न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जिला परिषद का निर्णय:  प्रत्येक सदस्य को विकास कार्य के लिए मिलेंगे 50 लाख रुपये

1,325

Dhanbad:  मंगलवार को जिला परिषद कार्यालय के सभागर में आयोजित जिप बोर्ड की बैठक में प्रत्येक जिप सदस्य को उनके क्षेत्र में विकास कार्यों के लिए 50 -50 लाख की राशि आवंटित करने का प्रस्ताव पारित कर लिया गया. यह राशि 2019-20 के लिए पारित हुई है. आज की बैठक 11 बजे जिला परिषद अध्यक्ष रोबिन चन्द्र गोराई की अध्यक्षता मे प्रारम्भ हुई. बैठक के शुरुआती दौर में जिप सदस्यों ने इस बात को लेकर हंगामा खड़ा कर दिया कि 3 सालो में अबतक एक भी विकास के कार्य उनके क्षेत्र में नहीं हुआ है. कई क्षेत्रों में स्ट्रीट लाइट, सड़क, नाली की समस्या अब भी है. इस भीषण गर्मी में लोगों को पानी मय्यसर नहीं हो रहा है. लोग कोसों दूर जाकर पानी लाने को विवश हैं.

इसे भी पढ़ेंः धनबादः बाइक सवार अपराधियों ने स्टेशन रोड में रिटायर्ड कर्मी से लूट लिये एक लाख

जलापूर्ति का दायित्व क्षेत्र के मुखिया पर

बैठक में उपस्थित हुए जिला परिषद के मुख्य कार्य पालक पदाधिकारी शशि रंजन ने इस विषय पर कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में जलापूर्ति का दायित्व उस क्षेत्र के मुखिया पर है. अगर मुखिया जलापूर्ति मामले में लोगों को राहत देने में अक्षम है तो इसके लिए मुखिया ही जिम्मेवार है. ग्रामीण क्षेत्र में जलापूर्ति की समस्या के निराकरण हेतु सरकार के द्वारा फंड सीधे मुखिया को ही दिया गया है.

इसे भी पढ़ेंः 495 एमबीबीएस व 496 बीडीएस कॉलेजों की 15 फीसदी सीटों के लिए कल से शुरू होगी काउंसलिंग

इन बिंदुओं पर बनी सहमति

आज की बैठक में दस बिंदुओं पर चर्चा के बाद एक दो बिंदुओं को छोड़ शेष बिंदु को सर्व सम्मति से पारित कर लिया गया. झरनापाड़ा, गोल्फ ग्राउंड, पुस्तकालय भवन के समीप अध्यक्ष भवन के सामने खाली पड़े भूखंड पर दुकान निर्माण, कर्मियों के बकाये मानदेय, पारिश्रमिक के भुगतान पर सहमति बनी. बैंक मोड़ सेंट्रल प्लाजा के संबंध में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के आलोक में अपील दायर करने के निर्णय को पारित कर लिया गया. बेकारबांध तालाब के जीर्णोद्धार के बाद जिला परिषद द्वारा वहां आय के स्रोत सृजित करने के प्रस्ताव पर मुहर लगी. वहीं सहायक अभियंता, कनीय अभियंता को दैनिक पारिश्रमिक पर रखने के विचार पर कोई सहमति नहीं बन पायी.

इसे भी पढ़ेंः धनबादः मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल को अदालत से राहत, एलईडी घोटाले का आरोप खारिज

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like