Main SliderNational

#DishaCase: पुलिस #Encounter में मारे गये हैदराबाद गैंगरेप के चारों आरोपी

Hyderabad: हैदराबाद में सरकारी डॉक्‍टर के साथ गैंगरेप के चारों आरोपी मोहम्मद आरिफ, जोल्लू शिवा, जोल्लू नवीन और चिंतकुंता चेन्नाकेशवुलु पुलिस एनकाउंटर में मारे गये.

यह एनकाउंटर नेशनल हाइवे-44 के पास हुआ. गौरतलब है कि 27-28 नवंबर की रात को हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हैवानियत की वारदात को अंजाम दिया गया था.

पुलिस ने चारों आरोपियों को ढेर कर दिया है. बताया जा रहा है कि पुलिस जांच के लिए चारों को क्राइम सीन रीक्रिएट करने के लिए लेकर गयी थी. लेकिन आरोपियों ने वहां से भागने की कोशिश की जिसके बाद चारों को पुलिस ने एनकांउटर कर मार गिराया.

क्राइम सीन रीक्रिएट करने के लिए ले गयी थी पुलिस

पुलिस की एक टीम देर रात इन सभी चारों आरोपियों को घटना के रिक्रिएट के लिए लेकर गयी थी, ताकि यह पता चल सके कि आरोपियों ने पूरी घटना को कैसे अंजाम दिया था.

एनकाउंटर में मारे गये चारों आरोपी

लेकिन घटनास्थल पर पहुंचने के बाद चारों आरोपियों ने धुंध का फायदा उठाकर भागने की कोशिश की. पहले तो उनका पीछा करते हुए पुलिस अफसरों ने उन्हें रोकने की कोशिश की, लेकिन आरोपी नहीं माने जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गोली मार दी. शवों का पंचनामा किया जा रहा है और मौके पर भारी पुलिस बल तैनात है.

इसे भी पढ़ें- #UnnavRape: दुष्कर्म पीड़िता को एयरलिफ्ट करके ले जाया गया दिल्ली, सफदरजंग अस्पताल में भर्ती

14 दिन की न्यायिक हिरासत में थे आरोपी

पुलिस ने गैंगरेप की घटना को लेकर चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था. जिनके नाम मोहम्मद आरिफ, जोल्लू शिवा, जोल्लू नवीन और चिंतकुंता चेन्नाकेशवुलु हैं.

पुलिस ने आरोपियों को कोर्ट में पेश किया था, जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था. जिसके बाद पुलिस आरोपियों को सीन रिक्रिएट कराने के लिए लेकर गयी थी. इस दौरान पुलिस एनकाउंटर में चारों आरोपी मारे गये.

क्यों किया जाता है सीन रिक्रिएट

पुलिस सभी चारों आरोपियों को लेकर सीन रिक्रिएट के लिए पहुंची थी. पुलिस की ओर से सीन रिक्रिएट की कार्रवाई इसलिए की जाती है ताकि घटना की पूरी कड़ियों को जोड़ा जा सके और मौका ए वारदात के हर एंगल को जांचा परखा जा सके.

पुलिस की ओर से यह जांच अदालती कार्रवाई में भी महत्पवूर्ण होती है और परिस्थितिजन्य साक्ष्यों के लिहाज से भी इसे अहम माना जाता है.

इसे भी पढ़ें- जमानत पर जेल बाहर आया अपराधी संदीप थापा कर रहा है हटिया MLA नवीन जायसवाल के साथ चुनाव प्रचार

क्या है मामला

महिला डॉक्टर रात में अपने घर लौट रही थी, लेकिन उसकी स्कूटी पंचर हो गयी थी. जिसके बाद उसे अकेला देखकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया. महिला डॉक्टंर की रेप के बाद हत्या की गयी थी. जिसके बाद मामले की जांच करते हुए पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया था.

बताया जा रहा है कि 28 नवंबर की सुबह जब दूध बेचने वाले एस सत्यरम वहां से गुजरे तो उन्हें फ्लाइओवर के नीचे अधजली लाश मिली. ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस पहुंची.

पीड़िता को पंचर ठीक कराने का झांसा दिया था

पीड़िता की बाइक को कोठूर में पाया गया था. उसके नंबर प्लेट को निकाल लिया गया था. डॉक्टर का मोबाइल और पर्स भी गायब था.

परिवार वालों ने बताया कि महिला डॉक्टर घर लौट रही थी. साइबराबाद के डिप्टी पुलिस कमिश्नमर प्रकाश रेड्डी ने कहा, महिला डॉक्टर ने अपनी गाड़ी टोल प्लाजा के पास छोड़ दी थी. जिसके बाद आरोपियों ने पहले उसकी स्कूटी को पंचर किया और फिर बाद में उसे मदद का झांसा देकर उसके साथ रेप किया.

रेप की घटना को अंजाम देने के बाद चारों आरोपियों ने महिला की गला दबाकर हत्या कर दी. इतना ही नहीं उन्होंने हत्या के बाद शव को जलाकर पूल के नीचे फेंक दिया.

इसे भी पढ़ें- व्यक्तिगत स्वार्थ के लिए गिरायी जाती थीं सरकारें, रघुवर दास ने झारखंड को दी स्थिरता : संबित पात्रा

जब डॉक्टर वापस लौटीं तो देखा कि उसकी स्कूटी पंचर है. इसे लेकर उसने अपनी बहन को फोन किया और बताया कि उसे डर लग रहा है उसकी स्कूटी पंचर हो गयी है. जिसपर डॉक्टर की बहन ने कहा कि वह कैब करके घर आ जाये.

लेकिन उसी दौरान कुछ लोगों ने महिला को पंचर बनाने में मदद करने की बात कही और फिर आरोपी महिला को सुनसान जगह पर लेकर गये और उसके साथ रेप की घटना को अंजाम दिया. उन्होंने महिला डॉक्टर की गला दबाकर हत्या कर दी और फिर उसके शव को जला दिया.

Advt

One Comment

  1. 326683 589613Nice read, I just passed this onto a colleague who was performing a bit research on that. And he just bought me lunch since I located it for him smile So let me rephrase that: Thank you for lunch! 708072

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button