HEALTHJamtara

जामताड़ा सदर अस्पताल में डायलसिस केंद्र बंद, मरीजों की बढ़ी परेशानी

विज्ञापन
  • चार महीने पहले डायलिसिस के दौरान एक मरीज की हो गयी थी मौत
  • जांच के बाद डायलिसिस केंद्र को बंद करने का दिया गया था निर्देश

Jamtara : जामताड़ा सदर अस्पताल में संचालित डायलिसिस केंद्र के बंद होने से जिले के मरीजों को काफी परेशानी हो रही है. ऐसी हालत में जरूरत पड़ने पर मरीजों को अब चार गुना अधिक पैसे खर्च कर बाहर की दौड़ लगानी होगी. जिला बनने के 16 वर्ष बाद सदर अस्पताल में डायलिसिस केंद्र का संचालन शुरू हुआ था. लेकिन, महज कुछ ही दिनों बाद डायलिसिस केंद्र बंद हो गया. लोगों को केंद्र के संचालन से अनेकों लाभ मिलते थे. इस डायलिसिस केंद्र से कई दर्जन मरीजों को लाभ मिलता था. मरीज के परिजनों को आर्थिक के साथ-साथ मानसिक परेशानी से भी निजात मिलती थी. लेकिन, एक दुर्घटना के बाद केंद्र को बंद करना पड़ा, जिसे फिर से नहीं खोला गया.

इसे भी पढ़ें-RIMS: दो सालों से बेकार पड़ा 14 करोड़ का मल्टीस्टोरीड पार्किंग अब OPD कॉम्प्लेक्स के रूप में होगा विकसित

30 जून को एक मरीज की मौत के बाद केंद्र का संचालन हुआ बंद

बता दें कि 30 जून 2020 को यहां एक मरीज की मौत के बाद केंद्र का संचालन शिथिल पड़ गया. धीरे-धीरे प्रशासन की जांच आगे बढ़ी और केंद्र को बंद करने का निर्देश दिया गया. सदर अस्पताल में पीपीपी मोड पर डायलिसिस केंद्र का संचालन किया जा रहा था. संजीवनी प्राइवेट लिमिटेड की और से डायलिसिस केंद्र का संचालन किया जा रहा था. लेकिन, केंद्र में चिकित्सक नहीं रहने की वजह से 30 जून को तकनीशियन द्वारा डायलिसिस किया जा रहा था और उसी दौरान मरीज की मौत हो गयी थी. इस घटना की जांच के बाद प्रशासन ने डायलिसिस केंद्र को बंद करने का निर्देश दिया.

जिले के मरीजों को 80 से 100 किमी दूर जाकर करानी होगी डायलिसिस

अब जरूरतमंद मरीजों को 80 से 100 किमी दूर जाकर डायलिसिस करानी होगी. इससे मरीजों के साथ-साथ परिजनों को आर्थिक के साथ-साथ मानसिक परेशानी के दौर से गुजरना होगा. सदर अस्पताल में डायलिसिस केंद्र के बंद होने से अभी से ही दर्जनों मरीजों की परेशानी बढ़ गयी है. किसी-किसी मरीज को सप्ताह में दो से तीन दिन डायलिसिस करानी पड़ती थी, जो अब काफी खर्चीला हो जायेगा.

इसे भी पढ़ें- Ranchi: कोरोना मरीजों की कम होगी परेशानी, सदर अस्पताल में 79 बेड के कोविड सेंटर की शुरुआत

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button