JharkhandRanchi

बिना हेलमेट ना बाजार जाया करो, चालान कट जाएगा !

Ranchi: सीएम के काफिले पर हमला होने के बाद से राजधानी की पुलिस अलर्ट मोड में है. शहर में अब बिना हेलमेट के वाहन चलाने वाले लोग बहुत कम ही दिखाई दे रहे हैं. लोगों के मन में अब चालान को लेकर डर समा गया है. इसके साथ ही लोग घर आने वाले ऑनलाइन चालानों से भी डरे हुए हैं . हालात ये है कि अब दोपहिया वाहन में पीछे बैठने वाले लोग भी हेलेमेट पहने हुए ही नजर आते हैं. पहले तो ट्रैफिक पुलिसकर्मी लोगों को चेतावनी देकर छोड़ दे रहे थे लेकिन अब पुलिसकर्मी धड़ल्ले से चालान काट रहे हैं. बता दें डबल हेलमेट पहनने से सबसे ज्यादा परहेज महिलाएं ही करती रही हैं. महिलाओं द्वारा पुलिसकर्मियों के रोकने पर बहस करना आम बात हो गयी थी. इसके पीछे महिलाओं के तर्क देती थी कि हेलमेट के पहनने से उनके बाल खराब हो जाते हैं .

डबल हेलमेट की अनदेखी करने पर ट्रैफिक एसपी ने लगायी थी फटकार

जानकारी के अनुसार  ट्रैफिक एसपी ने डबल हेलमेट नियम की अनदेखी ना करने की की हिदायत दी थी. साथ ही इसके लिए पुलिसकर्मियों को फटकार भी लगाई थी. जिसके बाद अब राजधानी के चौक चौराहों पर बिना डबल हेलमेट पीछे बैठने वालों की संख्या ना के बराबर हो गयी है. यहां तक की अब पीछे बैठी महिलाएं भी हेलमेट के साथ ही नजर आ रही हैं जबकि शुरू में मलिाआएं डबल हेलमेट का विरोध करती थी.

इसे भी पढ़ें-  कोरोना टीकाकरण की शुरुआत 16 जनवरी, सभी तैयारियां मुकम्मल

advt

लोगों के पुलिस से उलझने के कई मामले आए सामने

सीएम के काफिले पर हुए हमले के बाद से बरती गयी कड़ाई के बाद कई ऐसे मामले भी सामने आए जिनमें लोग ट्रैफिक पुलिसकर्मीयों के साथ ही भीड़ गये. लेकिन इसके बाद भी पुलिस के काम करने के तेवर में कोई बदलाव नहीं आया. इनमें लालपूर चौक पर महिला के साथ ट्रैफिक पुलिसकर्मी का विवाद खासा चर्चा में रहा. इस विवाद के अंत में बहस करती महिला से परेशान होकर मौके पर तैनात पुलिसकर्मी को महिला पुलिस को बुलाना पड़ा था. जिसके बाद बहस करती दोनों महिलाओं को पुलिस अपने साथ थाने ले आयी थी.

लोगों से मिल रही है मिली-जुली प्रतिक्रिया

ट्रैफिक पुलिसकर्मियों का सख्ती के बाद से लोगों की मिली-जुली प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है. कई लोगों को पुलिस का सख्त होना पसंद आ रहा है. हालांकि इनमें ज्यादातर 40 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले लोग हैं. इनका कहना है कि अगर सड़क पर पुलिस सख्त रहे तो कई अपराधों को रोका जा सकता है. वहीं युवाओं को पुलिस का ये सख्त रवैया बिल्कुल भी पसंद नहीं आ रहा है. कुछ युवाओं से बात करने पर उन्होंने बताया कि पुलिस बस आम लोगों को ही परेशान करती है.

इसे भी पढ़ें-  Sunday Special: इस कंपनी में एक बार से अधिक टॉयलेट जाने पर कर्मचारियों को भरना पड़ता है जुर्माना, जानें क्यों ?

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: