न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आरोपः शिक्षिका को गाड़ी भेजकर घर बुलाते हैं बीएड कॉलेज के निदेशक, नहीं आने पर रोक दिया वेतन

1,787

Dhanbad: तथागत बीएड कॉलेज बरवाअड्डा के निदेशक अरुण कुमार वर्मा के खिलाफ धनबाद के महिला थाने में शिकायत की  गयी है. कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर कार्यरत शिक्षिका ने निदेशक अरुण कुमार वर्मा पर शारीरिक शोषण के प्रयास व मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया है. शनिवार को आरोपित निदेशक अरुण कुमार वर्मा को धनबाद महिला थाना में तलब किया गया था.

आरोपित निदेशक से थाना प्रभारी एम गुड़िया और शशि प्रभा टोप्पो ने पूछताछ की. लगभग चार घंटे चली पूछताछ के बाद आरोपित निदेशक को छोड़ दिया गया है. थाना प्रभारी एम गुड़िया ने बताया की लिखित शिकायत मिलने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुटी है. निदेशक और शिकायतकर्ता को एक साथ थाना में बुलाया गया. पूछताछ के बाद पुलिस की आगे की कार्रवाई जारी है.

Sport House

इसे भी पढ़ेंः पारंपरिक ग्राम प्रधानों को मिलेगी मासिक सम्मान राशि, पहली किश्त 12.19 करोड़ जारी

महीनों से प्रताड़ित कर रहे हैं निदेशकः शिक्षिका

शिकायत में पीड़िता ने बताया है कि कॉलेज निदेशक अरुण कुमार वर्मा पिछले कुछ महीनों से उसे प्रताड़ित कर रहे हैं. उन्होंने उसके शारीरिक शोषण का प्रयास भी किया. पीड़िता के विरोध करने पर उसे कॉलेज में सार्वजनिक रूप से अपमानित किया जाने लगा. लगातार हो रहे अपमान से त्रस्त पीड़िता ने कॉलेज जाना छोड़ दिया है.

इसे भी पढ़ेंः खूंटी : कोचांग ग्राम प्रधान की हत्या, आरोपियों की गिरफ्तारी में जुटी पुलिस

Vision House 17/01/2020

कुलपति से शिकायत कर चुकी है शिक्षिका

बीते 27 जून 2019 को महिला असिस्टेंट प्रोफेसर ने निदेशक अरुण कुमार वर्मा पर प्रताडऩा का आरोप लगाते हुए बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय के कुलपति एके श्रीवास्तव से शिकायत की थी. पीडि़ता ने विश्वविद्यालय कुलपति को बताया कि पिछले कुछ महीनों से कॉलेज के निदेशक उन्हें प्रताड़ित कर रहे हैं. विरोध करने पर उनके साथ दुर्व्यवहार किया गया.

पीडि़ता ने घटना की जानकारी अपने परिजनों को दी. बीते 15 मई को पीडि़ता के परिजन निदेशक से इस मामले में बातचीत करने के लिए कॉलेज पहुंचे. कॉलेज में निदेशक अरुण कुमार वर्मा ने न सिर्फ उनके साथ दुर्व्‍यवहार किया, बल्कि अपमानित करते हुए कॉलेज से तुरंत निकल जाने को कहा. इसके बाद निदेशक ने पीडि़ता के कॉलेज आने पर भी पाबंदी लगा दी.

Related Posts
SP Deoghar

इतना ही नहीं पीडि़ता को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी देते हुए निदेशक ने कहा कि वह उन्हें किसी भी कॉलेज में काम नहीं करने देंगे. सहमी पीडि़ता ने कॉलेज जाना छोड़ दिया है.

कुलपति को ऑडियो रिकॉर्डिंग भी सुनायी

पीडि़ता ने कुलपति एके श्रीवास्तव को एक ऑडियो रिकॉर्डिंग भी सुनायी. जिसमें आरोपित निदेशक पीडि़ता को अपनी गाड़ी से जबरन घर आने को कहते हैं और पीडि़ता टालने का प्रयास करती है. पीडि़ता ने बताया कि उसका वेतन भी रोक दिया गया है. पीडि़ता ने बताया कि निदेशक उन्हें फोन कर घर आने का दबाव बनाया करते थे.

जब उसने घर जाने से इन्कार कर दिया तब वे उन्होंने दुर्व्‍यवहार किया. कुलपति ने भी मामले को गंभीरता से लेते हुए अविलंब कार्रवाई करने का आश्वासन दिया. कुलपति ने मामले की जांच करने के लिए एक जांच कमेटी बनाने की बात कही थी.

क्या कहते हैं कुलपति

बीबीएमकेयू कुलपति एके श्रीवास्तव ने मीडिया से कहा कि  एक महिला शिक्षिका को प्रताडि़त करना गंभीर मामला है. विश्वविद्यालय एक कमिटी बनाकर पूरे मामले की जांच करायेंगे. जांच रिपोर्ट के आधार पर निदेशक पर कार्रवाई की जायेगी.

क्या कहते हैं निदेशक

इधर, तथागत बीएड कॉलेज के निदेशक अरुण कुमार वर्मा ने आरोपों को नकारा है. कहा कि  मेरे ऊपर लगाए गये आरोप गलत हैं. शिक्षिका ने झूठी शिकायत की है.

इसे भी पढ़ेंः कर्नाटक : इस्तीफा देने वाले 11 विधायक मुंबई के होटल सोफिटेल में, पांच-छह और विधायकों के इस्तीफे देने के कयास

Mayfair 2-1-2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like