न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पटना एम्‍स में काम पर लौटे डॉक्टर, अब सुरक्षा गार्ड की होगी तैनाती

11

Patna: एम्स में डॉक्‍टर काम पर वापस लौट आये हैं. सोमवार की सुबह से ही माहौल गरम था. डॉक्टरों ने कार्य बहिष्कार करने की घोषणा कर रखी थी. कहा जा रहा था कि डॉक्टरों की डिमांड को न प्रशासन सुन रहा था और न ही सरकार ही उस पर ध्यान दे रही थी. इससे मरीजों की स्थिति खराब हो रही थी. बताया जाता है कि डॉक्टरों की डिमांड को मान ली गयी है. उनकी सुरक्षा को लेकर प्रशासन की ओर से पटना एम्स में गार्ड मुहैया कराये जाएंगे. जानकारी के अनुसार इमरजेंसी वार्ड में अब सुरक्षा गार्ड तैनात रहेंगे. वहीं डॉक्टरों के चैंबर में भी सुरक्षा गार्डों की तैनाती की जाएगी. इसके बाद डॉक्टर माने और सोमवार की शाम में काम पर लौट आये.

इसे भी पढ़ें: शाह ब्रदर्स मामले में सरकार को हुआ 1365 करोड़ का नुकसान : डॉ अजय कुमार

छात्र नेता कन्हैया ने की थी डॉक्‍टरों के साथ बदसलूकी

दरअसल आपको याद होगा पिछल माह पटना एम्स में छात्र नेता कन्हैया को लेकर मामला बिगड़ गया था. डॉक्टरों का आरोप था कि इलाजरत एआईएसएफ के सुशील कुमार को देखने आये कन्हैया ने उनके साथ बदतमीजी की. इसके बाद मामला बढ़ा और यह सियासी रंग ले लिया. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने भी इस पर कड़ी आपत्ति जतायी. इतना ही नहीं, डॉक्टरों की मानें तो इसी तरह के मामले अन्य मरीजों के ​परिजनों के साथ भी होते रहते हैं. डॉक्टरों का कहना है कि अस्पताल के अंदर इमरजेंसी वार्डों व डॉक्टरों के चैंबरों में सुरक्षा गार्ड के नहीं रहने से किसी तरह की बात होने पर मारपीट की नौबत आ जाती है. इसके बाद सोमवार की सुबह डॉक्टरों ने कार्य बहिष्कार की घोषणा कर दी थी. इससे मरीजों की परेशानी बढ़ गयी थी.

इसे भी पढ़ें: धनतेरस पर बाबूलाल मरांडी ने रघुवर सरकार पर फोड़ा 5000 करोड़ का बम

क्‍यों हुआ कार्य बहिष्‍कार

इसकी जानकारी रेसिडेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ विनय कुमार ने खुद दी थी. सुबह में कहा था कि 3 दिन पहले इसे लेकर वे निदेशक को अपनी मांगों को लेकर मेमोरेंडम दिया था. लकिन कोई आश्वासन नहीं मिलने पर रेजिडेंट डॉक्टर कार्य का बहिष्कार करने का फैसला किया था. इसके तहत सभी डॉक्टर अपने अपने विभाग में मौजूद रहेंगे, मगर कार्य नहीं करेंगे, जब तक कि उनकी मांगों को लेकर पर विचार न किया जाए.

इसे भी पढ़ें: सृजन हेल्‍प संस्‍था ने बच्‍चों संग बांटी दिवाली की खुशियां

डॉक्‍टरों की सुरक्षा के लिए  पटना एम्‍स में सुरक्षा गार्ड की तैनाती

बहरहाल एम्स प्रशासन ने डॉक्टरों की मांग मान ली है. अब सुरक्षा गार्डों की तैनाती की बात उसने स्वीकार कर ली है. इमरजेंसी वार्डों और डॉक्टरों के चैंबरों में सुरक्षा गार्डों की तैनाती के आश्वासन का स्वागत करते हुए रेजिडेंट डॉक्टर काम पर लौट आए हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: