Main SliderRanchi

क्या अपने कार्यक्रमों की वजह से आजसू की स्वाभिमान यात्रा में शामिल नहीं हुए मंत्री चंद्र प्रकाश चौधरी !

Akshay Kumar Jha

Ranchi: शीर्षक में जो लिखा है वो एक सवाल जरूर है. लेकिन सवाल से पहले यह एक जवाब है. वो भी मंत्री चंद्र प्रकाश चौधरी का. उन्होंने न्यूज विंग से बात करते हुए साफ कहा कि “ऐसा थोड़ी होता है…कर रहे हैं ना भाई…पार्टी का अध्यक्ष ही ऑल इन ऑल होता है… हमलोग का भी तो रोज कार्यक्रम हो ही रहा है… हम अपने कार्यक्रम में व्यस्त थे.” ऐसे जवाब के बाद सवाल यह खड़ा हो गया है कि क्या सही में अपने कार्यक्रमों में व्यस्त रहने की वजह से आजसू की स्वाभिमान यात्रा में शामिल नहीं हुए मंत्री चंद्र प्रकाश चौधरी? या फिर कोई और वजह है. वहीं इस सावल के जवाब में आजसू के केंद्रीय महासचिव और पूर्व विधायक सह मंत्री उमाकांत रजक का कहना है कि स्वराज स्वाभिमान यात्रा एक मंच पर खड़े हो कर होने वाला कार्यक्रम नहीं था. यह एक पद यात्रा थी. चंद्रप्रकाश चौधरी एक मंत्री हैं. ऐसे में मंत्री होने की वजह से उन्हें पद यात्रा करने में परेशानी होती. इसी वजह से वो यात्रा में शामिल नहीं हुए. गोमिया के उपचुनाव के वक्त लंबोदर महतो के लिए प्रचार करने में चंद्रप्रकाश चौधरी की भूमिका पर उमाकांत कहते हैं कि चुनावी सभा और ऐसी पद यात्रा वाले कार्यक्रम में फर्क होता है. मंत्री की एक मर्यादा और गरीमा है.

इसे भी पढ़ें- रामकृपाल कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड ने विधानसभा भवन में कई काम किये सबलेट

Catalyst IAS
ram janam hospital

2 अक्टूबर से स्वराज स्वाभिमान यात्रा पर निकले थे सुदेश

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

आजसू पार्टी के केंद्रीय अध़्यक्ष सुदेश कुमार महतो राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती पर 2 अक्टूबर से स्वराज स्वाभिमान यात्रा की शुरुआत किया था. इस यात्रा के दौरान पूरे राज्य के तीन सौ ब्लॉक और नगर पंचायतों के पांच हजार गांवों से गुजरते हुए दो हजार किलोमीटर की पदयात्रा और ढाई लाख लोगों से सीधा संवाद करने का कार्यक्रम था. पहले चरण में दो अक्तूबर को उन्होंने मांडू के हेसालौंग में झारखंड आंदोलनकारी जयंत गांगुली की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर वह यात्रा की शुरुआत की थी. मांडू से निकलने वाली यात्रा गोमिया, बेरमो, डुमरी, सिंदरी होते हुए 11 अक्तूबर को टुंडी पहुंची थी. 11 दिनों के पहले चरण में 11 प्रखण्ड, 55 पंचायत, 200 गांव होते हुए 150 किमी की पद यात्रा हुई थी.

इसे भी पढ़ें- इस औरत ने जो किया या कर सकती है, वह कोई मर्द भी नहीं कर सका : प्रो. रीता वर्मा

दूसरी यात्रा 27 अक्टूबर से कोल्हान में

आजसू पार्टी का स्वराज स्वाभिमान यात्रा का दूसरे चरण की यात्रा 27 अक्तुबर से कोल्हान से शुरू हुई. आजसू के केंद्रीय अध्यक्ष सह पूर्व उप मुख्यमंत्री सुदेश महतो 27 अक्टूबर को खरसावां के शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद स्वराज स्वाभिमान यात्रा की शुरुआत की. यह यात्रा 34 पंचायतों के 59 गांवों से होते हुए गुजरेगी. इस दौरान सुदेश महतो 92 किमी पैदल चलेंगे. स्वराज स्वाभिमान यात्रा को सफल बनाने को आजसू पार्टी की बैठक गुरुवार को खरसावां के पीडब्लूडी गेस्ट हाउस में हुई थी और पद यात्रा की रणनीति तय हुई थी. 27 अक्टूबर को खरसावां और कुचाई, 28 अक्टूबर को गोईलकेरा (मनोहरपुर विस), 29 और 30 अक्टूबर को चक्रधरपुर विधानसभा, 31 अक्तुबर को राजनगर (सरायकेला विस) और एक व दो नवंबर को ईचागढ़ विधानसभा.

इसे भी पढ़ें: डॉ अजय ने कहा- आजसू व जेएमएम की तर्ज पर कांग्रेस करेगी ‘सरकार फेंको यात्रा’

Related Articles

Back to top button