DhanbadJharkhand

  नगर निगम के निर्देशों की अवहेलना कर तालाबों में मूर्तियों का विसर्जन, छठ के लिए फिर से करनी होगी सफाई

Dhanbad : प्रदूषण बोर्ड और नगर निगम के द्वारा दी गई चेतावनी के बावजूद मां दुर्गा की प्रतिमाएं, पूजन सामग्री को तालाबो में विसर्जित किया गया. जिस कारण शहर के सभी तालाबों की सूरत बिगड़ गयी है. बताया जाता है कि मूर्तियों के विसर्जन के लिए प्रदूषण विभाग और नगर निगम ने तालाबों में अलग से जगह बनायी गयी थी.

निर्धारित जगह पर ही मूर्तियों को विसर्जित करने का निर्देश दिया गया था. इसके बावजूद जहां-तहां मूर्तियों को विसर्जित किया गया, जिस कारण शहर के सभी तालाबों की सूरत बिगड़ गयी है. अब छठ के लिए नगर निगम को फिर से तालाबों की सफाई करवानी होगी.

इसे भी पढ़ें :  कौन बनेगा बेरमो विधायकः राजेंद्र सिंह, अनुप सिंह, बाटुल, लक्ष्मण नायक या मृगांक शेखर, लिस्ट लंबी है

सौंदर्यीकरण के काम पर फेरा पानी

धनबाद के बेकारबांध तालाब,  रानी बांध तालाब,  पंपू तालाब और कई तालाबों में प्रतिमाएं विसर्जित की गयी. इन तालाबों में मूर्ति विसर्जन के लिए कुछ जगह निर्धारित की गयी थी.  इसके लिए विभाग की ओर से सभी तालाबों के किनारे निर्देश चिपकाया गया था. निर्देश में निर्धारित जगह प्रतिमा विसर्जन करने के साथ-साथ पॉलिथिन का प्रयोग नहीं करने की बात कही गयी थी,  लेकिन पूजा कमेटियों ने इन निर्देशों की परवाह किये बिना ही इन तालाबों में मूर्तियों को विसर्जित किया. इनमें से कई तालाबों का हाल ही में सौंदर्यीकरण करवाया गया था. मूर्ति विसर्जन के कारण सौंदर्यीकरण के कार्य पर भी पलीता लग गया है.

इसे भी पढ़ें :  यौन शोषण पीड़िता का आरोप- #DhulluMahato के समर्थक मुझे सोशल मीडिया पर कर रहे बदनाम

छठ के लिए फिर से साफ कराये जायेंगे तालाब

उप नगर आयुक्त राजेश कुमार सिंह के अनुसार सभी पंडालों को निर्देश दिया कि जहां-तहां तालाबों में प्रतिमा विसर्जित नहीं करें. नगर निगम द्वारा चिह्नित स्थलों पर ही प्रतिमा विसर्जित करें,  लेकिन आस्था के नाम पर आदेश को धता बता दिया गया और जहां-तहां मूर्तियां विसर्जित कर दी गयीं. बताया जा रहा है कि नगर निगम अब फिर से छठ के लिए इन तालाबों की सफाई करवायेगा.

इसे भी पढ़ें : हाइकोर्ट ने 56 दागी जनप्रतिनिधियों का मांगा क्रिमिनल रेकॉर्ड

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: