रंप प्रशासन का अप्रत्याशित फैसला है. कई अमेरिकी सांसदों ने इस फैसले को गंभीर त्रुटि बताते हुए ट्रंप प्रशासन को चेताया है;  रिपब्लिकन सीनेटर मार्को रूबियो ने साफ कहा कि सीरिया से पूर्ण और तत्काल वापसी एक गंभीर त्रुटि है जिसका आइएस के खिलाफ लड़ाई के अलावा भी वृहत प्रभाव होगा; सीनेटर जीन शाहीन ने कहा, ‘राष्ट्रपति का ट्वीट खतरनाक, अपरिपक्व और सीरिया की जमीनी हकीकत व सैन्य सलाह के पूरी तरह विपरीत है। मैंने हमारे मिशन की समीक्षा के लिए सीरिया की यात्रा की है और हमारी सेना ने उम्मीद से बढि़या प्रदर्शन किया है.  उन्होंने कहा कि वह अपूर्ण जानकारी और जल्दबाजी में की जा रही सैन्य वापसी से बेहद चिंतित हैं क्योंकि इससे इससे आइएस और अन्य आतंकी समूहों को नया जीवन मिल जायेगा. आशंका जताई कि अमेरिकी नेतृत्व की भूमिका रूस, ईरान और सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद के पास चली जायेगी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: