JharkhandLead NewsPalamu

पलामू में बढ़ते कोरोना के मामलों को लेकर जिला प्रशासन हुआ अलर्ट, अलग-अलग नोडल पदाधिकारियों को दी गई जिम्मेवारी

Palamu : जिले में कोरोना के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए कई स्तरों पर प्रयास किए जा रहे हैं. इसी क्रम में कोरोना के मरीजों के समुचित इलाज हेतु बेड, टेस्टिंग एंड ट्रैकिंग, ऑक्सीजन सिलेंडर, एंबुलेंस आदि की व्यवस्था सुदृढ़ करने को लेकर उपायुक्त शशि रंजन ने अलग-अलग नोडल पदाधिकारियों की नियुक्ति की है.

उपायुक्त ने जिला स्तरीय हॉस्पिटल बेड मैनेजमेंट हेतु उप निर्वाचन पदाधिकारी को नोडल ऑफिसर के रूप में नामित किया है.
उपायुक्त ने जिला स्तर पर सरकारी व निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए बेड की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिए उप निर्वाचन पदाधिकारी शैलेश कुमार सिंह को जिम्मेवारी सौंपी है.

उपायुक्त ने उप निर्वाचन पदाधिकारी को असैनिक शल्य चिकित्सक सह मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी पलामू के साथ समन्वय स्थापित करते हुए प्रभावित मरीजों के इलाज हेतु सरकारी एवं निजी अस्पतालों में आवश्यकतानुसार बेड उपलब्ध करवाने का निर्देश दिया है.

टेस्टिंग एंड ट्रैकिंग का जिम्मा सदर एसडीओ को

टेस्टिंग एंड ट्रैकिंग के लिए सदर एसडीओ राजेश कुमार साह को नोडल पदाधिकारी बनाया गया है. उपायुक्त ने एसडीओ को ससमय आवश्यकतानुसार मरीजों की ट्रैकिंग करने, उनका सैंपल कलेक्शन करने, सैंपल को लैब भेजवाने, सैंपल की जांच करवाने एवं जांच प्रतिवेदन मरीजों को उपलब्ध करवाने हेतु निर्देशित किया है. इसी तरह होम आइसोलेशन में रहे मरीजों की देखभाल की पूरी जिम्मेवारी डीआरडीए निदेशक स्मिता टोप्पो को दी गयी है.

advt

ऑक्सीजन की कालाबाजारी एवं जमाखोरी रोकने का निर्देश

कोरोना काल मे ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी एवं जमाखोरी होने की संभावनाओं के मद्देनजर उपायुक्त ने जिला आपूर्ति पदाधिकारी को नोडल ऑफिसर बनाया है.

उन्होंने डीएसओ को हर हाल में ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी रोकने, ऑक्सीजन सिलेंडर की आपुर्ति की समीक्षा एवं ऑक्सीजन आपूर्तिकर्ता से समन्वय बनाकर ऑक्सीजन की कमी नहीं होने देने का निर्देश दिया है.

इसी तरह डीसी ने एम्बुलेंस परिवहन हेतु जिला परिवहन पदाधिकारी एवं मोटरयान निरीक्षक को नोडल पदाधिकारी के रूप में नामित किया है. उन्होंने दोनों पदाधिकारियों को सरकारी एवं निजी अस्पतालों तथा संस्थाओं में उपलब्ध एंबुलेंस का आकलन कर कोविड 19 मरीजों के लिए चिन्हित करते हुए इसकी जानकारी जिला नियंत्रण कक्ष को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है.

एसी के कार्यालय कक्ष में होगा जिला नियंत्रण कक्ष का गठन

उपायुक्त ने अपर समाहर्ता को जिला नियंत्रण कक्ष के नोडल पदाधिकारी के रूप में नामित करते हुए उनको अपने कार्यालय कक्ष में कंट्रोल रूम का गठन करने का निर्देश दिया है.

वहीं समुचित प्रावधान हेतु जिला स्तर पर उप विकास आयुक्त शेखर जमुआर नोडल पदाधिकारी के रूप में नामित किया गया है. डीसी ने डीडीसी को सभी नोडल पदाधिकारियों से समन्वय स्थापित करते हुए कोविड-19 के समुचित प्रावधान हेतु आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया है.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: