न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धवन की पारी बेकार गयी, पहला टी-20 आॅस्ट्रेलिया के नाम

दूसरा टी20 23 नवंबर को मेलबर्न में खेला जाएगा

14

Brisbane : शिखर धवन की 76 रन की धमाकेदार पारी के बावजूद भारत को बारिश से प्रभावित पहले टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में बुधवार को यहां आस्ट्रेलिया से डकवर्थ लुईस पद्वति से चार रन से हार झेलनी पड़ी.
पहले बल्लेबाजी का न्यौता पाने वाले आस्ट्रेलिया ने जब 16.1 ओवर में तीन विकेट पर 153 रन बनाये थे तब तेज बारिश के कारण लगभग एक घंटे तक खेल नहीं हो पाया. इसके बाद मैच को 17-17 ओवर का कर दिया गया. आस्ट्रेलिया ने निर्धारित 17 ओवरों में चार विकेट पर 158 रन बनाये लेकिन भारत के सामने डकवर्थ लुईस पद्वति से 174 रन का लक्ष्य रखा गया.
धवन ने 42 गेंद की अपनी पारी में दस चौके और दो छक्के लगाये। मध्यक्रम लड़खड़ाने के बाद दिनेश कार्तिक (13 गेंदों पर 30) और ऋषभ पंत (15 गेंदों पर 20) ने पांचवें विकेट के लिये 51 रन जोड़े लेकिन अंतिम ओवर में जब 13 रन की दरकार थी तब दो विकेट गंवाने से भारत सात विकेट पर 169 रन तक ही पहुंच पाया और इस तरह से आस्ट्रेलिया तीन मैचों की श्रृंखला में 1-0 से बढ़त बनाने में सफल रहा.
आस्ट्रेलिया की जीत के नायक मार्कस स्टॉयनिस रहे जिन्होंने अंतिम ओवर में केवल आठ रन दिये और इस बीच क्रुणाल पंड्या और कार्तिक के विकेट लिये. इससे पहले उन्होंने 19 गेंदों पर नाबाद 33 रन की महत्वपूर्ण पारी भी खेली. उनके अलावा ग्लेन मैक्सवेल ने 25 गेंदों पर 46 रन बनाये जिसमें चार छक्के शामिल हैं. क्रिस लिन ने भी चार छक्कों की मदद से 20 गेंदों पर 37 रन ठोके.
भारतीय पारी शुरू से धवन के इर्द गिर्द घूमती रही. रोहित शर्मा (सात) शुरू से लय में नहीं दिखे. धवन ने रोहित को आउट करने वाले जैसन बेहरनडॉर्फ के खिलाफ आक्रामक रवैया अपनाया. बायें हाथ के इस तेज गेंदबाज के एक ओवर में उन्होंने स्क्वायर लेग पर छक्का और दो चौके लगाये और इस बीच 29 गेंदों पर अपने करियर का नौवां अर्धशतक पूरा किया. लेकिन इसके बाद आस्ट्रेलियाई गेंदबाज हावी हो गये.
केएल राहुल (12 गेंदों पर 13 रन) फिर से नाकाम रहे. स्पिनर एडम जंपा (22 रन देकर दो) ने उन्हें एलेक्स कैरी के हाथों स्टंप कराने के बाद कप्तान विराट कोहली (आठ गेंदों पर चार रन) को भी कैच कराया. जंपा ने अगर अपनी ही गेंद पर धवन का आसान कैच नहीं छोड़ा होता तो स्थिति और खराब हो सकती थी.
धवन हालांकि इसके बाद ज्यादा देर तक नहीं टिके. बिली स्टैनलेक की गेंद पर स्क्वायर लेग पर उन्होंने छक्का जमाया. इसके बाद उनका कैच छूटा लेकिन अगली गेंद पर वह थर्ड मैन पर कैच दे बैठे. धवन ने अपनी पारी में दस चौके और दो छक्के लगाये.
भारत को आखिरी चार ओवर में 60 रन चाहिए थे. ऐसे में पंत और कार्तिक ने एंड्रयू टाई के ओवर में 25 रन बटोरे. मैक्सवेल ने कार्तिक के शाट को कैच कर दिया लेकिन वह खुद को सीमा रेखा पार जाने से नहीं बचा पाये और गेंद भी सही समय पर हाथ से नहीं छोड़ी.
इससे मैच रोमांचक बन गया। 12 गेंद और 24 रन. कार्तिक ने चौका लगाया लेकिन पंत ने रिवर्स स्कूप करके कैच थमा दिया. कार्तिक ने फिर गेंद चार रन के लिये भेजी और भारत के सामने अंतिम ओवर में 13 रन का लक्ष्य मिल गया लेकिन स्टॉयनिस (27 रन देकर दो) इनका बचाव करने में सफल रहे.
इससे पहले भारत बीच के ओवरों में रनों पर अंकुश लगाने में नाकाम रहा. चाइनामैन कुलदीप यादव ने चार ओवर में 24 रन देकर दो विकेट लिये लेकिन बायें हाथ के स्पिनर क्रुणाल पंड्या ने चार ओवर में 55 लुटा दिये. साफ लग रहा था कि कोहली को बीच के ओवरों में लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल की कमी खली, क्योंकि पंड्या और खलील अहमद (तीन ओवर में 42 रन देकर एक विकेट) ने शार्ट पिच गेंद करायी जिन पर बल्लेबाजों ने लंबे शाट लगाये.
भारतीयों का क्षेत्ररक्षण भी अच्छा नहीं रहा तथा आस्ट्रेलिया के तीन बल्लेबाजों को जीवनदान मिले. कप्तान आरोन फिंच और स्टॉयनिस के आसान कैच छोड़े गये जबकि मैक्सवेल रन आउट होने से बचे. भुवनेश्वर कुमार (तीन ओवर में 15 रन) और जसप्रीत बुमराह (तीन ओवर में 21 रन देकर एक विकेट) ने अच्छी शुरुआत की और पहले सात ओवर में केवल 42 रन दिये लेकिन बीच के ओवरों में यह लय बरकरार नहीं रही.
आस्ट्रेलिया ने डि आर्शी शार्ट (12 गेंदों पर सात रन) का विकेट जल्दी गंवा दिया जिन्हें खलील ने कुलदीप के हाथों मिड आन पर कैच कराया. फिंच (24 गेंदों पर 27 रन) जब छह रन पर खेल रहे थे तब विराट कोहली ने शार्ट कवर पर उनका कैच छोड़ दिया था.
इसके बाद बुमराह जब अपने दूसरे स्पैल के लिये आये तो खलील ने उनकी गेंद पर स्टॉयनिस का आसान कैच टपकाया. बीच में खलील का छोर बदलने का फैसला भी सही साबित नहीं हुआ जिन्होंने अपने दूसरे ओवर में 21 रन लुटाये. लिन ने उन पर मिडविकेट, स्क्वायर लेग और लांग आन पर तीन गगनदायी छक्के लगाये.
कुलदीप ने फिंच और लिन को अपनी गुगली से गच्चा देकर भारत को थोड़ी राहत दिलायी लेकिन तक मैक्सवेल की नजरें जम चुकी था. राहुल ने उन्हें रन आउट करने का आसान मौका गंवाया और इसका खामियाजा क्रुणाल पंड्या ने भुगता जिन पर मैक्सवेल ने लांग आन क्षेत्र में लगातार तीन छक्के लगाये. इस बीच स्टॉयनिस ने पगबाधा के खिलाफ डीआरएस का सफल उपयोग भी किया.
बारिश थमने के बाद आस्ट्रेलिया को केवल पांच गेंदें खेलने को मिली. बुमराह ने पहली गेंद पर मैक्सवेल को कैच कराया जो गेंद की गति का सही अनुमान नहीं लगा पाये. इसके बाद अगली चार गेंदों पर केवल चार रन बने. दूसरा टी20 23 नवंबर को मेलबर्न में खेला जाएगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: