JharkhandRanchi

डॉक्टरों पर हमला करनेवालों को 24 घंटे के भीतर करें गिरफ्तार : मुख्य सचिव

Ranchi: रांची जिला के रिंची अस्पताल में एक मरीज की मृत्यु के बाद तोड़फोड़ और डॉक्टर पर हमला किये जाने की घटना को शर्मनाक बताते हुए मुख्य सचिव डॉ डीके तिवारी ने रांची एसपी को 24 घंटे के अंदर आरोपियों को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि घटना को लेकर अगर स्थानीय थाना के पुलिसकर्मियों की लापरवाही सामने आती है तो उन पर भी कार्रवाई करें.

इसे भी पढ़ें – 30 सितंबर तक 14 लाख महिलाओं को उज्ज्वला योजना के अंतर्गत गैस कनेक्शन दें: मुख्यमंत्री

मुख्य सचिव ने कहा कि यदि किसी को शिकायत होती है, तो उसे कानून के तहत ही काम करना होगा. कानून व्यवस्था को हाथ में लेने की इजाजत किसी को नहीं दी जा सकती है. ऐसा करनेवालों के विरुद्ध प्रशासन कड़ाई से निपटे.

मुख्य सचिव ने इस संबंध में डीजी पुलिस केएन चौबे से बात कर कहा कि राज्य के चिकित्सकों को सुरक्षा दी जाये ताकि वे अपने कर्तव्यों का निष्पादन ठीक से कर सकें. साथ ही उन्होंने सभी डीसी-एसपी को भी यह निर्देश दिया है कि वह अपने-अपने जिले में ऐसी घटना दोबारा न घटे इसकी मुकम्मल व्यवस्था करें. उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि डॉक्टरों की सुरक्षा हर हाल में सुनिश्चित होनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें- कई माह से नहीं मिला मानदेय, आर्थिक तंगी झेल रहे पारा शिक्षक की मौत

क्या है मामला

नगड़ी का रहनेवाला आशुतोष पांडेय (21) गुरुवार को दोस्तों के साथ पतरातू डैम गया था. जहां नहाने के दौरान वह डूब गया. दोस्तों ने उसे गंभीर हालत में रिंची अस्पताल में भरती कराया. जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी. इस बात को लेकर परिजनों और डॉक्टरों के बीच विवाद हुआ. आक्रोशित लोगों ने अस्पताल में जम कर तोड़फोड़ की. 100 से 150 की संख्या में स्थानीय लोगों ने अस्पताल में घुस कर तोड़फोड़ की. डॉक्टरों के साथ मारपीट भी की. इसमें तीन डॉक्टरों को चोट लगी है. लोगों का गुस्सा ऐसा फूटा कि उन्होंने अस्पताल की खिड़की-दरवाजे तोड़ दिये. काउंटर को भी तोड़ दिया.

इसे भी पढ़ें – दस दिन विलंब से आया मानसून, 69 फीसदी कम हुई है बारिश

रिंची हॉस्पिटल में हुई मारपीट की घटना के बाद आक्रोशित डॉक्टरों के प्रतिनिधिमंडल ने एसएसपी आवास पहुंच कर एसएसपी से मुलाकात करने की कोशिश की, लेकिन उनसे मुलाकात नहीं हो सकी. जिसके बाद डॉक्टरों ने आइएमए भवन में बैठक की.

इसे भी पढ़ें – मुजफ्फरपुर : श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के पीछे 100 मानव कंकाल, जले हुए शव पाये गये,  सनसनी

Related Articles

Back to top button