न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दिव्यांग अरुणिमा सिन्हा ने अंटार्कटिका की माउंट विन्सन चोटी पर तिरंगा लहराया, इतिहास रचा

दिव्यांग महिला अरुणिमा सिन्हा ने कृत्रिम पैर के सहारे गुरुवार को अंटार्कटिका की माउंट विन्सन चोटी पर तिरंगा लहराया. अरुणिमा सिन्हा अभी तक एवरेस्ट, किलीमंजारो, एल्ब्रूस, कास्टेन पिरामिड, किजाश्को और माउंट अंककागुआ पर्वत चोटियों पर फतह हासिल कर चुकी हैं

31

NewDelhi : दिव्यांग महिला अरुणिमा सिन्हा ने कृत्रिम पैर के सहारे गुरुवार को अंटार्कटिका की माउंट विन्सन चोटी पर तिरंगा लहराया. इससे पूर्व कृत्रिम पैर के सहारे अरुणिमा छह प्रमुख चोटियों पर फतह कर चुकी हैं.  अरुणिमा सिन्हा अभी तक एवरेस्ट, किलीमंजारो, एल्ब्रूस, कास्टेन पिरामिड, किजाश्को और माउंट अंककागुआ पर्वत चोटियों पर फतह हासिल कर चुकी हैं. इस क्रम में उन्होंने गुरुवार को माउंट विन्सन चोटी पर तिरंगा लहरा कर कामयाबी हासिल की. बता दें कि अरुणिमा दुनिया की पहली ऐसी दिव्यांग महिला हैं जिन्होंने अंटार्कटिका के सबसे ऊंचे शिखर माउंट विन्सन को फतह किया. अरुणिमा की कामयाबी पर पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि आपको इस नयी कामयाबी के लिए हार्दिक शुभकामनाएं. आप देश का गौरव है, जिन्होंने अपनी मेहनत के दम पर एक नया मुकाम हासिल किया. उज्जवल भविष्य के लिए आपको हार्दिक शुभकामनाएं.

अरुणिमा सिन्हा नेशनल लेवल की वॉलीबॉल प्लेयर थीं

अरुणिमा ने गुरुवार को ट्वीटर पर लिखा, आखिरकार इंतजार खत्म हुआ. दुनिया की पहली दिव्यांग महिला जो माउंट विन्सन चोटी पर पहुंची है आप सभी की दुआओं और प्यार के लिए शुक्रिया, जय हिंद. जानकारी के अनुसार अरुणिमा सिन्हा नेशनल लेवल की वॉलीबॉल प्लेयर थीं. लेकिन अप्रैल 2011 में लखनऊ से नयी दिल्ली के सफर में कुछ बदमाशों ने उन्हें चलती ट्रेन से धक्का दे दिया था. इस हादसे में उन्होंने अपना एक पैर गवां दिया था. सरकार अरुणिमा सिन्हा को पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित कर चुकी है.   

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: