HEALTHJharkhandLead NewsRanchi

मांसपेशियों के दर्द को हल्के में ना लें, ओमिक्रोन वैरिएंट का यही एक लक्षण, रहें सतर्क

advt

Ranchi : कोरोना वायरस के इस नये वैरिएंट ओमिक्रोन की दस्तक के बाद विभाग अलर्ट हो गया है. वहीं टेस्टिंग की रफ्तार भी बढ़ाई गई है. इस बीच डॉक्टर लोगों को पहले से ज्यादा अलर्ट रहने की सलाह दे रहे हैं. चूंकि ओमिक्रोन का मसल्स में दर्द के अलावा कोई और लक्षण नहीं है. ऐसे में डॉक्टर बॉडी में किसी भी तरह का दर्द होने पर तत्काल डॉक्टर से कंसल्ट करने को कह रहे है. जिससे कि नए वेरिएंट को फैलने से रोका जा सके.

50 से ज्यादा म्यूटेशन

नए वेरिएंट के 50 से ज्यादा म्यूटेशन पाए गए है. इसमें स्पाइक प्रोटीन काफी अधिक है जिससे कि इंफेक्शन तेजी से बढ़ने लगता है. वहीं कैरियर को बीमार भी तेजी से करता है. इसलिए लोग किसी भी हाल में लक्षण मिलने पर टेस्ट जरूर कराए.

advt

मास्क सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी

कोरोना वायरस का इंफेक्शन रोकने के लिए मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग अब भी जरूरी है. सीसीएल गांधीनगर के माइक्रो बायोलॉजिस्ट डॉ जितेंद्र कुमार की माने तो कोविड-19 से बचने के लिए n95 मास्क ही कारगर है. लोग जिस तरह से सर्जिकल और कपड़े का मास्क इस्तेमाल कर रहे हैं वह वायरस को रोकने में उतना सक्षम नहीं है जितना n95. वहीं सोशल डिस्टेंसिंग से वायरस को फैलने से रोका जा सकता है.

रिम्स समेत तीन सेंटर तैयार

कोरोनावायरस का नया वेरिएंट आने के बाद हेल्थ डिपार्टमेंट अलर्ट हो गया है. वही राज्य के सबसे बड़े हॉस्पिटल रिम्स के अलावा सदर हॉस्पिटल और सीसीएल गांधीनगर को भी अलर्ट कर दिया गया है. जिससे कि कोई भी नया केस नए वेरिएंट के साथ पाया जाता है तो उसके इलाज की व्यवस्था की जाएगी. कोरोना की सेकंड वेब से सीख लेने के बाद इन हॉस्पिटलों में कोविड से निपटने के बेहतर इंतजाम कर लिए गए हैं.

advt

 

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: