Lead NewsNational

दिग्विजय सिंह का सिंधिया पर हमला: कांग्रेस के साथ की गद्दारी, एक-एक विधायक के 25-25 करोड़ लेकर पार्टी छोड़ी

New Delhi : अपने बड़बोलेपन और विवादित बयानों के लिए कुख्यात मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने कहा- इतिहास गवाह है कि एक व्यक्ति गद्दारी करता है, तो उसकी पीढ़ी दर पीढ़ी गद्दारी करती है.

वह शनिवार को जिले के मधुसूदनगढ़ में कार्यक्रम में पहुंचे थे. कांग्रेस की सरकार तो बन गई थी. सिंधिया जी चले गए छोड़कर और 25-25 करोड़ रुपए ले गए एक-एक विधायक का.

advt

इसे भी पढ़ें : BREAKING NEWS : जन्मदिन की पार्टी में जा रहे कोलकाता के दंपति की सड़क हादसे में मौत, बच्चा घायल

कांग्रेस के साथ गद्दारी की

कांग्रेस के साथ गद्दारी कर गए, इसका मैं क्या करूं. किसने सोचा था. जनता ने तो कांग्रेस की सरकार बनवा दी थी. इतिहास इस बात का साक्षी है. एक व्यक्ति गद्दारी करता है, तो उसकी पीढ़ी दर पीढ़ी गद्दारी पे गद्दारी करती है. तो भाई, सोच समझ के गद्दारी करना.

इसे भी पढ़ें : अरविंद केजरीवाल के घर के बाहर धरने पर बैठे नवजोत सिंह सिद्धू, लगाई आरोपों की झड़ी

सिंधिया पर किया पलटवार

दिग्विजय के इस बयान को सिंधिया की आमसभा के पलटवार के रूप में देखा जा रहा है. दरअसल, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शनिवार को पहली बार दिग्विजय के गृहनगर राघोगढ़ में सार्वजनिक सभा की. इससे पहले वह केवल एक बार किले पर पहुंचे थे, जब जयवर्धन सिंह ने उन्हें भोजन पर बुलाया था. सिंधिया ने सभा में अपने भाषण के दौरान एक बार भी न तो दिग्विजय सिंह का नाम लिया और न ही जयवर्धन सिंह का.

इसे भी पढ़ें : बिहार से 20 वर्षों बाद शहर पहुंचा बड़ा भाई, घर में घुसकर सभी को पीटा, मकान कब्जाया

दिग्विजय ने ली सभा

दिग्विजय सिंह शनिवार को मधुसूदनगढ़ इलाके के रघुनाथ गांव पहुंचे थे. पार्वती नदी पर बनने वाले बांध में यह गांव डूब में जा रहा है. इस सिलसिले में वह ग्रामीणों से मुलाकात करने पहुंचे थे. वहां ग्रामीणों के समर्थन में सभा का आयोजन किया गया था. आमसभा में यह मांग की गई है कि जिन किसानों की जमीन डूब में जा रही है, उन्हें सरकारी रेट से चार गुना अधिक मुआवजा दिया जाए.

 

पंचायत चुनाव पर बोले

दिग्विजय सिंह राजगढ़ भी पहुंचे. यहां उन्होंने पंचायत चुनाव की आरक्षण व्यवस्था पर सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने रोटेशन प्रणाली पर सवाल उठाते हुए कहा कि जो सीट महिलाओं के लिए आरक्षित थी, वही फिर से है, जबकि रोटेशन पद्धति के अनुसार एक तिहाई सीटों पर महिलाओं के लिए आरक्षण में बदलाव किया जाना था.

उन्होंने कहा- पंचायत चुनाव में पूर्ण रूप से कानूनी तौर पर गलत किया गया है. कानून में महिलाओं का आरक्षण रोटेशन से होता है, जो नहीं हुआ. अब जो पंचायत महिला के लिए आरक्षित हो गई, वो महिलाओं के लिए इस बार भी रहेगी, जो कानूनी तौर पर गलत है.

इसे भी पढ़ें : चतरा : रेड क्रॉस के समक्ष गहराया आर्थिक संकट, प्रति माह करीब एक लाख रुपये होते हैं खर्च

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: